बारिश के मौसम में तरह-तरह के कीड़े-मकोड़े ना सिर्फ घर के अंदर आ जाते हैं बल्कि इससे आपके पेड़-पौधों को भी काफी नुकसान होता है। कीड़े-मकोड़ों की बात करें तो मक्खियां भी पेड़-पौधों को नुकसान पहुंचाती हैं। दरअसल यह पत्तों की पीछे छिप जाती हैं, और उनमें छेद या फिर उन्हें काटने लगती हैं। समय पर इसका इलाज ना किया जाए तो फिर पूरे पेड़ को खराब कर देती हैं। यही नहीं मक्खियां ना सिर्फ पौधों को नुकसान पहुंचाती है बल्कि यह घर के अंदर भी आ जाती हैं।

यही नहीं शाम के वक्त ये मक्खियां पेड़-पौधों में छिपे रहती हैं। अगर आप गमलों के आसपास खड़ी हैं तो इसके संपर्क में आने से शरीर में खुजली शुरू हो जाती है। पेड़-पौधों को मक्खियों से बचाने के लिए कई देसी तरीके हैं, जिसे आजमाने के बाद यह घर के अंदर भी नहीं आएंगे। तो चलिए इन देसी तरीकों के बारे में जानते हैं और बताते हैं कि उन्हें कैसे इस्तेमाल किया जा सकता है।

लौंग का इस्तेमाल

cloves uses

आप सभी जानते हैं उपले की राख पौधों में खाद की तरह काम करते हैं। ऐसे में जब आप उपले जलाए तो सबसे आखिर में लौंग के कुछ दाने डाल दें। उपले के साथ ये भी जल जाएंगे अब इसे पेड़ पौधों के पास रख दें, इसके धुएं से ना सिर्फ मक्खियां बल्कि मच्छर भी भाग जाएंगे। जब आग खत्म हो जाए तो राख को हर पौधों पर छिड़क दें। ऐसा करने मक्खी नहीं आएगी। वहीं कोशिश करें कि हफ्ते में एक बार जरूर करें। दरअसल एक बार ऐसा करने से मक्खियां भागेंगी नहीं बल्कि वापस फिर आ जाएंगी। इसलिए कम से कम तीन दिन पर एक बार जरूर करें।

इसे भी पढ़ें: Gardening Tips: ओवरवॉटरिंग से स्नेक प्लांट हो रहा है खराब तो ये टिप्स आजमाएं 

लौंग का पानी इस्तेमाल करें

use spray bottle

राख में लौंग को मिक्स करने के अलावा आप इसके पानी का भी छिड़काव पौधों में कर सकती हैं। इसके लिए आपको पहले 25 से 30 लौंग के दाने को 2 ग्लास पानी में रखकर 24 घंटे के लिए छोड़ दें। इस पानी को धूप में नहीं रखना बल्कि घर के अंदर किसी छांव वाली जगह पर रखें। इसके बाद पानी को छान कर स्प्रे बॉटल में भर लें। ध्यान रखें कि पानी छानने के बाद लौंग को फेंकना नहीं है बल्कि वापस इसे पानी में सोक होने के लिए छोड़ दें। दरअसल इसे 3 से 4 बार दोबारा यूज कर सकते हैं। अब लौंग के पानी में पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल 10 बूंद मिक्स कर दें। जिन पेड़-पौधों में मक्खी लगते हैं, वहां इसका छिड़काव करें। शाम के वक्त आप लौंग के पानी का छिड़काव एक दिन बीच कर करें।

नीम के पत्तों से बनाएं कीटनाशक

use neem leaves for plants

पौधों में से मक्खियों को भगाने के लिए नीम के पत्तों का इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए ढेर सारी पत्तियों को पानी में कुछ देर उबाल लें और फिर उसे एक बोतल में छानकर रख लें। कोशिश करें कि पानी आपके गार्डन के लिए पर्याप्त हो। कम से कम 2 से 3 लीटर पानी हो। अब इसमें 2 चम्मच शैंपू मिक्स करें और फिर थोड़ा पानी और मिक्स कर दें। इसे एक स्प्रे बॉटल में भरकर पेड़-पौधों पर छिड़काव करें। अगर आप आपने गार्डन में सब्जियां उगाती है तो उनके पत्तों पर नीम से बना यह कीटनाशक स्प्रे जरूर करें। यह पूरी तरह से ऑर्गैनिक है, इससे ना सिर्फ मक्खी बल्कि अन्य कीड़े-मकोड़े भी भाग जाएंगे।

इसे भी पढ़ें:बाथरूम की नाली हो जाती है जाम तो इन ट्रिक्स से करें ठीक

Recommended Video

शैंपू का घोल तैयार करें

use shampoo

अगर आपके पास इनमें से कोई भी चीज उपलब्ध नहीं है तो सिंपल शैंपू का घोल तैयार कर कर सकती हैं। 3 से 4 एमएल शैंपू पानी में मिक्स कर घोल तैयार कर लें और उसमें पानी मिक्स कर दें। अब इस पानी को छिड़काव पेड़-पौधों में करें। मच्छर-मक्खी आसानी से भाग जाएंगे। कोशिश करें कि इसका छिड़काव सुबह या फिर शाम को धूप जाने के बाद करें।

यह सभी टिप्स आप अपने पेड़-पौधों को मक्खियों से बचाने के लिए आजमा सकते हैं। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।