शबाना आजमी हिंदी सिनेमा की मंझी हुई अभिनेत्री हैं जो खुद को हर किरदार के अनुरूप सांचे ढाल लेती हैं। उन्होंने अपने लंबे फिल्‍मी सफर में तरह-तरह के रोल किये हैं। वहीं, वो आज भी फिल्मों में सक्रिय हैं। 1974 में शबाना आजमी ने अपने फिल्मी करियार की शुरूआत श्याम बेनेगल की फिल्म 'अंकुर' से की थी। फिल्म अकुंर के हिट होने के बाद शबाना ने फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। एक अभिनेत्री होने के साथ-साथ शबाना सामाजिक कार्यों में भी समान रूप से जुडी रहतीं हैं।

shabana azmi known and interesting facts inside

इसे जरूर पढ़ें: आयुष्‍मान खुराना की कॉमेडी फिल्म 'ड्रीम गर्ल' से हर महिला सीख सकती है ये 5 बातें

फिल्म इंडस्ट्री में शबाना ने अपनी एक्टिंग के बल पर एक अलग मुकाम हासिल किया हैं। वो ऐसी अदाकाराओं में से एक हैं जिन्होंने हिंदी सिनेमाजगत पर करीब 4 दशक तक राज किया है। उन्‍होंने अपने फिल्मी करियर मे कई जबरदस्त फिल्में दी हैं इसलिए उनका नाम बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस की लिस्ट में शुमार है। वो हमेशा सबजेक्टिव फिल्में करती हैं। उन्‍होंने पर्दे पर जो भी किरदार निभाएं हैं और उनको जीवंत कर दिया। आइए जानें उनके जीवन से जुड़ी रोचक और अनकही बातें।

 

जन्‍म, बचपन और पढ़ाई:

शबाना का जन्म 18 सितबंर 1950 को हैदराबाद में हुआ था। उनके पिता मशहूर शायर कैफी आजमी थे और मां शौकत आजमी थीं जो एक बेहतरीन थिएटर आर्टिस्ट्स थीं। शबाना ने अपनी शुरुआती पढ़ाई क़्वीन मैरी स्कूल मुंबई से की। उन्होंने मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज से मनोविज्ञान में स्नातक किया है। उन्‍होंने पुणे के फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टिटीयूट ऑफ इंडिया से एक्टिंग का कोर्स किया है। बेमिसाल अदाकारी की मिसाल रही शबाना आजमी, आर्ट से लेकर कमर्शियल सिनेमा पर किया राज

shabana azmi interesting facts inside

शादी और परिवार:

शबाना और फिल्ममेकर शेखर कपूर 7 साल तक रिलेशनशिप रहे लेकिन बाद में दोनों अलग हो गये। शेखर रिश्ता खत्म होने के बाद शबाना ने मशहूर गीतकार और राइटर जावेद अख्तर से निकाह कर लिया। दोनों ने 9 दिसंबर 1984 को निकाह किया था। जावेद अख्तर पहले से शादी-शुदा थे, लेकिन शबाना के प्यार में उन्होंने अपनी पहली पत्नी हनी ईरानी को तलाक दे दिया। जावेद अख्तर शबाना से शादी करने के पहले 2 बच्चों के पिता थे। पहले से शादीशुदा गीतकार जावेद अख्तर से उनका प्यार शबाना के घर पर ही परवान चढ़ा था। उनके पिता कैफी आज़मी जो की एक मशहूर शायर और कवि थे और जावेद अख्तर वहां उनसे कविताओं की शिक्षा लेने जाया करते थे। हालांकि जावेद के शादी-शुदा होने की वजह से शबाना की मां इस शादी के खिलाफ थी। लेकिन 1978 में पहली बीबी से तलाक के बाद कैफी आजमी जावेद से बेटी की शादी के लिए तैयार हो गए। इस तरह 6 साल के लंबे रिश्ते के बाद दोनों की शादी हुई। इन इंस्पायरिंग फिल्मों ने महिलाओं को दिया जीने का नया नजरिया

shabana azmi lesser known and interesting facts inside

इसे जरूर पढ़ें: सारा अली खान के ग्रेजुएशन डे का थ्रोबैक वीडियो हुआ वायरल, सैफ-अमृता दिखे साथ

करियर और फिल्‍में:

शबाना ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत साल 1974 में श्याम बेनेगल की फिल्म 'अंकुर' से की थी। अपनी पहली ही फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था। फिल्म अकुंर के बाद 1983 से 1985 तक लगातार 3 सालों तक उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया। अर्थ, खंडहर और पार जैसी फिल्मों के लिए उनके अभिनय को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया। अर्थ, निशांत, अंकुर, स्पर्श, मंडी, मासूम, पेस्टॅन जी में  शबाना आजमी ने अपने अभिनय की अमिट छाप दर्शकों पर छोड़ी। अमर अकबर एंथोनी, मैं आजाद हूं, परवरिश जैसी व्यावसायिक फिल्मों में अभिनय कर उन्‍होंने आम दर्शकों के बीच भी अपनी पहुंच बनाई। वहीं, बाल फिल्म मकड़ी में वे चुड़ैल की भूमिका निभाती हुई नजर आई। हाल ही में उन्होंने ‘नीरजा’, ‘चॉक एंड डस्टर’, ‘जज्बा’ जैसी फिल्मों में काम किया है। बॉलीवुड के 5 सेलेब्स जो बिना ट्रिपल तलाक दिए, पत्नी से हुए हैं legally अलग