इंडिया की इन जगहों पर आप दिवाली सेलिब्रेट कर अपनी दिवाली को खास बना सकती हैं। ज्यादातर लोग दिवाली फेस्टिवल को अपने घरों में मनाना पसंद करते हैं लेकिन अगर इस बार आप अपनी फैमली के साथ दिवाली पर कुछ नया ट्राई करना चाहती हैं तो आप इंडिया की इन 4 जगहों पर घूमने के लिए जा सकती हैं। वैसे तो हर शहर में त्योहार का अपना अलग महत्व होता है, लेकिन फिर भी ये जगह कुछ खास हैं। तो चलिए आपको बताते हैं इंडिया की वो 4 जगहें जहां आप अपनी फैमली के साथ दिवाली मनाने जा सकती हैं। 

कोलकाता

kolkata best places to explore  diwali

ज्यादातर लोग ये जानते हैं कि कोलकाता में दुर्गा पूजा बहुत धूमधाम से मनाई जाती है लेकिन क्या आप जानती हैं कि दिवाली वाले दिन भी कोलकाता में खास जश्न का माहौल होता है। दिवाली के दिन जहां ज्यादातर लोग मां लक्ष्मी की पूजा करते हैं वहीं कोलकाता में मां काली की पूजा की जाती है। 

दिवाली वाले दिन कोलकाता के काली मंदिरों में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ पहुंचती है। पूरे शहर में भी काली मां की मूर्ति लगाई जाती है जिनकी शाम को आरती की जाती है और लोग जश्न मनाते हैं। 

बंगाल के अलावा त्रिपुरा, असम और ओडिशा में दिवाली वाले दिन काली मां की पूजा की जाती है। अगर आप काली पूजा देखना चाहती हैं तो आप इन जगहों पर भी जा सकती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें- धनतेरस पर ये संदेश भेजकर अपने परिवार वालों को दीजिए खुशियों का तोहफा

वाराणसी 

best places to explore  diwali

बनारस अपने आप में एक अनोखा शहर है। इसके इतने रंग और रूप हैं कि लिखने और समझने के लिए सदियां कम पड़ जाएं। साल में कभी भी आप वाराणसी जा सकती हैं लेकिन दिवाली के दिन यहां अलग ही जश्न देखने को मिलता है। 

वाराणसी में आप दिवाली पर आतिशबाजी का आनंद लेने के साथ ही मंदिरों में होने वाली आरती और गंगा आरती देख सकती हैं। ऐसा माना जाता है कि यहां की गंगा आरती का नजारा एक बार देखने के बाद जिंदगी भर याद रह जाता है। 

हरिद्वार

haridwar best places to explore  diwali

हरिद्वार हिन्दुओं के प्रमुख तीर्थ में से एक माना जाता है। दिवाली के दिन गंगा के घाट पर जलते दीयों का बेहद ही खूबसूरत नजारा होता है। यह नजारा और गंगा आरती आपका मन मोह लेगी। आप चाहें तो इस दिवाली पर आप अपनी फैमली के साथ हरिद्वार जा सकती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें- साहिर लुधियानवी और अमृता प्रीतम के खामोश, कविता और चिट्ठियों वाले प्यार की कहानी

अमृतसर

golden temple best places to explore diwali

अमृतसर के गोल्डन टेंपल पर दिवाली भव्य रूप से मनाई जाती है। यह दिन सिख समुदाय के लिए भी खास होता है। इस दिन गुरु हरगोबिंद साहिब जी 1619 में रिहा होकर वापस लौटे थे। इसके साथ ही दिवाली का इस मंदिर से एक और खास नाता है। जानकारी के अनुसार साल 1577 में दिवाली के दिन ही यहां की नींव का पहला पत्थर रखा गया था। अमृतसर में आप अपने लिए शॉपिंग भी कर सकती हैं। 

तो इस साल दिवाली को मनाएं अपने और अपने परिवार के लिए खास।