कई बार घर में होने वाली लड़ाई झगड़ों का कारण वास्तु होता है और अनायास ही घर में धन हानि होने लगती है,जिसकी वजह भी वास्तु ही होती है। कई बार घर में किसी वस्तु का गलत जगह पर रखा होना या गलत तरीके से रखा होना घर की खुशियों पर ग्रहण लगा देता है। ऐसा ही एक कारण हो सकता है घर के मंदिर में सही ढंग से भगवान् की मूर्तियों का न होना।

वास्तु के अनुसार घर में मंदिर का स्थान ईशान कोण यानी घर का उत्तर-पूर्व कोने में होना चाहिए, मंदिर का मुख पूर्व या पश्चिम दिशा में होना चाहिए, उत्तर या दक्षिण में नहीं होना चाहिए और मूर्तियों को सही तरीके से व्यवस्थित करना चाहिए। आइये नई दिल्ली के जाने माने पंडित, एस्ट्रोलॉजी और वास्तु विशेषज्ञ, प्रशांत मिश्रा जी से जानें घर की सुख समृद्धि और धन-धान्य के लिए घर के मंदिर में भगवान् की कैसी मूर्तियां नहीं रखनी चाहिए। 

उग्र देवी देवताओं की मूर्ति न रखें 

god in anger

मंदिर में कभी भी उग्र देवी-देवताओं की मूर्ति नहीं रखनी चाहिए जैसे अप्रसन्न या गुस्से की मुद्रा में किसी भी देवता की मूर्ति मंदिर में स्थापित करने से मन में हमेशा अशांति रहती है और घर में लड़ाई झगडे होते हैं। उग्र देवताओं, जैसे- काली माता, भैरव, राहु- केतु, या किसी भी देवी- देवता के क्रोधी या उग्र स्वरूप की मूर्ति या चित्र मंदिर में न रखें, घर की सुख शांति के लिए सदैव भगवान के सौम्य व आशीर्वाद मुद्रा वाली मूर्ति ही मंदिर में रखनी चाहिए।

अंगूठे से अधिक बड़ा शिवलिंग

shiv ling home temple

शिवलिंग सभी लोग घर में स्थापित जरूर करते हैं। लेकिन शिवलिंग कभी भी ज्यादा बड़े आकर का नहीं होना चाहिए। हमेशा हाथ के अंगूठे के बराबर या उससे छोटे आकार का शिवलिंग ही घर में रखें। अंगूठे से अधिक बड़ा शिवलिंग घर में स्थापित करना घर की शांति को नष्ट करता है। वैसे 9 अंगुल से बड़ी कोई भी मूर्ति घर के मंदिर में पूजन के लिए स्थापित नहीं करनी चाहिए। 

इसे जरूर पढ़ें:Santoshi Mata Vrat: शुक्रवार को रखें संतोषी माता का व्रत, घर में आएगी सुख-समृद्धि

Recommended Video

नटराज की मूर्ति

घर के मंदिर में शिव जी की मूर्ती रखना शुभ है , लेकिन भगवान शिव की नटराज स्वरूप की मूर्ति भूलकर भी स्थापित न करें। ये मूर्ति शिव जी के तांडव को दिखती है जो घर में कलह कलेश का कारण भी बन सकती है। 

खड़ी हुई लक्ष्मी जी की मूर्ति

standing akshmi mata

माता लक्ष्मी धन -धान्य की देवी होती हैं। आमतौर पर सभी के घर के मंदिर में माता लक्ष्मी की मूर्ति या तस्वीर रखी जाती है। लेकिन हमेशा माता लक्ष्मी की ऐसी तस्वीर ही स्थापित करें जिसमें वो कमल पर विराजमान हों और  बैठी हुई अवस्था में हों। माता लक्ष्मी की खड़ी हुई मूर्ति भूलकर भी घर के मंदिर में स्थापित न करें अन्यथा कल्याण होने के बाजय कष्टों का और रोग दोष का आगमन होता है। 

पंचमुखी हनुमान जी

panchmukhi hanuman idol 

घर के मंदिर में हनुमान जी की मूर्ति रखना घर की समृद्धि के लिए अच्छा संकेत है लेकिन कभी भी पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति या तस्वीर मंदिर में नहीं रखनी चाहिए। इससे घर में झगडे बढ़ जाते हैं और आर्थिक हानि होती है। 

इसे जरूर पढ़ें:घर की सुख शांति के लिए ना स्थापित करें माता लक्ष्मी की ऐसी मूर्ति

विखंडित मूर्ति 

कभी भी मंदिर में ऐसी मूर्ति न रखें जो कहीं से भी विखंडित हो। विखंडित मूर्ति को तुरंत घर से बाहर कर देना चाहिए। विखंडित मूर्ती रखने से रिश्तों के बीच तनाव की स्थिति बनी रहती है और लड़ाइयां होती हैं। 

एक ही भगवान की एक से अधिक मूर्ति 

many idol ganesha

आमतौर पर देखा जाता है कि घर के मंदिर में एक ही भगवान् की एक से अधिक मूर्तियां होती हैं , जिसकी वजह से घर में अशांति कायम रहती है। कभी भी घर के मंदिर में एक ही भगवान् की एक से अधिक मूर्तियां न रखें। ऐसा करने से धन -धान्य की हानि होती है। यदि आपके पास एक ही भगवान् की एक से अधिक मूर्तियां हैं तो उन्हें मंदिर से बाहर किसी भी स्थान पर रख दें। 

शनि देव की मूर्ति 

shani dev idol

शनि की दृष्टि हमेशा कष्टकारी मानी जाती है। इसलिए लोग शनि देव को प्रसन्न करने के लिए कई तरह के प्रयास करते हैं। कभी भी शनि देव की मूर्ति घर के मंदिर में नहीं रखनी चाहिए। ऐसा करना घर की अशांति का कारण बन सकता है। 

घर के मंदिर में कौनसी मूर्तियां रखें

lord ganesha temple

जाने माने पंडित प्रशांत मिश्रा जी के अनुसार घर के मंदिर में गणेश, गौरी, दुर्गा जी, शिव परिवार, राम दरबार, लक्ष्मी नारायण, शिवलिंग, लड्डू गोपाल, शालिग्राम, हनुमानजी आदि की मूर्ति रख सकते हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik