मेरा मानना है कि आजकल के बच्चे बड़ों से कहीं ज्यादा होशियार हैं। मेरा बेटा सात साल का है और वह जितने रोजाना जितनी तरह के सवाल पूछता है और अपने तर्क का इस्तेमाल करते हुए जिस तरह जनम-मरण से लेकर शरीर विज्ञान की ढेर सारी चीजों पर अपना मत रखता है, उससे मुझे यही लगता है कि आज की पीढ़ी वाकई बहुत इंटेलिजेंट है। हमारे समय में मीडिया का एक्सपोजर लिमिटेड था। कुछ आउटडोर और इंडोरगेम्स को छोड़ दें तो सिर्फ दूरदर्शन और डीडी मेट्रो चैनल मनोरंजन के साधन हुआ करते थे। टीवी पर आने वाले बच्चों के शो, चित्रहार और फिल्मों का हम बेसब्री से इंतजार किया करते थे, वहीं आज के बच्चों के पास मनोरंजन के हजार साधन हैं। सिर्फ एक क्लिक पर वे अपने गेम्स के ऑप्शन सेलेक्ट कर खेलना शुरू कर देते हैं। वॉइस सर्च कर अपने पसंद की कोई भी चीज गूगल से सर्च कर उसके बारे में देखने और पढ़ने लगते हैं। टीवी पर आने वाले ढेर सारे चैनल्स से उन्हें समय से पहले ही काफी ज्यादा जानकारी मिल जाती है। ऐसे में हमारे तेज-तर्रार बच्चों को अगर सही इंस्पिरेशन मिले तो वे अपने भावी जीवन में काफी कुछ अच्छा कर सकते हैं। 

यूं तो पेरेंट्स के तौर पर हम अपने बच्चों को कई तरह की सीख देते हैं, लेकिन अगर अगर यही काम इंस्पायरिंग फिल्मी कहानियों के जरिए दी जाए तो बच्चों को बिना बोर किए काफी कुछ सिखाया जा सकता है। बॉलीवुड में ऐसी कई फिल्में बनी हैं, जो बच्चों को दिखाने के लिहाज से बहुत अच्छी हैं। तो आइए जानते हैं ऐसी कुछ फिल्मों के बारे में-

तारे जमीं पर

अगर आपका बच्चा क्रिएटिव माइंडसेट का है और उसे रेगुलर स्कूली पढ़ाई में चैलेंज का सामना करना पड़ रहा है तो वह मन ही मन बोझिल जरूर महसूस करता होगा। बच्चों की सोच बहुत अनूठी होती है, जबकि हमारी स्कूली पढ़ाई हर बच्चे को एक तरह से ट्रीट करती है। किस बच्चे में किस तरह की काबिलियत है, अगर इसके बारे में पेरेंट्स और टीचर्स समझ जाएं तो बच्चों की पढ़ाई आसान हो जाती है। यह फिल्म देखकर आपका लाडला जरूर समझेगा कि वह भी अगर कोशिश करे तो अपने असंभव से लगने वाले लक्ष्य हासिल कर सकता है, वहीं पेरेंट्स को भी यह फिल्म बहुत धैर्यवान और संवेदनशील बनने की सीख देती है।

चक दे इंडिया

inspiring films for kids inside

शाहरुख खान इस फिल्म में जिस तरह से महिला हॉकी टीम की सदस्यों को इंस्पायर कर देश के लिए मेडल लाने के के लिए इंस्पायर करते हैं, उसे देखकर बच्चे तो बच्चे, बड़े भी इमोशनल हो उठते हैं। बच्चों के साथ-साथ आपको भी यह फिल्म जरूर देखनी चाहिए क्योंकि इसमें खेल में जीत हासिल करने के साथ-साथ महिलाओं के लिए भी संदेश छिपा है-अगर वे ठान लें, तो उनके लिए असंभव कुछ भी नहीं। यही नहीं, यह फिल्म भारतीय होने के गौरव का भी अहसास दिलाती है। 

भाग मिल्खा भाग

यह भी खेल पर आधारित फिल्म है। मिल्खा सिंह की रियल लाइफ स्टोरी पर आधारित इस फिल्म में दिखाया गया है कि मिल्खा सिंह ने देश का सिर गर्व से ऊंचा करने के लिए अपनी जिंदगी में कितनी मेहनत की और अपने खेल के लिए कितना समर्पण किया। अगर हम अपने सपने सच करना चाहते हैं तो हमें उनके जैसा समर्पण दिखाने की जरूरत है। अगर आप एक बार हार भी जाएं तो अपनी लगन और मेहनत के बल पर अपनी मंजिल पा सकते हैं और इस फिल्म में यह बखूबी दिखाया गया है।  

पूर्णा

inspiring films for kids inside

यह फिल्म गांव की एक छोटी सी बच्ची पर आधारित है, जो माउंटेनियर बनने का सपना देखती है। फिल्म में दिखाया गया है कि किस तरह वह अपनी जिंदगी की मुश्किलों का सामना करते हुए अपनी मंजिल की तरफ कदम बढ़ाती है। इस तरह की कहानियों से बच्चे अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में आने वाली परेशानियों का सामना करना सीखते हैं और आत्मविश्वास हासिल करते हैं। 

मैरी कॉम

मैरी कॉम एक ऐसी फिल्म है जो महिला खिलाड़ियों के साथ-साथ मम्मियों को भी खूब इंस्पायर करती है। बच्चों की जिस खेल में रुचि है, उन्हें उसमें अपनी एनर्जी जरूर लगानी चाहिए। मैरी कॉम के पूर्वोत्तर से नेशनल चैंपियनशिप में जाने, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश के लिए ख्याति अर्जित करने से लेकर मां बनने के सफर में कई बड़ी चुनौतियां आईं, लेकिन मैरी कॉम ने इन्हें हंसते-हंसते झेल लिया। उनका यही जज्बा नन्हे चैंपियन्स को उत्साहित करेगा। 

इकबाल

अगर हौसले बुलंद हों तो आपके सामने कितनी ही बड़ी दीवार क्यों ना आ जाए तो आप उसे पार कर ही लेंगे। इस फिल्म से आपके बच्चे कुछ ऐसी ही सीख लेंगे। इस फिल्म में एक स्पेशली चैलेंज्ड बच्चा इकबाल अपने सशक्त किरदार के जरिए जाहिर करता है कि लाख मुश्किलों के बावजूद वह क्रिकेट टीम का हिस्सा बनकर रहेगा। इस फिल्म के जरिए आपके बच्चे अपने लक्ष्य पाने के बारे में संजीदगी से सोचेंगे। 

स्टेनली का डब्बा

inspiring films for kids inside

दोस्तों के बीच अगर अच्छी बॉन्डिंग हो तो बच्चे उससे प्यार, विश्वास, आपसी समझ के साथ-साथ ढेर सारी लाइफ स्किल्स भी सीख लेते हैं। स्टेनली का डब्बा का कहानी भी दोस्तों की ऐसी टोली दिखाती है, जिसे देखकर आपके बच्चे जरूर खुश हो जाएंगे। 

Recommended Video