• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

बेबी के लिए शैम्पू खरीदते समय इन बातों का रखें खास ख्याल

अगर आप अपने बेबी के लिए शैम्पू खरीद रही हैं तो आपको कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना चाहिए।
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
Published -21 Jun 2022, 13:33 ISTUpdated -26 Jun 2022, 16:07 IST
Next
Article
baby shampoo shopping

बेबी की स्किन बेहद ही नाजुक होती है और शायद यही कारण है कि मार्केट में न्यूबॉर्न बेबीज के लिए स्किन केयर प्रोडक्ट की एक अलग रेंज अवेलेबल है। आमतौर पर, इन बेबीज प्रोडक्ट को विशेष रूप से बच्चे की नाजुक स्किन को ध्यान में रखकर तैयार किया जाता है। लेकिन फिर भी किसी भी प्रोडक्ट को चुनते समय पैरेंट्स को अतिरिक्त सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है। चूंकि, आज के समय में कई अलग-अलग ब्रांड्स की बेबी केयर रेंज अवेलेबल है तो ऐसे में बच्चे के लिए सही प्रोडक्ट चुनना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। फिर चाहे बात शैम्पू की ही क्यों ना हो।

अमूमन, बच्चे के बालों व स्कैल्प की क्लीनिंग के लिए बेबी शैम्पू का चयन करने की सलाह दी जाती है। लेकिन फिर भी आपको किसी भी बेबी शैम्पू को खरीदने से पहले कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना चाहिए, जिसके बारे में आज हम आपको इस लेख में बता रहे हैं-

पहचाने बच्चे की स्किन

baby skin

हर बच्चे की स्किन अलग होती है और इसलिए किसी भी शैम्पू का चयन करने से पहले उनकी स्किन को पहचानना जरूरी है। अधिकतर नवजात शिशु की स्कैल्प पर फ्लेक्स होते हैं, जिसे कुछ पैरेंट्स डैंड्रफ समझ लेते हैं। ऐसे में अगर वह बच्चों के लिए एंटी-डैंड्रफ शैम्पू का इस्तेमाल करना शुरू कर देते हैं, तो इससे समस्या और भी अधिक बढ़ जाती है। इस स्थिति में आपको बच्चे के लिए ऐसे शैम्पू का चयन करना चाहिए, जिसमें मॉइश्चराइजिंग प्रॉपर्टीज हों।

नेचुरल प्रोडक्ट्स पर दें जोर

जब बात बच्चे की स्किन की हो, तो यह बेहद आवश्यक हो जाता है कि आप उसकी स्किन को जहां तक हो सके, केमिकल्स से दूर रखें। अगर आप उनके लिए शैम्पू भी खरीद रही हैं तो ऐसे में उस शैम्पू को चुनें, जिसमें नेचुरल इंग्रीडिएंट्स का इस्तेमाल किया गया हो। मसलन, अगर शैम्पू में नारियल तेल, जोजोबा तेल या फिर एलोवेरा एक्सट्रैक्ट को शामिल किया जाता है, तो इससे बच्चे की स्किन को लाभ मिलता है।

Recommended Video

फ्रेगरेंस फ्री हो शैम्पू

babies shampo

यह एक बेहद ही महत्वपूर्ण टिप है, जिस पर आपको ध्यान देना चाहिए। आजकल कई ब्रांड्स अपने प्रोडक्ट की ब्रिकी के लिए उसमें तरह-तरह की फ्रेगरेंस को एड करते हैं। लेकिन यह महक आपके बच्चे की स्कैल्प को इरिटेट कर सकती है। इसलिए, आप ऐसे किसी भी बेबी शैम्पू से दूर रहने का प्रयास करे, जिसमें आर्टिफिशियल फ्रेगरेंस को शामिल किया गया हो।(फ्रेगरेंस फ्री प्रॉडक्ट का करें इस्तेमाल)

क्लीनिकल टेस्टेड हो फार्मूला

clinical tested

अमूमन यह सलाह दी जाती है कि बच्चे के लिए किसी भी प्रोडक्ट का चयन करने से पहले यह अवश्य देखें कि वह क्लीनिकल टेस्टेड हो। दरअसल, बच्चे की नाजुक त्वचा पर एलर्जी होने की संभावना बहुत अधिक रहती है। आपके बच्चे के साथ ऐसा ना हो, इसलिए क्लीनिकल टेस्टेड व उसके लिए सुरक्षित प्रोडक्ट को ही चुनें। आप चाहें तो शैम्पू की बोतल पर एफडीए अप्रूव्ड लेबल हो।

पीएच बैलेंस पर भी दें ध्यान

बच्चे की स्किन बड़ों की अपेक्षा अधिक थिन होती है और इसलिए उनकी स्किन में रूखापन व अन्य स्किन प्रॉब्लम्स होने की संभावना अधिक रहती है। बेबी की स्किन का पीएच लेवल 5.5 होता है। ऐसे में जब भी आप बच्चे के लिए शैम्पू खरीदे तो उसका पीएच लेवल चेक करें। ध्यान दें कि बच्चे के शैम्पू का पीएच लेवल 5.5-5.6 के बीच हो।

तो अब जब भी आप बेबी शैम्पू खरीदें, इन टिप्स को बिल्कुल भी नजरअंदाज ना करें। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।  

Image Credit- freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।