• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

कबूतर को रोज खिलाएं दाना और फिर देखें चमत्कार

जीवन में आ रही समस्याओं को दूर करने और पुण्य अर्जित करने के लिए आप भी नियमित कबूतरों को दाना डालें और इसके शुभ फल जानें। 
author-profile
Next
Article
sacred  birds  in  hinduism

हिंदू धर्म में पशु-पक्षियों को भी बहुत महत्व दिया गया है। कई पशु-पक्षियों की तो हिंदू धर्म में पूजा भी की जाती है, तो बहुत सारे पशु-पक्षियों को पितरों का दर्जा दिया गया है। इनमें से एक है कबूतर। कबूतर एक ऐसा पक्षी है, जिसे हर दिन आप एक बार जरूर देखते होंगे या फिर आपके घर, आंगन या बालकनी में कबूतर जरूर आता होगा।  

शास्त्रों में पानी पिलाने और भोजन कराने को सबसे बड़ा पुण्य माना गया है। ऐसे में केवल मनुष्य को ही नहीं बल्कि आपको पशु-पक्षियों को भी भोजन और पानी जरूर देना चाहिए। कई घरों में लोग नियमित कबूतरों को दाना डालते हैं और उन्हें पानी भी पिलाते हैं। ऐसे में धार्मिक लिहाज से उन्हें ऐसा करने का क्या फायदा मिलता है, यह जानने के लिए हमने भोपाल के ज्योतिषाचार्य विनोद सोनी से बात की। 

पंडित जी कहते हैं , 'कबूतर को शांति का प्रतीक माना गया है। खासतौर पर सफेद कबूतरों को हिंदू धर्म में बहुत ही शुभ माना गया है। एक कथा के अनुसार, भगवान शिव ने अमरनाथ की जिस गुफा में पार्वती जी को अजर-अमर होने के वचन सुनाए थे, वह वचन गुफा में मौजूद 2 कबूतरों ने भी सुन लिए थे और वह आज भी अजर-अमर हैं और जिन्‍हें भी वह दिख जाते हैं, कहा जाता है कि उसे भगवान शिव-पार्वती के दर्शन हो जाते हैं।'

इस कथा के परिणाम स्वरूप कबूतरों को एक खास दर्जा ही प्राप्त हो गया है। आज हम आपको कबूतरों से जुड़े कुछ धार्मिक तथ्यों के बारे में बताएंगे। 

इसे जरूर पढ़ें: घर में बिल्ली का आना, क्या देता है संकेत

is  feeding  pigeons  good

हिंदू धर्म में कबूतर का महत्व

शास्त्रों के मुताबिक कबूतर को देवी रति का वाहन माना गया है। देवी रति को सौंदर्य की देवी एवं गंधर्व कन्या के  रूप में उल्लेखित किया गया है। देवी रति प्रेम के देवता कहे जाने वाले कामदेव की पत्‍नी थीं। कबूतरों को भी हमेशा शांति और प्रेम का प्रतीक माना जाता है। 

pigeon  in  hindu  mythology

ग्रहों के अनुसार कबूतर को क्या खिलाएं? 

  • यदि आपकी कुंडली में राहु-केतु की स्थिति कमजोर है या फिर किसी ग्रह के साथ राहु-केतु बैठकर उसे कमजोर बना रहे हैं, तो आपको नियमित कबूतरों को बाजरा खिलाना चाहिए। बाजरा खिलाने से आपकी कुंडली में राहु-केतु की दशा मजबूत हो जाएगी। 
  • अगर आपकी कुंडली में बृहस्पति ग्रह और चंद्रमा कमजोर है या फिर दोनों मिल कर गजकेसरी योग बना रहे हैं, मगर उससे आपके जीवन में कोई अच्छा प्रभाव नहीं पड़ रहा है तो आपको नियमित कबूतरों को चावल खाने के लिए देना चाहिए। आप बाजरा और चावल मिक्स करके भी दे सकते हैं। ऐसा करने से आपको लाभ अवश्य लाभ होगा। 
  • अगर आपकी शादीशुदा लाइफ में कोई समस्या चल रही है और आप बहुत समय से इसका उपाय तलाश रहे हैं, तो आपको नियमित कबूतरों को ज्वार खिलाना चाहिए। यदि आप नियमित नहीं खिला सकते हैं तो आपको लगभग 40 दिनों तक लगातार, बिना नागा किए यह काम करना होगा। 
  • आप वैवाहिक जीवन में चल रहे मनमुटाव को कम करने के लिए या फिर नौकरी में आ रही समस्या को दूर करने के लिए भी कबूतरों को भोजन करा सकते हैं। आप चने की दाल, भुट्टे के दाने उन्हें भोजन  के रूप में डाल सकते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: गाय को नियमित गुड़-रोटी खिलाएं, होंगे ये फायदे

pigeon  is  vahana  of  which  god

घर में सफेद कबूतर का आना शुभ या अशुभ? 

घर में अगर सफेद कबूतर पला हुआ है या फिर कहीं से उड़ कर आ जाए या फिर अपना घोंसला बना ले, तो इसे शुभ संकेत ही समझें क्योंकि सफेद कबूतर को देवी लक्ष्मी का भक्त समझा जाता है। अगर कबूतर का जोड़ा आपके घर में रहने लगे तो यह भी शुभ होता है, इससे आपके दांपत्य जीवन में मधुरता आने लग जाती है।  

Recommended Video

कबूतर को पानी पिलाने से लाभ 

पानी पिलाने को हिंदू धर्म में पुण्य का काम बताया गया है। यदि आप गर्मियों के मौसम में पुश-पक्षियों के लिए अलग से एक बर्तन में पानी भर कर रखते हैं, तो इससे आपको बहुत ही शुभ फल प्राप्त होंगे।  

उम्‍मीद है कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा, इसे शेयर और लाइक करें। इसी तरह और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

 Image Credit: Shutterstock
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।