Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    Union Budget 2023: देश का बजट पेश करने से पहले क्यों होती है हलवा सेरेमनी?

    देश का बजट पेश करने से पहले हलवा बनाया जाता है। इसके पीछे की क्या वजह है हम आपको इस आर्टिकल में बताने वाले हैं।   
    author-profile
    Updated at - 2023-01-31,14:15 IST
    Next
    Article
    all you ned to know about halwa ceremony

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी 2023 को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट पेश करेंगी। बजट को पेश करने के लिए लंबे समय से तैयारी की जाती है। साथ ही बजट पेश करने से पहले हलवा भी बनाया जाता है। अब आपके मन में सवाल आ सकता है कि ऐसा क्यों किया जाता है। तो चलिए जानते हैं इस विषय के बारे में विस्तार से।

    हलवा सेरेमनी क्या है?

    halwa ceremony

    जब बजट की छपाई पूरी हो जाती है और उसे सील किया जाता है उस दौरान वित्त मंत्रालय और उसके कर्मी एक खास सेरेमनी करते हैं। दरअसल इस मौके पर कुछ मीठा खाने की अनूठी परंपरा है जिसे हलवा सेरेमनी कहते हैं।

    इस सेरेमनी के लिए बड़े-बड़े बर्तनों में हलवा तैयार किया जाता है। वित्त मंत्री की ओर से इसे बजट से जुड़े सभी कर्मियों के बीच बांटा जाता है। वर्ष 2020 में कोरोना संकट के कारण वर्षों से चली आ रही इस परंपरा पर ब्रेक लग गई। हलवा सेरेमनी की जगह पर 2020 में कर्मियों के बीच मिठाइयो का वितरण किया गया था।

    इसे भी पढ़ेंः आजादी के कई साल बाद कैसे बनीं निर्मला सीतारमण वित्त मंत्री, जानिए इनकी इंस्पायरिंग स्टोरी

    कौन होता है मौजूद?

    हर साल मनाई जाने वाली हलवा सेरेमनी को वित्त मंत्रालय आयोजित करता है। इसमें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ ही मिनिस्ट्री के बाकी अधिकारी भी मौजूद होते हैं।

    हलवा सेरेमनी को नॉर्थ ब्लॉक में आयोजित किया जाता है। प्रति वर्ष सरकार बजट पेश करने से कुछ दिन पहले हलवा समारोह का आयोजन होता है। इस वार्षिक परंपरा का पालन अच्छे से किया जाता है।

    इतिहास

    हलवा सेरेमनी के इतिहास की बात करें, तो इसकी कोई ऐतिहासिक पुष्टि नहीं है कि इसे पहली बार कब शुरू किया गया था, हालांकि अब यह एक परंपरा बन गई जो कई सालों से चलती आ रही है।

    क्या है महत्व?

    details of halwa ceremony

    हलवा परोसने के बाद वित्त मंत्रालय के 100 से ज्यादा कर्मचारी बजट पेश होने तक नॉर्थ ब्लॉक के बेसमेंट में रहते हैं। इस प्रोसेस में जितने अधिकारी शामिल होते हैं, वे सिर्फ नामित मोबाइल फोन से ही अपने परिवार से संपर्क कर सकते हैं। इसका मुख्य उद्देश्य बजट दस्तावेजों की गोपनीयता को बनाए रखना है। 

    इसे भी पढ़ेंः एक ऐसा देश जहां 40 मिनट की होती है रात, जानें इस शहर की खास बात

    तो ये थी बजट पेश करने पहले हलवा बनाने की वजह। अगर आप इसके अलावा किसी और दिलचस्प जानकारी के बारे में पढ़ने में इच्छुक हैं तो इस आर्टिकल के कमेंट सेक्शन में सवाल जरूर करें। 

    अगर आपको यह लख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

    Photo Credit: Instagram   

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।