नए वर्ष का दूसरा महीना फरवरी अपने साथ कई तीज-त्‍यौहार लेकर आता है। इस महीने कई बड़े पर्व आते हैं, जिन्‍हें रीति-रिवाज और हर्षोल्‍लास के साथ मनाया जाता है। इस वर्ष यह महीना इस लिए भी खास है क्‍योंकि इस बार फरवरी में वसंत पंचमी का त्‍यौहार आ रहा है। इस त्‍यौहार के धार्मिक महत्‍व तो हैं ही, साथ ही इस पर्व के साथ ऋतु परिवर्तन भी होता है। 

इस वर्ष फरवरी में बसंत पंचमी के अलावा और भी कई बड़े त्‍यौहार पड़ रहे हैं, जिनमें से षटतिला एकादशी, मौनी अमावस्‍या और जया एकादशी बेहद महत्‍वपूर्ण हैं। आइए इन तीज-त्‍यौहारों की तारीख, शुभ मुहूर्त और विशेषता जानते हैं। 

फरवरी 2021 के तीज-त्यौहार की लिस्‍ट 

1. 7 फरवरी , षटतिला एकादशी

2. 11 फरवरी , मौनी अमावस्या

3. 16 फरवरी , बसंत पंचमी 

4. 23 फरवरी, जया एकादशी 

5. 27 फरवरी, माघ पूर्णिमा

इसे जरूर पढ़ें: Festivals Calendar 2021: जानें वर्ष 2021 के तीज-त्‍यौहार और उनके शुभ मुहूर्त

february    holidays

षटतिला एकादशी

दिनांक: 7 फरवरी 2021

शुभ मुहूर्त : 7 फरवरी 2021 सुबह 06:26 से  शुरू हो कर 8 फरवरी 2021 सुबह 04:47 तक 

षटतिला एकादशी के दिन भी भगवान विष्णु का पूजन किया जाता है। ऐसी मान्‍यता है कि इस दिन तिल का दान, तिल के पानी से स्‍नान और तिल से तर्पण करने पर सभी पापों का नाश होता है। इस दिन भगवान विष्‍णु के बैकुण्ठ रूप की पूजा होती है। ऐसा कहा जाता है, जो व्‍यक्ति इस दिन तिल का दान करता है और तिल से भगवान विष्‍णु की पूजा करता है, उसे बैकुण्‍ठ की प्राप्ति होती है। 

मौनी अमावस्या

दिनांक: 11 फरवरी 2021

शुभ मुहूर्त : फरवरी 11, 2021 को सुबह 01:48 बजे से अमावस्या आरम्भ हो कर फरवरी 12, 2021 को 00:12 पर समाप्त हो जाएगी 

हिंदू पंचांग के अनुसार इस वर्ष मौनी अमावस्‍या 11 फरवरी को मनाई जाएगी। माघ माह की अंतिम तिथि पर पड़ने वाली इस अमावस्‍या को हिंदू धर्म में बहुत ही महत्‍वपूर्ण माना गया है। पुराणों में कहा गया है कि इस दिन देवतागण पवित्र नदी गंगा में स्‍नान करने के लिए पृथ्‍वी पर आते हैं। इसलिए मौनी अमावस्‍या के दिन गंगा स्‍नान करने को बहुत ही शुभ माना गया है। इस दिन दान-पुण्य का भी विशेष महत्व है। मौनी अमावस्‍या पर मौन रहने की परंपरा है। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन जो पूरे दिन मौन रहता है उसे मुनि पद की प्राप्ति होती है। 

basant  panchami   new

बसंत पंचमी 

दिनांक: 16 फरवरी 2021

शुभ मुहूर्त : 16 फरवरी  सुबह 03:36 बजे पर पंचमी शुरू होगी और अगले दिन 17 फरवरी को सुबह 05: 46 बजे समाप्त होगी

हिंदू कैलेंडर के अनुसार बसंत पंचमी माघ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाई जाती है। हिंदू धर्म में इस दिन को बेहद महत्‍व दिया गया है क्‍योंकि इस दिन ज्ञान की देवी माता सरस्वती की पूजा होती है। इतना ही नहीं, इस दिन से शरद ऋतु समाप्‍त हो कर वसंत ऋतु की शुरुआत होती है। इस दिन पीले कपड़े पहनने की परंपरा है, ऐसा कहा जाता है कि इस दिन विद्यार्थियों को अध्‍ययन जरूर करना चाहिए। साथ ही वसंत पंचमी से अच्‍छे कार्य भी शुरू होते हैं। 

 

जया एकादशी 

दिनांक: 23 फरवरी 2021

शुभ मुहूर्त : 23 फरवरी सुबह 06:55 बजे पर एकादशी शुरू होगी और अगले दिन 24 फरवरी को सुबह 09:00 बजे समाप्त होगी

माघ शुक्‍ल पक्ष की एकादशी को 'जया एकादशी' कहा जाता है। यह एकादशी पुण्‍यदायी होती है, इस एकादशी पर जो भी भगवान विष्‍णु की पूजा करता है उसे अगले जन्‍म में अच्‍छी योनि में जाने का सौभाग्‍य प्राप्‍त है। 

माघ पूर्णिमा

दिनांक: 27 फरवरी 2021

शुभ मुहूर्त : पूरे दिन 

माघ मास का समापन इस वर्ष 27 फरवरी 2021 को हो रहा है। इस दिन चंद्र देव की पूजा की जाती है, इसके साथ ही आप दान-पुण्‍य भी कर सकते हैं। आप इस दिन भगवान विष्‍णु के लिए उपवास भी रख सकते हैं और उनकी पूजा भी कर सकते हैं। इस दिन किसी पवित्र नदी में स्‍नान करने का भी अलग ही महत्‍व है। ऐसा कहा जाता है कि, जो व्‍यक्ति इस दिन दान-पुण्‍य और पवित्र नदि में स्‍नान करता है, वह अपने द्वारा किए गए पिछले सभी पापों से मुक्‍त हो जाता है। 

यह आर्टिकल आपको अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें और साथ ही इसी तरह के और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिदंगी से। 

Image credit:Freepik