एक कहावत है कि लोग प्यार के लिए बड़ी से बड़ी कुर्बानी दे सकते हैं। इन कुर्बानियों से जुड़ी न जाने कितनी कहानियां प्रचलित हैं और लोग जब भी प्यार की बात होती है उनका उदाहरण देते हैं। कुछ ऐसी ही कुर्बानी हाल ही में जापान की राजकुमारी माको ने दी जब उन्होंने अपने कॉलेज के बॉयफ्रेंड से व्याह रचा लिया। बात इतनी भी छोटी नहीं थी क्योंकि राजकुमारी ने शादी के लिए अपना शाही घराना ही छोड़ दिया।

साल 2017 में सगाई की घोषणा के बाद जापान की राजकुमारी माको ने हाल ही में एक आम नागरिक कोमुरु से 26 अक्टूबर को शादी कर ली। दोनों यूनिवर्सिटी में मिले थे और उन्होंने बहुत पहले ही शादी करने का प्लान बनाया था। एक आम व्यक्ति से शादी करने के बाद राजकुमारी आम जनता में शामिल हो जाएंगी। इनसे पहले भी कुछ ऐसे शाही लोग हुए हैं जिन्होंने अपने प्यार के लिए अपना शाही घराना छोड़ दिया। आइए जानें उन लोगों के प्यार से जुड़ी कुछ दस्तानों के बारे में। 

राजकुमारी सयाको

princess sayako

अगर हम सिर्फ जापान की ही बात करें तो भी राजकुमारी माको से पहले उनकी ही चाची, राजकुमारी सयाको को भी शाही घराना छोड़ने के लिए कहा गया था क्योंकि उन्होंने भी एक आम नागरिक से शादी कर ली थी।

इसे जरूर पढ़ें:सियाचिन बेस हॉस्पिटल को ऑक्सीजन यूनिट देने के लिए बुजुर्ग दंपत्ति ने बेची थी ज्वेलरी, पीएम मोदी ने किया सम्मानित

किंग एडवर्ड VIII

महारानी एलिजाबेथ के चाचा किंग एडवर्ड VIII शायद सबसे प्रसिद्ध शाही हैं जिन्होंने प्यार के लिए अपना पद त्याग दिया था। उन्होंने वालिस सिम्पसंस से शादी करने के लिए लंदन की सत्ता को छोड़ दिया था, जो एक अमेरिकी अभिनेत्री और तलाकशुदा थी।

प्रिंस हैरी और मेघन मार्कल

prince herry

राजकुमारी माको की ही तरह प्रिंस हैरी और मेघन मार्कल ने 2020 की शुरुआत में अपने शाही खिताब को त्याग दिया और ब्रिटिश शाही परिवार के वरिष्ठ सदस्यों के रूप में अपनी भूमिकाओं को छोड़ दिया था। आपको बता दें कि दोनों ने 2018 में शादी की थी और वह ब्रिटिश शाही परिवार में शादी करने वाली अफ्रीकी-अमेरिकी मूल की पहली कॉमनर बन गईं थीं। प्यार के लिए इस जोड़े ने ब्रिटेन छोड़ दिया था और ये अमेरिका में बस गए थे। ब्रिटिश शाही परिवार को छोड़ने के बाद कई बार इस जोड़े ने अपनी कुछ समस्याओं को दुनिया के सामने भी रखा और लोगों को बताया कि वो कभी शाही परिवार का हिस्सा थे।  पर उन समस्याओं के बारे में बात करने के लिए सामने आए हैं, जब वे मानसिक स्वास्थ्य और नस्लवाद जैसे मुद्दों सहित शाही परिवार का हिस्सा थे।

Recommended Video

किंग कैरल द्वितीय 

केरल कैरल द्वितीय को दो बार अपना सिंहासन छोड़ने के लिए मजबूर किया गया था। एक बार, उन्हें प्यार के लिए छोड़ना पड़ा, जब उन्हें 1925 में एक फ्रांसीसी महिला के साथ रिलेशन में देखा गया था। दूसरी बार उन्हें राजनीतिक कारणों से अपनी सत्ता छोड़नी पड़ी थी। जब उन्हें 1940 में निर्वासन के लिए मजबूर किया गया था। इसके साथ ही उन्होंने उन्होंने पत्नी मैग्डा लुपेस्कु से शादी भी कर ली थी। .

इसे जरूर पढ़ें:नहीं रहे क्वीन एलिजाबेथ के पति प्रिंस फिलिप, जानिए इनकी 80 साल पुरानी लव स्टोरी

ऑरेंज के राजकुमार फ्रिसो

prince orange story

डच शाही ने 2004 में डच संसद के आधिकारिक आशीर्वाद के बिना Mable Wisse Smit से शादी की थी। इसलिए, उसने सत्ता के अपने अधिकार का त्याग कर दिया था। हालांकि 2013 से पहले तक, उन्हें शाही परिवार का सदस्य माना जाता था, लेकिन डच रॉयल हाउस से उन्हें बहिस्कृत कर दिया गया था। 

वास्तव में इस तरह के कुछ उदाहरण उन प्यार करने वालों के लिए मिसाल हैं और प्यार के लिए दी गई कुर्बानी को दिखाते हैं। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।