Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    Dussehra 2022: जानिए रावण को कैसे मिली थी सोने की लंका

    इस लेख में हम आपको बताएंगे कि सोने की लंका आखिर किसकी थी और वह कैसे रावण को मिली थी।
    author-profile
    Published -26 Sep 2022, 10:39 ISTUpdated -26 Sep 2022, 10:51 IST
    Next
    Article
    WHO MADE GOLDEN LANKA

    रामायण में जिस सोने की लंका का उल्लेख है उसके बारे में ज्यादातर लोग यही जानते हैं कि रावण ने सोने की लंका बनवाई थी। लेकिन हम आपको बताएंगे असल में सोने की लंका किसने बनवाई थी और यह लंका फिर रावण को कैसे मिली थी।

    कैसे थी सोने की लंका?

    how ravana get lanka

    रामायण के अनुसार रावण की लंका बहुत सुंदर और खूबसूरत थी। 'स्वर्ण नगरी' के नाम से जानी जाने वाली रावण की लंका के चर्चे हर तरफ होते थे। सोने की लंका की बनावट के बारे में हर लोक में बातें हुआ करती थी। वैसे तो ज्यादातर लोग सोने की लंका को रावण की धरोहर मानते हैं लेकिन पुराणों के अनुसार में यह धरोहर किसी और की थी।

    इसे भी पढ़ेंः रावण के सगे भाई नहीं थे विभीषण, जानें ब्रह्मा के पोते रावण के बारे में 9 फैक्ट्स

    किसकी थी सोने की लंका ?

    हिन्दू ग्रंथों के अनुसार एक बार माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु कैलाश पर्वत पर भगवान शिव और माता पार्वती जी से मिलने के लिए गए थे।

    आपको बता दे कि कैलाश पर्वत पर बहुत ज्यादा ठंड थी और माता लक्ष्मी को हर तरफ बर्फ ही बर्फ नजर आ रही थी। माता लक्ष्मी जी ने एक ऐसी जगह ढूंढ़ने की बहुत कोशिश करी जहां उन्हें कम ठंड लगे।

    तब माता लक्ष्मी ने पार्वती जी से कहा कि आप खुद एक राजकुमारी हैं और कैलाश पर्वत पर इस तरह का जीवन यापन कैसे कर सकती हैं। इसके बाद माता पार्वती जी ने शिव जी से विनंती करी की बाकी देवी-देवताओं की तरह हमारा भी एक महल होना चाहिए।

    तब शिव जी ने देवता विश्वकर्मा और देव कुबेर जी को बुलाकर समुद्र के बीच में सोने का महल बनवाया। इसे ही सोने की लंका कहा गया।

    इसे जरूर पढ़ें- दशहरे का लेना है असली मज़ा तो भारत की इन 7 जगहों पर मनाएं लॉन्ग वीकएंड की छुट्टी

    कैसे मिली थी रावण को सोने की लंका?

    एक बार रावण समुद्र के बीच में स्थित सोने की लंका के पास से गुजर रहा था। वह लंका को देख कर बहुत आकर्षित हुआ और उसके मन ने लालच आ  गया। फिर रावण ने ब्राह्मण का वेश धारण किया और शिवजी के पास गया और शिव जी से दान में सोने की लंका मांग ली थी। जिस वजह से शिव जी ने सोने की लंका उसे दे दी। इसके बाद पार्वती माता ने उसे यह छल करने के लिए श्राप भी दिया था। 

     

    तो इस तरह रावण को धोखे से सोने की लंका मिली ली थी।

    अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।  

     

    Image Credit- doordarshan/herzindagi

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।