क्या आप अपने पैरों को भी वही प्यार, वहीं पैंपरिंग और देखभाल करती हैं, जैसा आप अपने चेहरे की देखभाल करती हैं। हमारे पैर हमारे शरीर का एक अभिन्न हिस्सा हैं, जिनसे हम सारे काम करने में सक्षम होते हैं। अगर आप अपने पैरों की देखभाल नहीं करेंगी, तो उनकी खूबसूरती कम हो जाएगी। इतना ही नहीं एड़ियों का फटना, रूखा होना भी आम समस्या है। इसके अलावा कुछ फंगल इंफेक्शन और अन्य बीमारियों का सामना भी आपको करना पड़ सकता है। अगर आप उनमें से हैं, जो अपने पैरों की देखभाल नियमित रूप से नहीं कर पातीं, तो हम आपके लिए छोटे-छोटे टिप्स लाएं जिन्हें नियमित रूप से करके आप स्वस्थ और सुंदर पैर पा सकती हैं।

पैरों की देखभाल क्यों है जरूरी?

foot care is essential why

हमारे पैर हमारे शरीर के सबसे महत्वपूर्ण और मेहनती अंगों में से एक हैं और उनकी देखभाल करना हमारी दिनचर्या का अभिन्न अंग होना चाहिए। शरीर के वजन को संतुलित करने और चलने के अलावा, नियमित रूप से व्यापक गतिविधि के कारण पैरों को बहुत अधिक परिश्रम करना पड़ता है। हालांकि, पैर भी शरीर के सबसे उपेक्षित अंगों में से हैं। अगर हम पैरों की सफाई या देखभाल नहीं करेंगे तो पैरों में नमी बने रहने के कारण त्वचा का संक्रमण हो सकता है या फिर टोनेल से संबंधित दिक्कतें हो सकती हैं।

पैरों की सफाई

foot cleaning scrubing

  • सबसे पहले अपनी उंगलियों की नेलपेंट साफ करें। अगर आपके नाखूनों में किसी तरह का कोई संक्रमण होगा तो आप उसे देख सकती हैं। ध्यान रखें कि नेल पेंट हटाने के लिए एसिटोन-फ्री रिमूवर्स का इस्तेमाल करें। अन्य रिमूवर्स आपके नूखूनों को पतला और पीला बना सकता है।
  • फिर अपने बढ़े हुए नाखूनों को काटें और क्यूटिकल्स को अच्छी तरह साफ करें। क्यूटिकल साफ करते वक्त ध्यान रखें, इसकी चोट घाव बना सकती है।
  • इनग्रोन नेल्स न हों, इसके लिए अपने नाखूनों को किनारे से काटते हुए गोलाई में काटें।
  • अब अपने पैरों को गर्म पानी में 20 मिनट के लिए डूबोकर रखें। इसमें कोई शैंपू डाल सकती हैं। पैर जब भीग जाएं, तो ब्रश स्क्रब की मदद से अपनी एड़ियों और किनारों को अच्छी तरह साफ करे। इससे आपके पैरों में जमी गंदगी और डेड स्किन निकल जाएगी।
  • अगर आपके पैरों में कॉर्न है, तो फिर किसी प्यूमिक स्टोन की मदद से पैरों को साफ करें। इस तरह अपने पैरों को हफ्ते में दो बार जरूर करें।

मॉइश्चराइज करना है जरूरी

moisturize your foot

  • पैरों को साफ करना मतलब काम खत्म? बिल्कुल भी नहीं। वो आपका पहला स्टेप था। इसके बाद अपने पैरों को मॉइश्चराइज करना बेहद जरूरी है।
  • अपने पैरों को रगड़ने के बाद, उन्हें साफ, मुलायम तौलिये से सुखाएं। अच्छी तरह से मॉइस्चराइजर लगाएं और अपने पैरों की मालिश करें। शिया बटर या कोकोआ बटर मॉइश्चराइजर आपके पैरों को नरम और हाइड्रेटेड रखते हैं।
  • अपने स्किन टाइप के मुताबिक ही पैरों में मॉइश्चराइजर लगाएं। अगर आपकी एड़ियां बहुत ज्यादा फटी हुई हैं, तो एमोलिएंट वाली फुट क्रीम लगाएं।
  • इसके बाद अपने पैरों में सॉक्स पहन कर लगभग दो घंटे के लिए रहने दें। इस तरह से आपके पैर मॉइश्चराइजर को अच्छी तरह से अब्सॉर्प कर सकेंगे।

