राजस्थान के चमचमाते शहर जयपुर जिसे पिंक सिटी भी कहा जाता है, इसे महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय ने स्थापित किया था। यहां के शानदार महल और विशाल किलों के जरिए यह शहर देशी हो या फिर विदेशी हजारों टूरिस्टों को अपनी तरपह आकर्षित करता है। 

इस बार 24 जनवरी को जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल शुरू होगा। हर बार की तरह इस बार भी दुनियाभर से लोग इस फेस्टिवल का हिस्सा होंगे। पांच दिनों तक चलने वाले इस फेस्टिवल में मशहूर साहित्यकारों और वक्ताओं को सुनने के लिए ढेरों लोग इकट्ठा होते हैं। 

अगर आप जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल जा रही हैं तो साथ ही जयपुर ट्रिप भी प्लान कर लीजिए। 

जयपुर शाही राजपूत विरासत को टूरिस्ट्स के सामने प्रदर्शित करता है। यहां की एक और खास बात है कि यहां की मेहमाननवाजी और हस्तशिल्पों की हजारों दुकानें, इस जगह को टूरिस्टों के लिए और भी ज्यादा पसंदीदा जगह बनाती है। यहां आने वाले टूरिस्ट कई त्यौहारों को देख सकते हैं या उनमें भाग ले सकते हैं। जयपुर में होने वाले त्यौहारों में पारंपरिक तीज, गणगौर और काइट फेस्टीवल शामिल हैं। 

जयपुर घूमने की जगहें 

jaipur literature festival  best places shopping  food

जल महल

जल महल एक खूबसूरत वास्तुकला का नमूना है जो जयपुर शहर की सागर झील के बीच में मौजूद है। इन दोनों को 18वीं सदी में राजा जय सिंह ने पुनर्निर्मित करवाया था। इस महल की पहली मंजिल पर स्थित हॉल को बहुत अच्छी तरह से सजाया गया है लेकिन फिर भी इसके उपर स्थित चमेली बाग ज्यादा खूबसूरत है। 

Read more: राजस्थान में जयपुर ही नहीं उदयपुर की ये 5 जगहें हैं देखने लायक

हवा महल

जयपुर का हवा महल जिसका निर्माण महाराजा प्रताप सिंह ने करवाया था। यह महल जयपुर के साउथ में स्थित है और इस महल में 1000 छोटी खिड़कियां हैं जिस कारण ये एक छत्ते की तरह दिखता है। इस महल के गुलाबी और लाल पत्थरों का बाहरी हिस्सा सुबह की रोशनी में बहुत खूबसूरत दिखाई देता है। गर्मियों में भी इस महल में ठंडी हवाएं चलती हैं। 

राज मंदिर 

फेमस राज मंदिर सिनेमा को इसकी प्राचीन वास्तुकला के लिए जाना जाता है और यह सिनेमा जयपुर की शान बढ़ाता है। अगर आप जयपुर शहर पहली बार जाएं तो राज मंदिर सिनेमा जरूर जाएं क्योंकि ऐसा सिनेमा कहीं और आपको देखने को नहीं मिलेगा। इसके अंदर और बाहर दोनों ओर बारीक सजावट की गई है और यह सिनेमा हॉल बीते समय की याद दिलाता है। इसका हॉल बड़े-बड़े झूमरों की वजह से किसी महल का अहसास कराता है। 

जयपुर में खाने की चीजें 

jaipur literature festival  best places shopping  food

जयपुर से लेकर उदयपुर तक राजस्थान में बहुत कुछ ऐसा है जो एक बार देखने के बाद जिंदगी भर याद रहता है, ऐसे ही जयपुर के कुछ पकवान ऐसे हैं जिन्हें जिंदगी में एक बार जरूर टेस्ट करना चाहिए। 

दाल बाटी चूरमा

‘दाल बाटी चूरमा’ राजस्थान के सबसे बेहतरीन पकवानों में से एक है। राजस्थानी खाना दाल बाटी चूरमा के बिना पूरा नहीं माना जाता है। गोल बाटियों को घी मे डुबोकर पंचकुटी दाल और चूरमा के साथ खाया जाता है। अगर आपने एक बार जयपुर का दाल बाटी चूरमा खा लिया तो आप इसका स्वाद जिंदगी भर नहीं भूल पाएंगी।  

Read more: शीशे में Padmavati की छवि देख अलाउद्दीन खिलजी बना था उनका दीवाना

गट्टे की सब्जी

आपने आज तक बेसन से तैयार कई पकवान खाएं होंगे लेकिन जयपुर में बेसन से ‘गट्टे की सब्जी’ तैयार की जाती है जिसे एक बार खाने के बाद उसका टेस्ट कभी भी भूला नहीं जा सकता है। 

लाल मास 

अगर आपको नॉन वेज खाना पसंद है तो ‘लाल मास’ ट्राई करना ना भूलें। यह ऐसी डिश है जिसे खाने के बाद आप दिल्ली से लेकर पंजाब तक के तमाम नॉन वेज फूड्स का टेस्ट भूल जाएंगी।

फेस्टिवल मार्केट 

jaipur literature festival  best places shopping  food

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल एक तरह का फेस्टिवल मार्केट भी है। यहां हर साल दुनियाभर के कई कारीगर और शिल्पकार अपनी रचनाओं की प्रदर्शनी लगाते हैं। इस फेस्टिवल में आप खूबसूरत गहनों से लेकर कपड़े तक खरीद सकती हैं। साथ ही आपको कई और चीजें ऐसी दिख जाएंगी जिन्हें आप खरीदने से खुद को रोक नहीं पाएंगी।