• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

क्या रेटिनोइड्स झुर्रियों को कम करते हैं? जानें सच

रेटिनोइड्स कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाकर फाइन लाइन्‍स और झुर्रियों को कम करते हैं। यह कितना असरदार है आइए एक्‍सपर्ट जानें।  
author-profile
Next
Article
retinoids reduce wrinkles

स्किन एजिंग एक जटिल बायोलॉजिकल प्रक्रिया है, जो दो प्रकार की होती है। आंतरिक उम्र बढ़ना एक अपरिहार्य प्रक्रिया है जबकि फोटोएजिंग में यूवी रेडिएशन के संचयी जोखिम के कारण त्वचा की समय से पहले उम्र बढ़ना शामिल है। उम्र बढ़ने में रेटिनोइड्स की भूमिका पर बड़े पैमाने पर शोध किया गया है और उनमें से कई ने महत्वपूर्ण क्‍लीनिकल और हिस्टोलॉजिकल सुधार दिखाया है।

रेटिनोइड्स कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाकर फाइन लाइन्‍स और झुर्रियों को कम करते हैं। वे त्वचा में नए ब्‍लड वेसल्‍स के उत्पादन को भी उत्तेजित करते हैं, जिससे त्वचा का रंग बेहतर होता है। एक्‍स्‍ट्रा फायदों में एजिंग स्‍पॉट्स को कम करना और त्वचा के रफ पैच को सॉफ्ट करना शामिल है।

लेकिन इससे पहले कि आप अपने स्थानीय दवा की दुकान पर जाए, यह समझना महत्वपूर्ण है कि रेटिनोइड्स कैसे काम करते हैं और कौन से रेटिनोइड्स आपकी स्किन केयर के लक्ष्यों के लिए सबसे उपयुक्त हैं। यद्यपि कई रेटिनोइड्स काउंटर (ओटीसी) पर उपलब्ध हैं, आपका स्किन स्‍पेशलिस्‍ट आपकी आवश्यकताओं के अनुरूप मजबूत फ़ार्मुलों के बारे में बता सकता है।

ये प्रोडक्‍ट्स कैसे काम करते हैं और ऐसी बहुत सारी जानकारी के लिए इस आर्टिकल को जरूर रहें। इसके बारे में हमें गुरुग्राम के एस्टीक क्लिनिक की डर्मेटोलॉजिस्ट फाउंडर, डॉक्‍टर नेहा शर्मा जी बता रही हैं।

कैसे काम करते हैं रेटिनोइड

wrinkles remedies

मजबूत और जवां दिखने वाली त्वचा के लिए कोलेजन जरूरी है। जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपका शरीर कोलेजन और इलास्टिन का उत्पादन कम करना शुरू कर देता है। साथ आपका शरीर कोलेजन, इलास्टिन और फैट स्‍टोरेज को तोड़ना शुरू कर देता है। यह अधिक पतली और ढीली त्वचा, फाइन लाइन्‍स और झुर्रियों में योगदान कर सकता है।

आपके कोलेजन स्टोर को संरक्षित करने के अलावा, रेटिनोइड्स नए कोलेजन उत्पादन को भी बढ़ावा दे सकते हैं। यह 'फार्मर' में मदद कर सकता है या मौजूदा झुर्रियों की उपस्थिति को कम कर सकता है और नए को बनने से रोकने में मदद कर सकता है। आप इसमें भी सुधार देख सकते हैं:

  • त्वचा की बनावट
  • हाइड्रेशन लेवल 
  • टोन 
  • एजिंग स्‍पॉट्स
  • पिगमेंटेशन 

रेटिनोइड्स के काम करने के लिए, आपको उनका निरंतर उपयोग करना चाहिए। आपको समय के साथ प्रोडक्‍ट्स को स्विच करने की भी आवश्यकता हो सकती है।

इसे जरूर पढ़ें: Retinol से मिलती है ग्लोइंग स्किन और यंग लुक, जानिए इसके फायदे

रेटिनोइड परिवार में विटामिन-ए और इसके नेचुरल डेरिवेटिव जैसे रेटिनाल्डिहाइड, रेटिनोइक एसिड और रेटिनिल एस्टर के साथ-साथ बड़ी संख्या में अन्य डेरिवेटिव शामिल हैं।

रेटिनोइड्स त्वचा में सेल टर्नओवर को भी बढ़ाते हैं, जिससे नई कोशिका वृद्धि का रास्ता बनता है। 2006 के एक पुराने लेकिन अच्छी तरह से उद्धृत अध्ययन के अनुसार, वे त्वचा में हयालूरोनिक एसिड और कोलेजन के उत्पादन को बढ़ावा दे सकते हैं और त्वचा में पहले से मौजूद कोलेजन के टूटने को कम कर सकते हैं।

