• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

पितृ पक्ष में जन्में बच्चों की कैसी होती है पर्सनैलिटी? ज्योतिष एक्सपर्ट से जानें

यदि किसी बच्चे का जन्म पितृ पक्ष के 16 दिनों के दौरान हुआ है तो उसका व्यक्तित्व कैसा हो सकता है, यहां विस्तार से जानें। 
author-profile
Published -12 Sep 2022, 14:09 ISTUpdated -12 Sep 2022, 14:36 IST
Next
Article
pitru paksha  baby born personality by expert

बहुत से लोगों का मानना है कि ऐसे बच्चे जिनका जन्म पितृ पक्ष के दौरान होता है वो परिवार के लिए कुछ नकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं। लेकिन वास्तविकता कुछ और ही है। दरअसल, ज्योतिष की मानें तो इस अवधि में जन्में बच्चे हमारे पूर्वजों का प्रतिनिधित्व करते हैं और हमारे लिए बहुत ही शुभ संकेत लेकर आते हैं।

इन बच्चों के बारे में ऐसी धारणा होती है कि ये कोई भी पितर हो सकते हैं जिनका स्वर्गवास हो चुका है। किसी अधूरी इच्छा को पूरा करने के लिए ही ऐसे पितर घर में बच्चे के रूप में जन्म लेते हैं और ऐसे बच्चों पर पूर्वजों की भरपूर कृपा होती है।

आइए ज्योतिषाचार्य एवं वास्तु विशेषज्ञ डॉ आरती दहिया से जानें उन बच्चों के व्यक्तित्व के बारे में जिनका जन्म पितृ पक्ष की अवधि के दौरान हुआ हो। 

पितृ पक्ष में जन्म लेने का कारण 

pitru paksha  baby born personality traits

ऐसा माना जाता है कि जिन बच्चों का जन्म पितृ पक्ष (पितृ पक्ष में करें इन चीजों का दान) के दौरान होता है दरअसल वो पिछले जन्म में मृत्यु के बाद जब देवलोक में जाते हैं तब उनसे पूछा जाता है कि वो क्या चाहते हैं तो वो पुनः अपने ही घर में जन्म लेने की इच्छा प्रकट करते हैं। कभी कभी आकस्मिक जिसकी मृत्यु हो जाती है या कम उम्र में ही मृत्यु हो जाती है उसके मन में बहुत सारी इच्छाएं होती हैं और मन में वो सब चीज़े नहीं कर पाते हैं उससे पहले उनकी मृत्यु हो जाती है। अपनी उसी इच्छा को पूरा करने के लिए वो पुनः उसी कुल में जन्म लेते हैं। ऐसे बच्चों का व्यक्तित्व थोड़ा अलग होता है।

इसे जरूर पढ़ें: Pitru Paksha 2022 : आपके घर में हो रही हैं ऐसी घटनाएं तो समझें मृत पूर्वज हैं नाराज 

परिवार से रखते हैं लगाव 

personality traits of baby born in pitru paksha

जिन बच्चों का जन्म पितृ पक्ष के दौरान होता है वो अपने परिवार के साथ बहुत अधिक लगाव रखते हैं। बड़े होने पर भी इनका ये प्रेम और लगाव कम नहीं होता है और वो हमेशा परिवार के लोगों को अहमियत देते हैं। ये लोग किसी भी परिस्थिति में अपने परिवार का साथ नहीं छोड़ते हैं। कई बार इनका ये स्वभाव इन्हें होम सिक भी बना देता है। 

दिमाग से बहुत तेज होते हैं ऐसे बच्चे 

पितृ पक्ष में जो बच्चे जन्म लेते हैं वो अन्य बच्चों की तुलना में बहुत ही तेज दिमाग के होते हैं। ये बच्चे अपनी उम्र के अनुसार कई ऐसी बातें भी जानने लगते हैं जो  उनसे काफी बड़ी उम्र केलोगों को पता होती है। इनका दिमाग हर बात को अलग तरीके से सोचता है और उस पर ही अमल करता यही। 10 साल के बच्चे का अनुभव ऐसा रहेगा जैसे वो 50 साल का हो। 

इसे जरूर पढ़ें: Pitru Paksha 2022: कब से शुरू हो रहा है पितृ पक्ष, तर्पण की तिथियां और महत्व जानें

इन बच्चों को मिलता है बुजुर्गों का आशीर्वाद 

baby born in pitru paksha

पितृपक्ष के दिनों में जन्म लेने वाले बच्चों (सूर्यास्त के बाद जन्मे बच्चों का स्वभाव)को हमेशा परिवार के लिए शुभ माना जाता है। इन बच्चों पर हमेशा पूर्वजों का आशीर्वाद बना रहता है। ये बच्चे कुछ विशेष गुणों से युक्त होते हैं। ऐसे बच्चे बहुत क्रिएटिव होते हैं और इनकी बौद्धिक क्षमता अन्य बच्चों की तुलना में बेहतर होती है। ऐसे बच्चे बहुत ज्यादा आत्मविश्वासी होते है। इनके गुण परिवार के किसी पितर से मिलते-जुलते भी हो सकते हैं। ये अपने जीवन में बहुत नाम कमाते हैं और कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखते हैं। 

कुछ ऐसे ही होते हैं पितृ पक्ष में जन्म लेने वाले बच्चों का स्वभाव, यदि आपके बच्चे का जन्म भी इस अवधि में हुआ है तो ये उसकी पर्सनैलिटी हो सकती है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik.com 

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।