देश प्रेम का जज्बा हर भारतीय के दिल में उमड़ता है, फिर चाहें वे पुरुष हों या देश की महिलाएं। हाल ही में भारत ने अपना 73वां स्वतंत्रता दिवस मनाया और इस मौके पर देशभर में भक्ति की भावना से ओतप्रोत कर देने वाले कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। देश से बाहर लंदन के भारतीय हाई कमीशन में इसी तरह के उत्सव मनाए जा रहे थे। तभी देश की एक दिलेर महिला पत्रकार पूनम जोशी ने कुछ ऐसा कर दिखाया, जिससे साबित होता है कि भारतीय महिलाएं किसी भी कीमत पर देश का अपमान सहने को तैयार नहीं हैं। दरअसल लंदन स्थित भारतीय हाई कमीशन में तिरंगा फहराया गया और इसी दौरान पाकिस्तान और खालिस्तान समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। विरोध-प्रदर्शन करते हुए ये अराजक तत्व तिरंगे का अपमान करने लगे। तिरंगा भारत की आन, बान और शान है। हर भारतीय के लिए तिरंगे का सम्मान सबसे ऊपर है क्योंकि तिरंगा हमारे देश के गौरव का प्रतीक है। इन उपद्रवियों ने अपना विरोध जाहिर करने के लिए तिरंगे के दो टुकड़े कर दिए और उसे रौंदने लगे।

जब पाकिस्तान और खालिस्तान समर्थक उग्र होने लगे और तिरंगे का अपमान करने के दौरान ललकारने लगे, उसी दौरान मौके पर मौजूद पूनम जोशी ने आगे बढ़कर तिरंगा झंडा उन लोगों से छीन लिया। पूनम जोशी भारतीय हाई कमीशन में होने वाले स्वतंत्रता दिवस के जश्न को कवर करने पहुंची थीं, लेकिन जब उन्होंने प्रदर्शनकारियों को देश का अपमान करने की कोशिश करते देखा तो उनका देश प्रेम का जज्बा जाग उठा और उन्होंने बिना किसी भय के तिरंगे को छीन लिया।

 

जब इस घटना का वीडियो एएनआई ने ट्विटर और फेसबुक पर शेयर किया तो पूनम जोशी की देशभक्ति दर्शाता ये वीडियो वायरल होने लगा। इस घटना का वीडियो समाचार एजेंसी एएनआई ने भी ट्विटर और फेसबुक पर शेयर किया है।

इसे जरूर पढ़ें: मिंटी अग्रवाल बनीं युद्ध सेवा मेडल पाने वाली पहली महिला, बढ़ाया देश का मान

poonam joshi inspirational woman inside  

वीडियो को शेयर करते हुए एएनआई ने लिखा है कि पत्रकार पूनम जोशी लंदन स्थित हाई कमीशन के बाहर स्वतंत्रता दिवस समारोह की कवरेज करने के लिए गई थीं, जहां पाकिस्तान और  खालिस्तान के समर्थन में नारे लग रहे थे।

इसे जरूर पढ़ें: भारत की पहली Woman Flair Bartender, अमी श्रॉफ बनीं #BandhanNahiAzadi मुहिम का हिस्सा

poonam joshi viral video inside  

पूनम जोशी की इस बहादुरी के लिए सोशल मीडिया पर उन्हें खूब तारीफें मिल रही हैं। जैसे ही एएनआई ने पूनम जोशी की देशभक्ति की मिसाल इस वीडियो को शेयर किया, वैसे ही यह ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा। ट्विटर यूजर्स ने पूनम को हौसलाअफजाही करते हुए कहा कि इस देश का मान रखने के लिए उन्हें राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सम्मान मिलना चाहिए। एक और यूजर ने लिखा है, भारतीय नारी, आतंकियों पर भारी। 

वहीं एक और यूजर ने लिखा है, 'सलाम है उस बहन को, जिसने तिरंगा उन कसाइयों के हाथों से छीन लिया। आजाद देश के ये ऐसे नायक और नायिकाएं हैं, जिनकी शक्लें शायद हम कभी ना देख पायें, पर याद रहेगा कि इन्होंने तिरंगे का मान रखा। सलाम।'


लोगों का रिएक्शन देखकर पूनम जोशी हुईं हैरान

सोशल मीडिया पर लगातार मिल रही तारीफों से पत्रकार पूनम जोशी हैरान रह गईं। जब उन्हें पता चला कि उनका वीडियो ट्रेंड कर रहा है तो उनके लिए यह बात सरप्राइज जैसी थी। उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा, 'मुझे इस बात का अंदाजा ही नहीं था कि देश के तिरंगे को बचाने के लिए किए गए मामूली काम के लिए मैं ट्विटर पर ट्रेंड करने लगूंगी।' जाहिर है पूनम ने अपने दिल की आवाज सुनी और उस वक्त वही किया जो उन्हें सही लगा। भारत का विरोध करने वालों ने सोचा नहीं होगा कि इस तरह उनके दुस्साहस का कोई उन्हें मुंहतोड़ जवाब दे सकता है। पूनम जोशी का यह बहादुरी भरा कदम देश की हर महिला को आगे बढ़कर जुल्मों-सितम को रोकने और आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ने के लिए इंस्पायर करता है। 

पूनम जोशी ने अपनी फेसबुक वॉल पर लिखा, 'जब शेरों को डराने के लिए बहुत सारी बकरियों को भेजा जाता है, मैं कश्मीर को लेकर पाकिस्तानियों के विरोध प्रदर्शन और खालिस्तान बनाने की मांग को कवर करने के लिए गई थी। इसी दौरान मैंने उपद्रवियों को भारतीयों से झंडा छीनते, उसे फाड़ते और रौंदते हुए देखा। हालांकि पत्रकार के तौर पर मैं विरोध प्रदर्शन की किसी गतिविधि में हिस्सा नहीं ले सकती, लेकिन देश के गौरव के साथ ऐसा व्यवहार, तिरंगे के साथ ऐसा व्यवहार देखकर मेरा खून खौल उठ। खून के प्यासे ये लोग अशांति फैलाना चाहते थे, लेकिन अब जब मैं इस घटना को याद करती हूं तो मुझे गर्व महसूस होता है कि एक भारतीय महिलाएं ऐसे उपद्रवियों से भारतीय झंडा छीनकर उसका सम्मान बरकरार रख सकती है। वहां झंडे का एक छोटा टुकड़ा बच गया था, उसे भी मैंने सुरक्षित तरीके से वहां से उठा लिया।'   

Image Courtesy: Poonam Joshi