एक मां अपने बच्चों के लिए क्या नहीं करती। इतने संघर्ष, इतने बलिदान जिसका शायद हम अंदाजा भी न लगा पाएं। एक मां अपने बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए, उनकी देखभाल में खुद को भी भूल जाती है। हमने ऐसी माओं की कितनी ही प्रेरणादायक कहानियां सुनी होंगी। लेकिन बच्चे उनके सेक्रिफाइस को भूल जाते हैं। हालांकि एक तेजी से वायरल होती पोस्ट में इससे उलट हुआ है। एक बच्चे ने अपनी मां की कड़ी मेहनत को जाया नहीं होने दिया और उनका नाम रोशन करने के साथ-साथ मां का नाम भी अपने नाम के साथ जोड़ा है। जी हां, यह किस्सा है भोपाल के रहने वाले एक छात्र हेत शुक्ला का जिन्होंने अपनी मां का नाम अपने नाम के साथ जोड़ा है। क्या है पूरा मामला आइए जानें-

भोपाल के छात्र हैं हेत शुक्ला

bhopal student het shukla takes mother name

भोपाल के रहने वाले छात्र हेत शुक्ला ने हाल ही में आईआईएम-ए में अपनी जगह बनाई हैं। अपनी सफलता का श्रेय उन्होंने अपनी मां को दिया। बता दें कि हेत की मां एक सिंगल मदर हैं और उन्होंने अकेले ही हेत की परवरिश की है। अपनी मां को शुक्रिया करते हुए उन्होंने मां के नाम शीतलबेन शुक्ला को अपने नाम के साथ जोड़ा है, जिसके लिए उनकी खूब वाहवाही हो रही है। अब हेत को हेत शीतलबेन शुक्ला के नाम से जाना जाएगा।

मां की मेहनत ने यहां तक पहुंचाया

 

उनका दृढ़ विश्वास है कि यह उनकी मां की कड़ी मेहनत और समर्पण था जिसने उन्हें यह उपलब्धि हासिल करने में मदद की। एक लीडिंग न्यूजपेपर की रिपोर्ट के मुताबिक, भोपाल में पले-बढ़े हेत, मां के साथ 2015 तक एक किराए के मकान में रहे। उन्होंने ग्यारहवीं तक बिना कोचिंग के अपनी पढ़ाई की। उन्होंने बताया, 'मेरी मां ने हमेशा मेरी पढ़ाई में मदद की। उनके पास मैकेनिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा है। मेरे जीवन के शुरुआती दौर में, उन्होंने हमारे घर और अन्य खर्चों की देखभाल के लिए एक ट्यूशन टीचर के रूप में काम किया।' इंस्टीट्यूट के बारे में उन्हें कैसे पहता चला इसके बारे में उन्होंने बताया, ' मुझे चेतन भगत और रश्मि बंसल द्वारा लिखित पुस्तकों को पढ़कर संस्थान के बारे में अधिक जानकारी मिली।'  

उनकी मेहनत रंग लाई और दूसरे ही प्रयास में उन्हें आईआईएम-ए जैसे प्रतिष्ठित संस्थान में दाखिला मिला। हेत की CAT में पर्सेंटाइल 97.53 थी और उन्हें 2021-2023 के बैच में खाद्य और कृषि व्यवसाय प्रबंधन, (PG FABM) में दाखिला मिला है।

इसे भी पढ़ें :आईटी प्रोफेशनल से ज़ुम्बा क्वीन बनने तक, सुचेता पाल की जर्नी के बारे में जानें

बचपन में, हेत जब भी आईआईएम-ए के मेन कैंपस से गुजरते थे, तो उन्हें हमेशा यह उत्सुकता रहती थी कि इसके अंदर क्या है? उन्हें इसके बारे में चेतन भगत की किताबें पढ़कर पता चला और अब उन्होंने अपनी मेहनत के बल पर इस संस्थान में जगह बना ली। उन्होंने हॉर्टिकल्चर के कोर्स में अपनी ग्रेजुएशन की है। 

इसे भी पढ़ें :7 बेटियों की मां होने पर सास देती थी ताने, आज Spice Girls के नाम से हैं मशहूर

हेत के इस जेस्चर को सभी बहुत पसंद कर रहे हैं। ऐसा कम ही देखने को मिलता है, जब कोई बच्चा अपनी मां के नाम अपनाता है। आपको यह स्टोरी कैसी लगी हमें फेसबुक पेज पर कमेंट कर जरूर बताएं। ऐसी Inspirational Stories पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: www.instagram/scoopwhoop