हड्डियों में दर्द या अर्थराइटिस की समस्या आज के समय में बेहद आम हो गई है। अमूमन ऐसा माना जाता है कि अर्थराइटिस के पीछे मुख्य वजह आपका खानपान है। जी हां, यह सच है कि शरीर में पोषक तत्वों की कमी कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं जैसे हड्डियों की समस्या हो सकती है। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी है, जो एक बेहतर लाइफस्टाइल जीते हैं। अपने खानपान से लेकर नींद तक हर छोटी-छोटी बात पर फोकस करते हैं, लेकिन फिर भी उन्हें हड्डियों में दर्द या फिर अर्थराइटिस की समस्या होती है। इसके लिए आपका वास्तु दोष भी जिम्मेदार हो सकता है।

वास्तु शास्त्र एक साइंस है, जो दिशाओं के साथ-साथ एनर्जी व वाइब्रेशन पर भी काम करती है और जब इन एनर्जी या वाइब्रेशन में किसी तरह की गड़बड़ होती है तो ऐसे में व्यक्ति को कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से भी दो-चार होना पड़ता है। अगर आप भी हड्डियों के दर्द से परेशान है तो चलिए आज वास्तुशास्त्री डॉ आनंद भारद्वाज आपको इसके कारणों व उपायों के बारे में विस्तारपूर्वक बता रहे हैं-

अगर उत्तर मुखी है घर

अगर आपका घर उत्तर मुखी है तो यह संभावना है कि आपके घर में सूरज की किरणें सही तरह से नहीं पहुंच पातीं और ऐसे घरों में सीलन भी देखी जाती हैं। जिससे व्यक्ति का स्वास्थ्य गड़बड़ा सकता है। स्वस्थ रहने के लिए हमारे शरीर में पंचतत्व अर्थात् भूमि, जल, वायु, अग्नि व आकाश का बैलेंस होना जरूरी है। अगर किसी तत्व की प्रधानता या कमी हो जाती है तो व्यक्ति कई रोग से ग्रस्त हो जाता है। 

उत्तर मुखी घरों में जल तत्व अधिक होता है और वहां पर अग्नि तत्व कम होता है। अगर आपका घर भी उत्तर मुखी है तो ऐसे में आपको पूर्व व दक्षिण में मौजूद खिड़कियों को खोलकर रखें और घर के अंदर धूप को आने दें, ताकि हमारा अग्नि तत्व बैलेंस हो सके।

arthritis and vastu

इसे जरूर पढ़ें- जानें सावन के महीने में कब है कामिका एकादशी, पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व 

दक्षिण पश्चिम में बेडरूम

दक्षिण पश्चिम को भूमि का कोना कहा जाता है और अगर आपका बेडरूम दक्षिण पश्चिम में है और आपने वहां पर जल तत्व की प्रधानता की है। मसलन, आपने वहां पर जरूरत से ज्यादा पानी की बोतलें रखी हैं या फिर पानी का घड़ा रखा है। इसके अलावा, अगर आपके बेडरूम में पानी की पेंटिंग या पोस्टर या फिर फाउंटेन आदि लगाया है तो इससे अर्थराइटिस या हड्डियों के रोग होने की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है। 

arthritis home

लोहे का बेड

इन दिनों लोहे के बेड को इस्तेमाल करने का चलन काफी बढ़ गया है और लोग ऐसे बिस्तर पर सोना काफी पसंद करते हैं। लेकिन अगर आप लोहे के बेड पर सोते हैं तो यह भी आपकी एनर्जी को ड्रेन आउट कर देता है। इसके अलावा, यह बॉडी की अर्थिंग करके एनर्जी को बाहर निकालता है। इतना ही नहीं, अगर आपके बेड के अंदर बहुत अधिक लोहे का सामान रख हुआ है तो इससे भी हड्डियों की समस्याएं होने की संभावना बहुत अधिक रहती है। 

arthritis bed

अर्थराइटिस से बचने के तरीके 

सुबह की धूप को बिल्कुल भी मिस ना करें। आप अपनी खिड़की के करीब बैठ सकते हैं या फिर छत पर बैठकर सुबह की धूप का आनंद लें। इससे आपको विटामिन डी मिलता है, साथ ही यह आपकी हड्डियों को भी मजबूत बनाता है। 

अगर आपके अपने बेडरूम में पानी रखा है तो आप उसे वहां से दूर करें। कम से कम अपने बेड के करीब पानी बिल्कुल भी ना रखें। 

इसे जरूर पढ़ें- अगस्‍त का म‍हीना सभी राशियों के लिए कैसा होगा? टैरो कार्ड एक्‍सपर्ट से जानें 

सी सॉल्ट या समुद्री नमक को अपने बेड के आसपास जरूर रखें। खासतौर पर, अगर आपको घुटनों में या अर्थराइटिस की समस्या है तो आप पैरों की तरफ सी-सॉल्ट अवश्य रखें। नमक नकारात्मक वाइब्रेशन को खींचता है। साथ ही नमक को हर आठ-दस दिन में जरूर बदल दें और पहले नमक को पानी में प्रवाह कर दें।  

Recommended Video

काली तुलसी या श्यामा तुलसी को अपने घर में रखें और उसे अपने खाने में जरूर इस्तेमाल करें। यह आपको अर्थराइटिस से आराम दिलाने के साथ-साथ अन्य स्वास्थ्य समस्याओं को भी दूर करता है। 

अगर आप एक्सरसाइज करते हैं तो आप सुबह की धूप में बैठकर एक्सरसाइज करें। इससे आपको अग्नि तत्व मिलता है और इससे आपको डबल फायदा मिलता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।