बॉलीवुड सिंगर का क्रेज किसी एक्टर से कम नहीं होता। अपनी आवाज से वह लाखों दिलों को जीत लेते हैं, हालांकि, मौजूदा समय में बॉलीवुड में सिंगर की संख्या काफी बढ़ गई है। समय के साथ लोगों के फेवरेट सिंगर की लिस्ट भी बदलती रहती है। हालांकि, आज भी जब गानों की बात आती है, तो 90 के दशक के गानों का जिक्र जरूर किया जाता है। उस वक्त एक से बढ़कर एक गाने हुआ करते थे, जिसे आज भी लोग सुनना पसंद करते हैं।

वहीं 90 के दशक में हिट सिंगर की बात आती है तो हम हमेशा उदित नारायण और अलका याज्ञनिक जैसे सिंगर की बात करते हैं, लेकिन इसके अलावा भी कई ऐसे सिंगर हैं, जिन्होंने कई धमाकेदार गाने गाए। उनकी आवाज लोगों के दिल में इस कदर छाई कि वह बार-बार एक ही गाने को सुनना पसंद करने लगे। बता दें कि 90 के दशक में कई ऐसे बॉलीवुड सिंगर रहे हैं, जो अपनी आवाज से लोगों के दिल पर राज किया करते थे, लेकिन आज वह इंडस्ट्री से गायब हैं। आइए जानते हैं इन सिंगर्स के बारे में -

अभिजीत भट्टाचार्य

Abhijeet Bhattacharya

90 के दशक में सबसे चहते सिंगरों में से एक रहे हैं अभिजीत भट्टाचार्य। उनकी आवाज का जादू लोगों के सिर चढ़कर बोलता था। 1994 में आई फिल्म ये दिल्लगी का गाना ओले-ओले काफी हिट हुआ था। इसके अलावा शाहरुख खान और जूही चावला पर फिल्माया गाना मैं कोई ऐसा गीत गाऊं के लिए अभिजीत भट्टाचार्य को फिल्मफेयर बेस्ट मेल प्लेबैक अवार्ड मिला था। इसके बाद उन्होंने ये तेरी आँखें झुकी-झुकी,ऐ नाजमी सुनो ना, आँखे भी होती हैं दिल की जुबां जैसे कई हिट गाने गाए हैं। 90 के दशक में उन्होंने बैक टू बैक कई हिट गाने गाए। हालांकि, कुछ सालों से वह गिनी-चुनी गानों को गाने लगे। पिछले साल रिलीज फिल्म कुली नंबर वन में उन्होंने 'हुस्न है सुहाना' गाया था। हालांकि, यह गाना लोगों को खास पसंद नहीं आया।

इसे भी पढ़ें:बॉलीवुड की ये हसीनाएं ले चुकी हैं मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग

शान

shaan singer

90 के दशक में हिट सिंगर की बात की जाए तो शान का भी नाम आता है। हालांकि, 90 के बाद भी उन्होंने कई हिट गाने गाए, जो लोगों को बीच काफी पॉपुलर हुआ। शान काफी समय से बॉलीवुड से दूर है। म्यूजिक एल्बम से अपने करियर की शुरुआत करने वाले शान ने मुसु मुसु हासी, वो पहली बार, प्यार में कभी-कभी जैसे कई हिट गाने दिए हैं। उन्होंने बॉलीवुड में हिप हॉप से लेकर गजल तक गाए हैं। फना और सांवरिया जैसी फिल्मों में उनके गानों को खूब पसंद किया गया था। हालांकि, काफी समय से बॉलीवुड फिल्मों में उनकी आवाज को नहीं सुना गया है।

कविता कृष्णमूर्ति

kavita krishnamurthy

चार बार फिल्म अवार्ड जीतने वाली कविता कृष्णमूर्ति ने एक नहीं बल्कि कई हिट गाने दिए हैं। उन्होंने आर डी बर्मन और ए आर रहमान सहित कई संगीतकारों के साथ काम किया है। 'प्यार हुआ चुपके से', 'मेरे पिया घर आए', 'आज मैं ऊपर आसमां नीचे' जैसे सॉन्ग उनकी हिट लिस्ट में शामिल है। आखिरी बार उन्होंने फिल्म तुम्हारी सुलु में हवा हवाई गाना गाया था। नए वर्जन के इस गाने में उनकी आवाज को काफी पसंद किया गया था, लेकिन 90 के हिट गानों की तरह यह सॉन्ग अधिक हिट नहीं हो पाया। कविता कृष्णमूर्ति काफी समय से लाइमलाइट से दूर हैं और गिनी-चुनी सॉन्ग को ही सेलेक्ट करती हैं।

अनुराधा पौडवाल

anuradha paudwal

90 के दशक में हिट सिंगर की लिस्ट में अनुराधा पौडवाल का भी नाम आता है। भले ही वह लाइमलाइट से दूर रहती हैं, लेकिन एक वक्त जब लोग उनकी आवाज के दीवाने हुआ करते थे। उन्होंने अपने करियर में 5 हजार से ज्यादा गाने गाए हैं। यही नहीं सिंगर करीब 15 बार फिल्म फेयर अवार्ड के लिए नॉमिनेट भी हो चुकी हैं। जिसमें वह 4 बार विजेता भी रही हैं। साल 1992 में रिलीज फिल्म बेटा का गाना धक-धक से वह बॉलीवुड में हिट हुई थी। हालांकि, बाद में वह भक्ति गीत गाना ज्यादा पसंद करने लगी। नजर के सामने, दिल है कि मानता नहीं जैसे कई गाने हैं, जो उनकी हिट लिस्ट में शामिल हैं।

साधना सरगम

sadhana sargam

साधना सरमग काफी समय तक अपनी आवाज से लोगों का दिल जीतती रहीं। राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता सिंगर ना केवल फिल्मों में बल्कि भक्ती गीत, शास्त्रीय संगीत, गजल, एलबम जैसे कई हिट परफॉर्मेंस दिए हैं। 90 के दशक में हमने घर छोड़ा है, तेरी उम्मीद तेरा इंतज़ार करते हैं, सुबह से लेकर शाम तक जैसे कई हिट गाने गाए हैं। लेटेस्ट गानों की बात करें तो फिल्म दम लगा के हईशा में उन्होंने दर्द करारा गाना गाया था, जो लोगों को काफी पसंद आया। तीन दशक से ज्यादा समय तक लोगों के दिल पर राज करने वाली साधना सरगम अब गिनी-चुनी फिल्मों के लिए गाना गाती हैं।

इसे भी पढ़ें: फिल्में जिन्हें किसी दूसरे एक्टर को ध्यान में रखकर लिखा गया था

Recommended Video

विनोद राठौड़

vinod rathore

विनोद राठौड़ भले ही लाइमलाइट से दूर रहते हैं, लेकिन एक वक्त था जब उनके गाने लोगों के जुबां पर रहते थे। उन्हें 1993 और 1994 में बेस्ट मेल प्लेबैक सिंगर के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार के लिए दो बार नॉमिनेट हुए थे। उन्होंने ऐसी दिवानगी देखी नहीं कहीं, नायक नहीं खलनायक हूं मैं, छुपाना भी नहीं आता जैसे कई हिट गाने गाए हैं। उन्होंने मुन्नाभाई फिल्म के लिए भी गाना गाया था, लेकिन आज वह लाइमलाइट से दूर हैं। उन्होंने काफी समय से बॉलीवुड फिल्मों के लिए गाने नहीं गाए हैं। 

उम्मीद है कि यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। साथ ही, आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें कमेंट कर जरूर बताएं और इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हर जिंदगी के साथ।