हिन्दू धर्म के अनुसार कई ऐसे पौधे हैं जिनका पूजा पाठ में विशेष महत्त्व बताया गया है। यही नहीं इन पौधों को घर में एक निश्चित स्थान पर लगाना और इन्हें सही ढंग से स्थापित करने से घर में माता लक्ष्मी का वास भी होता है। ऐसे ही पौधों में से एक है बेल पत्र का पौधा या बिल्व पत्र का पौधा। ऐसी मान्यता है कि जिस घर में ये पौधा होता है उस घर में साक्षात लक्ष्मी जी का वास होता है।

यही नहीं इस पत्ते को नियमित रूप से शिव जी को अर्पित करने से भी माता लक्ष्मी भक्तों पर प्रसन्न होती हैं और सभी मनोकामनाओं को पारा करती हैं। यदि आप घर में सुख समृद्धि लाना चाहते हैं और घर को धन धान्य से भरना चाहते हैं तो इस पौधे को घर में जरूर लगाएं। आइए नई दिल्ली के जाने माने पंडित, एस्ट्रोलॉजी, कर्मकांड,पितृदोष और वास्तु विशेषज्ञ प्रशांत मिश्रा जी से जानें घर में बेल पत्र का पौधा लगाना क्यों शुभ माना जाता है।

शिव पूजा में बेलपत्र का महत्व

shiv pujan remedy

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए उनकी पूजा में बेलपत्र के प्रयोग का विशेष महत्त्व है। पंडित प्रशांत मिश्रा जी बताते हैं कि यदि आप रोज़ नए बेल पत्र नहीं चढ़ा सकती हैं तो एक ही बेल के पत्र को बार-बार धोकर इस्तेमाल कर सकती हैं। घर में यदि बेल पत्र का पौधा होता है तो ये शिव पूजन में विशेष रूप से इस्तेमाल होता है। इस पौधे को घर में लगाने से भी आपको अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। इस पौधे को घर में जरूर लगाएं यदि आपके पास कोई बड़ी जगह नहीं है तो गमले में ही इसे लगा सकती हैं और जब ये बढ़ा हो जाए तब इसे किसी मंदिर या धार्मिक स्थल पर दान दे सकती हैं। बड़ा पौधा दान में देकर इस गमले में ही आप दूसरा बेल का पौधा लगा सकती हैं। जी हां, अगर आपके पास अपना अहाता नहीं है तो गमले में भी यह पौधा लगा सकते हैं। अधिक बड़ा होने पर किसी मंदिर में इसे दान कर दें और दूसरा पौधा लगाएं।

घर में पवित्रता लाता है बेल पत्र

शिव पुराण में घर पर बेल का वृक्ष लगाने के फायदों का उल्लेख किया गया है। इसके अनुसार जिस स्थान पर या घर में यह पौधा होता है वह स्थान काशी तीर्थ के समान पवित्र और पूजनीय स्थल बन जाता है। ऐसी जगह पर साक्षात माता लक्ष्मी निवास करती हैं और सभी पापों से मुक्ति मिलती है। या घर सभी प्रकार की तंत्र बाधाओं से मुक्त होते हैं। जिस घर में बेल का वृक्ष हो वहां रहने वाले सभी सदस्यों को अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है।

बेल के पौधे से घर में होता है लक्ष्मी का वास

goddess lakshmi

कहते हैं शिव को बिल्वपत्र चढ़ाने से लक्ष्मी की प्राप्ति होती है क्योंकि बिल्वपत्र की जड़ में साक्षात लक्ष्मीजी का वास होता है। इसीलिए इसके वृक्ष को श्रीवृक्ष भी कहा जाता है। इसकी पूजा करने से धन लाभ और लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। कहा जाता है जिस घर में ये पौधा होता है उसमें साक्षात माता लक्ष्मी का वास होता है और घर धन धान्य से भरा रहता है। इस वृक्ष की जड़ में घी, अन्न, खीर या मिष्ठान्न दान अर्पित करने से दरिद्रता का नाश होता है और कभी भी धनाभाव नहीं रहता है।

बेल पत्र पौधे से समस्त तीर्थों का मिलता है फल

मान्यतानुसार ये पौधा इतना शुभ होता है कि बिल्वपत्र के वृक्ष की जड़ का जल अपने माथे पर लगाने से समस्त तीर्थ यात्राओं का पुण्य प्राप्त होता है। इसमें नियमित जल चढ़ाने और शिव पूजन में इसका इस्तेमाल करने से कई जन्मों के फलों की प्राप्ति के साथ कई तीर्थ यात्राओं के बराबर फल मिलता है। इसलिए बेल पत्र का पौधा घर में अवश्य लगाना चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें:क्या आप जानते हैं शिवलिंग की पूरी परिक्रमा क्यों नहीं करनी चाहिए

Recommended Video

सही दिशा में लगा बेल का पौधा लाता है सम्पन्नता

घर की सही दिशा में बेल का पौधा लगाना विशेष रूप से लाभकारी माना जाता है। उत्तर-पश्चिम दिशा में लगा बेल का पौधा वहां रहने वाले हर सदस्य को यशस्वी और तेजवान बनाता है। इसलिए सम्मान तथा प्रसिद्धि पाने के लिए इसे घर की इसी दिशा में लगाएं। घर के उत्तर-दक्षिण दिशा में लगा बेल का पौधा परिवार को आर्थिक संपन्नता देता है। ऐसे परिवार का हर व्यक्ति धनवान बनता है और कभी भी उन्हें धन की कमी नहीं होती। कर्ज से मुक्ति के लिए भी इस दिशा में बेल का पौधा लगाना चाहिए।

कब न तोड़ें बेल की पत्तियां

bel patra leaves

मान्यता है कि आपको भूलकर भी किसी भी माह की अष्टमी, अमावस्या, पूर्णिमा तिथि अथवा सोमवार के दिन बेलपत्र नहीं तोड़ने चाहिए। यदि आपको सोमवार को बेलपत्र चढ़ाना है तो इसे एक दिन पहले ही तोड़कर रख लें। इसे पुनः धोकर चढ़ा सकते हैं। घर में यदि बेल पत्र का पौधा लगा होता है तो आप जिस दिन इसे नहीं तोड़ सकते हैं उसके एक दिन पहले ही इसकी पत्तियां तोड़कर रख सकते हैं।

उपर्युक्त सभी कारणों से आपको घर में बेल पत्र का जरूर लगाना चाहिए जिससे माता लक्ष्मी की कृपा तो बनी ही रहती है साथ ही , शिव कृपा भी प्राप्त होती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik and shutterstock