जीविका को टैरो कार्ड रीडर और गाइडेंस काउंसलर के रूप में 5 वर्षों से अधिक का अनुभव है। जीविका तीन साल से अधिक समय से टैरो कार्ड का अभ्यास कर रही थीं और पढ़ रही थीं, लेकिन उनकी टैरो रीडिंग केवल उनके परिवार और दोस्तों तक ही सीमित थी। जीविका के प्रयास प्रमुख रूप से टैरो कार्ड के माध्यम से लोगों की मदद करने की दिशा में हैं।

टैरो रीडिंग का उपयोग यह जानने के लिए भी किया जा सकता है कि बेहतर भविष्य के लिए कौन-सा रास्ता चुनना चाहिए। उनका अब तक का सफर कैसा रहा और आने वाले समय में उनकी क्या योजनाएं हैं, यह जानने के लिए जरूरी है कि हम उनको जानने की कोशिश करें। तो चलिए आज हम आपको टैरो कार्ड रीडर जीविका शर्मा से रूबरू करवाते हैं।

अपने बारे में और अपनी जर्नी के बारे में हमारे रीडर्स को विस्तार में बताएं?

all about tarot cart reader jeevika sharma

मेरा नाम जीविका शर्मा है और मैं टैरो कार्ड रीडर और गाइडेंस काउंसलर के रूप में पिछले 5 वर्षों से अधिक समय से टैरो कार्ड का अभ्यास कर रही हूं।

जहां तक मेरी यात्रा का सवाल है, तो मैं यह बिल्कुल नहीं कहूंगी कि यह आसान सफर था। मेरे जीवन में ऐसे कई मौके आए, जब पेशेवर रूप से मैं टैरो कार्ड की प्रैक्टिस बंद कर देना चाहती थी। इसका कारण था कि मैंने खुद को पेशेवर रूप से टैरो कार्ड का अभ्यास करते हुए कभी नहीं देखा था। यह सब संयोग से हुआ। मैंने इसे सिर्फ अपने लिए सीखा था।

टैरो कार्ड में आपकी दिलचस्पी कैसे बढ़ी? 

दरअसल, प्रोफेशनल तौर पर टैरो कार्ड रीडर बनना कभी नहीं सोचा था। मैंने इसे जिज्ञासा के कारण सीखा और छोटे से ही मुझे इसमें दिलचस्पी थी। इसी कारण मैंने टैरो कार्ड सीखा और भविष्य की भविष्यवाणी करने या अतीत का पता लगाने के विचार ने मुझे हमेशा उत्साहित किया।

कुछ साल पहले, मैंने हस्तरेखा विज्ञान भी सीखा था, लेकिन लेकिन हस्तरेखा के माध्यम से विस्तृत भविष्यवाणियां वास्तव में कठिन हैं। इसलिए, जब मौका मिला तो मैंने टैरो कार्ड सीखना शुरू किया।

इस दौरान आपने किन चुनौतियों का सामना किया?

चुनौतियों की बात करूं, तो सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि लोकप्रिय धारणा के विपरीत टैरो कार्ड सीखना और मास्टर करना आसान नहीं है। टैरो कार्ड रीडिंग के हर पहलू को सीखने में मुझे दो साल का अच्छा-खासा समय लगा। उनके अर्थ सीखने से लेकर विभिन्न स्थितियों में उनकी व्याख्या कैसे करनी है, मैंने सीखा और मेरे पास कोई मदद भी नहीं थी। मैंने यह सब अपने आप ट्रायल और एरर करके सीखा है।

शुरुआत में, मैंने कभी इसके लिए कोई चार्ज नहीं लिया। मैं तब इसे प्रोफेशनली नहीं कर रही थी। सिर्फ दोस्तों और परिवार वालों के लिए रीडिंग्स करती थी। एक लंबे समय तक, सबूत देखने के बावजूद, मुझे यकीन ही नहीं था कि मेरी रीडिंग सही हैं या नहीं। उसके कुछ समय बाद, अच्छी-खासी प्रैक्टिस करने के बाद मैंने लोगों से फीस लेनी शुरू की। आमतौर पर लोग सीखने के एक या दो महीने बाद चार्ज करना शुरू कर देते हैं। लेकिन, मुझे यह सही नहीं लगता।

आपके मन में टैरो कार्ड रीडिंग का विचार कैसे आया और इसे एग्जिक्यूट करना कितना मुश्किल था?

