• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

आखिर क्यों हर कंपनी बनाती है एक ही डिजाइन की ब्लेड, जानें कारण

आपने ब्लेड का इस्तेमाल कभी ना कभी जरूर किया होगा, पर क्या आपने इस बात पर गौर किया है कि सभी ब्लेड एक ही डिजाइन के क्यों होते हैं।
author-profile
Next
Article
story of razor blade

ब्लेड का इस्तेमाल हम अपने रोजाना जीवन में कई बार करते हैं। घर के छोटे-मोटे काम हों या सैलून में शेविंग या हेयर कट ब्लेड काम को आसान बना देती है। पर क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर सभी कंपनियां एक ही तरह की ब्लेड क्यों बनाती हैं, जबकि दुनिया भर में ब्लेड बनाने वाली कई सारी कंपनियां मौजूद हैं। 

तो आइए आज के आर्टिकल में जानते है दुनिया भर में एक ही डिजाइन की ब्लेड्स बनाए जाने के पीछे की दिलचस्प कहानी।

जिलेट कंपनी से हुई थी ब्लेड बनाने की शुरुआत- 

history of blades

दुनिया भर में पहली बार ब्लेड बनाने की शुरुआत जिलेट कंपनी ने की थी। ब्लेड को बनाने वाले जिलेट कंपनी के संस्थापक किंग कैप जिलेट थे, जिन्होंने साल 1901 में ब्लेड बनाना शुरुआत की थी। बता दें कि ब्लेड की डिजाइन बनाने के लिए किंग कैप ने अपने सहयोगी विलियम निकर्सन की मदद ली थी। दोनों की मेहनत के बाद आखिर ब्लेड का डिजाइन तैयार हुआ। डिजाइन तैयार करने के बाद किंग कैप ने ब्लेड पर अपना पेटेंट करा लिया, वहीं साल 1904 आते-आते जिलेट कंपनी ने ब्लेड का उत्पादन शुरु कर दिया।

आखिर कैसे आया किंग कैप के दिमाग में ब्लेड बनाने का आइडिया- 

history of blades and razor

किंग कैप जिलेट के संस्थापक बनाने से पहले एक ढक्कन बनाने वाली कंपनी में काम करते थे। वहां काम करने के दौरान उन्होंने महसूस किया कि ढक्कन को लोग बाद में फेंक देते हैं, मगर फिर भी इसका प्रोडक्शन बहुत बड़े पैमाने पर किया जाता है। इस बात से उनके मन में कुछ यूज और थ्रो जैसी चीज को बनाने का आइडिया आया। उस समय लोग बॉडी शेविंग के लिए उस्तरे का इस्तेमाल करते थे, जिसमें काफी सावधानी की जरूरत होती थी। यही सोचकर किंग कैप ने ब्लेड और रेजर बनाने के बारे में सोचा।

इसे इभी पढ़ें- जानें क्या रहा है चूड़ियों का इतिहास

कई सालों तक जिलेट ही थी रेजर और ब्लेड बनाने वाली एकमात्र कंपनी- 

why blades are in same shape

ब्लेड बनाने के बाद कई सालों तक दुनिया भर में केवल जिलेट ही ब्लेड और रेजर बनाने वाली एकमात्र कंपनी थी, इस कारण जिलेट एक बड़ी कंपनी बनकर सामने आई। उस समय ब्लेड को बोल्ट के जरिए रेजर में फिट करना पड़ता था, यही कारण था कि ब्लेड के बीच में एक खास तरह की डिजाइन का इस्तेमाल किया जाता था। साल 1904 में करीब 165 ब्लेड बनाए गए, जिसका उत्पादन ब्लू जिलेट ब्लेड के नाम से किया गया।

इसे भी पढ़ें- आंखों की खूबसूरती बढ़ाने वाले काजल के इतिहास के बारे में क्या जानते हैं आप

बाजार में आईं कई और कंपनियां- 

एक लंबे समय के बाद मार्केट में कई दूसरी कंपनियां भी आने लगीं, पर उन कंपनियों ने बिल्कुल जिलेट ब्लेड की डिजाइन का ब्लेड बनाया, इसके पीछे का कारण यह था कि उस समय रेजर बनाने वाली कंपनी केवल जिलेट ही थी। अब रेजर में फिट होने के लिए ब्लेड को उसके आकार से ही बनाया जा सकता था, जिससे ब्लेड आसानी से रेजर में फिट हो सके। यही कारण था कि सालों बाद भी ब्लेड का एक ही डिजाइन को दुनिया की बाकी कंपनियों द्वारा फॉलो किया गया। 

Recommended Video

आज के समय में ब्लेड और रेजर- 

why blades are having same shape

काफी समय तक महिलाएं और पुरुष एक ही तरह के ब्लेड रेजर का इस्तेमाल करते थे, पर समय के साथ महिलाओं की जरूरत के अनुसार रेजर तैयार किए गए। रेजर बनाने वाली कंपनियों के अनुसार महिलाओं के लिए बनाए गए रेजर सॉफ्ट होते हैं, जो पेनलेस हेयर रिमूविंग का काम करते हैं।  आज बाजार में शरीर के अंगों को ध्यान में रखते हुए तरह-तरह के रेजर बनाए जाते हैं, जिनका इस्तेमाल लोग आम जिंदगी में करते आए हैं।

तो ये थी ब्लेड की डिजाइन से जुड़ी इंट्रेस्टिंग कहानी। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो, तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

image credit- freepik.com, shutterstock, imimg.com

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।