कंफर्टेबल जूते-चप्पल पहनें

wear comfortable shoes

  • आप किस तरह के जूते-चप्पल पहनते हैं, इससे भी आपके पैरों पर बड़ा फर्क पड़ता है। इसलिए सही फिट वाले जूते-चप्पल ही पहलें।
  • टाइट-फिटिंग वाले जूते या सैंडल्स पहनने से बचें। इससे आपके नाखूनों पर दबाव पड़ता है और वह खराब हो सकते हैं। अगर आपके पैरों में चोट या कॉर्न आदि है, तो भी ऐसे जूते-चप्पल न पहनें।
  • वहीं बिल्कुल ढीले सैंडल्स, जूते या चप्पल आपकी एड़ियों के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं। ऐसे जूते आपके पैरों को सही कुशनिंग नहीं देते और आपके पैरों में इससे फफोले या एड़ी में दर्द हो सकता है।
  • सही साइज के अलावा जूते का डिजाइन भी मायने रखता है। उदाहरण के लिए, नियमित रूप से ऊंची एड़ी के जूते पहनने से पैर की हड्डियों को नुकसान हो सकता है। आप दैनिक यूज के लिए स्नीकर्स, स्पोर्ट शूज, फ्लैट सोल की चप्पले या जूतें पहन सकती हैं। हील्स को किसी समारोह या खास इवेंट पर पहनें।

Recommended Video

कुछ अन्य जरूरी टिप्स

essential foot care tips

  • अपने पैरों को स्वस्थ रखने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप घर पर रोजाना फुट-केयर रूटीन का पालन करें। उन्हें नियमित रूप से साफ करने और मॉइस्चराइज़ करने के साथ-साथ पैरों की संभावित समस्याओं पर भी नज़र रखें। 
  • पैरों में फंगल इंफेक्शन होने का खतरा होता है, जैसे नाखूनों में फंगस, एथलीट फुट आदि, इसलिए लक्षणों पर ध्यान दें और उनका सही से इलाज करवाएं।
  • अगर आपके पैरों में पसीना ज्यादा आता है, तो उन्हें नियमित रूप से धोएं और एंटीपर्सपिरेंट स्प्रे का इस्तेमाल करें।
  • महीने में एक बार फुट मसाज अवश्य करें। घर पर फुट मसाज कराने के लिए लिए टेनिस बॉल को अपने पैरों के नीचे रखें और धीरे-धीरे आगे पीछे करते रहें।
  • हफ्ते में एक या दो बार गर्म पानी में एप्सम सॉल्ड और विनेगर डालकर अपने पैरों को भिगोए और स्क्रब करें।
  • अपने पैरों में सनस्क्रीन लोशन जरूर लगाएं। अगर आप जूते नहीं पहन रही हैं, तो सनस्क्रीन लगाना बहुत आवश्यक हो जाता है। यह पैरों को टैनिंग से बचाएगी।
  • अगर आपके पैरों में खुलजी, जलन या लालिमा बढ़ रही हैं तो इसे अनदेखा न करें। तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श लें।
  • अपने पेडिक्योर टूल्स को किसी के साथ शेयर न करें। वहीं न खुद के जूते-चप्पल किसी के साथ शेयर करें न किसी दूसरे के पहनें।

अपने पैरों की देखभाल करना अब बिल्कुल न भूलें। नियमित रूप से उन्हें साफ और स्वस्थ रखें। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। साथ ही ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit : Freepik images