रेटिनोइड्स विभिन्न सेलुलर प्रक्रियाओं को प्रभावित करते हैं, जैसे सेलुलर ग्रोथ और प्रसार, सेल सतह परिवर्तन और इम्‍यून मॉडुलेशन।

जब उम्र बढ़ने के लक्षणों जैसे ड्राईनेस, झुर्रियां, पपड़ीदार सतह को प्रबंधित करने की बात आती है तो सभी रेटिनोइड्स में से, ट्रेटीनोइन ने मेडिकली अधिकतम सुधार दिखाया है। इसके परिणामस्वरूप त्‍वचा थोड़ी फार्मर भी हुई।

अल्ट्रा संरचनात्मक रूप से, लंबे समय तक ट्रेटीनोइन का इस्‍तेमाल करने वाले रोगियों में एंकरिंग फाइब्रिल में वृद्धि, कई नए माइक्रो वास्कुलचर की ग्रोथ, नए लोचदार और कोलेजन फाइबर का उत्पादन देखा गया है। हालांकि, अधिकांश रोगी ट्रेटिनोइन को बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं। उनमें लालिमा, खुजली और संवेदनशील त्वचा विकसित होने लगती है।

Retinoids for Wrinkles hindi

आपके लिए कौन सा रेटिनोइड सही है?

रेटिनोइड्स के अन्य रूपों को सभी ट्रांस रेटिनॉल, रेटिनाल्डिहाइड, रेटिनॉल डेरिवेटिव जैसे रेटिनिल एसीटेट, रेटिनिल पामिटेट और रेटिनिल प्रोपियोनेट की तरह बेहतर तरीके से सहन किया जाता है। वे कम लालिमा, स्केलिंग और जलन पैदा करते हैं।

वे एपिडर्मल और त्वचा की मोटाई में भी सुधार करते हैं, सेल टर्नओवर और कोलेजन उत्पादन में वृद्धि करते हैं लेकिन उस हद तक नहीं जो ट्रेटीनोइन करता है। इसलिए काउंटर पर रेटिनॉल निश्चित रूप से त्वचा की गुणवत्ता में सुधार करते हैं।

Recommended Video

झुर्रियां आपकी त्वचा में बनने वाली लाइन्‍स और क्रीज हैं। कुछ झुर्रियां गहरी दरारें या खांचे बन सकती हैं और विशेष रूप से आपकी आंखों, मुंह और गर्दन के आसपास ध्यान देने योग्य हो सकती हैं। झुर्रियां जब तक गहरी खांचों में नहीं बदल जातीं, उन्हें रेटिनॉल्स द्वारा सुधारा जा सकता है। हालांकि गहरे खांचों को हमेशा हयालूरोनिक एसिड फिलर्स से भरने की आवश्यकता होती है।

रेटिनोइड्स धूप में टूट जाते हैं। इसलिए आपको रात को सोने से पहले इन्हें लगाना चाहिए। वे सनबर्न होने का खतरा नहीं बढ़ाते हैं। लेकिन हमेशा सनस्क्रीन का उपयोग करना स्मार्ट है - चाहे आप रेटिनोइड्स का इस्‍तेमाल कर रही हों या नहीं।

tips to reduce wrinkles

इसमें कितना समय लगता है?

जब आप रेटिनोइड्स का इस्‍तेमाल करना शुरू करते हैं तो आप तुरंत रिजल्‍ट की अपेक्षा न करें। अपनी झुर्रियों या फाइन लाइन्‍स में बदलाव देखने में आपको 3 महीने लग सकते हैं। अच्‍छे रिजल्‍ट में 6 महीने से लेकर एक वर्ष तक का समय लग सकता है। धैर्य रखना महत्वपूर्ण है। यदि आपके कोई प्रश्न हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें।

इसे जरूर पढ़ें:ग्‍लोइंग स्किन के लिए कीर्ति कुल्हारी की तरह 3-स्टेप स्किन केयर रूटीन फॉलो करें

रेटिनोइड्स का इस्‍तेमाल कैसे करें?

रात में, अपने पूरे चेहरे पर थोड़ी मात्रा (मटर के साइज) लगाएं और इसे रगड़ें। इससे अधिक इस्‍तेमाल करने से खुजली, लालिमा या सूखना हो सकता है।

आप भी झुर्रियों के लिए रेटिनोइड्स का इस्‍तेमाल कर रही हैं तो इन बातों का जरूर ध्‍यान रखें। इस तरह की जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Shutterstock.com

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।