guidance counsellor jeevika sharma

मैंने 2016 में टैरो सीखना शुरू किया था और साल 2019 के मिड तक लोगों से कोई चार्ज नहीं लेती थी। मैं प्रोफेशनली इसे इसलिए नहीं कर रही थी, क्योंकि मुझमें आत्मविश्वास की कमी थी। इस समय तक हालांकि मेरी सभी रीडिंग एकदम सही साबित हुई थीं। फिर एक दोस्त ने मुझे प्रोत्साहित किया। दरअसल, मेरे एक दोस्त ने टैरो कार्ड रीडिंग  के लिए कंसल्ट किया था और उसी ने मुझे यह सलाह दी कि मुझे रीडिंग्स मुफ्त में नहीं करनी चाहिए। इसके बाद मैंने लोगों से फीस लेना शुरू किया और बहुत ही नॉमिनल फीस से शुरुआत की। (टैरो कार्ड रीडर जीविका शर्मा से जानें नवंबर में कैसा रहेगा आपका राशिफल)

इस दौरान सबसे बड़ी चुनौती क्या थी और आपने इसे कैसे ओवरकम किया?

सबसे बड़ी चुनौती तब आई, जब 2019 की आखिरी तिमाही में मेरी मां का निधन हुआ। वह मेरे लिए एक कठिन समय था, क्योंकि मैंने तभी पेशेवर रूप से प्रैक्टिस करना शुरू किया था। एक या दो महीने मैंने ध्यान केंद्रित करने की काफी कोशिश की, लेकिन यह वास्तव में कठिन था। तब मेरे कुछ दोस्तों ने मेरे प्रैक्टिस को बढ़ावा देने में मदद की। वे वास्तव में मेरे पहले क्लाइंट्स थे।

अगली चुनौती मेरी प्रैक्टिस को प्रमोट करने में आई। हालांकि मेरे दोस्तों ने मदद की, लेकिन मैं हमेशा के लिए उन पर निर्भर नहीं रहना चाहती थी। तब मैंने एक ब्लॉगर की तरह शुरुआत की और सोशल मीडिया पर प्रमोट करना शुरू किया। इसमें काफी समय लगा, लेकिन लगभग एक साल बाद मुझे नियमित रूप से क्लाइंट्स मिलने लगें।

इसे भी पढ़ें :ये राशियां दे सकती हैं धोखा, टैरो कार्ड रीडर जीविका शर्मा से जानें

क्या आपको किसी चीज का कोई पछतावा है?

मैं किसी पछतावे के बारे में नहीं सोच सकती, क्योंकि मुझे किसी बात का कोई पछतावा नहीं है। सब कुछ सिर्फ एक सीखने का अनुभव है। और मेरे लिए सबसे बड़ी बात थी हर तरह के लोगों से डील करना सीखना।

कोई लेसन या घटना जो आप हमारे पाठकों के साथ शेयर करना चाहें?

all about tarot card reade and guidance counsellor jeevika sharma

एक चीज जो मैंने सीखी वह है कभी भी फ्री में रीडिंग नहीं देना। लोग कभी भी मुफ्त सेवाओं की सराहना नहीं करते हैं।

इसे भी पढ़ें :टैरो कार्ड एक्‍सपर्ट से जानें आपकी राशि के लिए कौन सा प्रोफेशन है सबसे अच्छा

अपने भविष्य की योजनाओं के बारे में कुछ बताएं?

मेरी भविष्य की योजना एक बेहतर टैरो कार्ड रीडर बनने और अपने क्लाइंट्स को उनकी समस्याओं में मदद करने की है। इसके अलावा एक प्रसिद्ध टैरो कार्ड रीडर बनना चाहती हूं।

Recommended Video

क्या आप अपनी उपलब्धियों को हमारे साथ शेयर करना चाहेंगी?

मेरी उपलब्धी यही है, जब मेरे क्लाइंट्स कुछ समय बाद मेरे पास आकर मुझे बताते हैं कि मेरी रीडिंग्स से उन्हें मदद मिली और उसने उनका जीवन बेहतर बनाने में मदद की।

तो दोस्तों यह हैं टैरो कार्ड रीडर जीविका शर्मा। हमें उम्मीद है कि जीविका के बारे में जानकर आपको अच्छा लगा होगा। यह लेख आपको पसंद आया तो इसे लाइक और शेयर करें और ऐसे अन्य लेख पढ़ने के लिए  जुड़े रहें हरजिंदगी से।