बचपन में राजा और रानी की कई कहानियां आपने सुनी होंगी। आज भी बच्‍चों को ये कहानियां सुनाई जाती हैं। सुंदर रानी और राजा की जोड़ी और खूबसूरत सा महल इन कहानियों की विशेषता होती।कई बार कहानियां सुन कर हम इतना प्रभावित हो जाते हैं ि‍कि सोचने लगते हैं कि इनका संसार कितना सुंदर होता है। ऐसी जगह जाने का मन भी करने लगता है। भारत में ऐसी बहुत सारी जगह है जहां पहले राजा रानी और उनके महल हाते थे। मगर भारत में अब राजा रानी और उनके महल को देखना संभव नहीं है। दरअसल, भारत में लोकतंत्र स्‍थापित किया जा चुका है और राजा रानी वाला कलचर अब यहां नहीं चलता।

हालाकि आज भी यहां कई ऐसे स्‍थान हैं जहां रॉयल फैमिलीज रहती हैं मगर देश पर अब उनका राज नहीं चलता और न ही अब वे उतनी रॉयलटी के साथ रहती हैं, जितना की पहले के समय में रहा करती थीं। मगर यह कहना कि दुनिया में अब कहीं भी राजा रानी नहीं रहते तो, यह गलत होगा। आज भी कुछ ऐसे देश हैं जहां पर राजाओं का ही शासन चलता है। आज भी इन देशों में प्रधानमंत्री और राष्‍ट्रपति नहीं होते बल्कि राजा ही देश को चलाता है। आज कुछ ऐसे ही देशों के बारे में हम आपको बताऐंगे। 

Read More: इस देश में पति अगर भूल जाए पत्‍नी का बर्थ डे तो हो जाता है अनर्थ

these countries still govern by kings     ()

ब्रुनेई के राजा रहते हैं सोने के महल में 

इंडोनेशिया के पासा स्थित ब्रुनेई एक इस्‍लामिक देश है। इस देश में आज भी राजतंत्र चलता है। यहां के राजा सुल्‍तान हसन अल बोल्कियाह दुनिया के सबसे से ज्‍यादा दौलतमंद लोगों में से एक है। उनके पास 1363 अरब रुपए के बराबर की दौलत है और वह सोने के महल में रहते हैं । उनके महल की कीमत ही 2387 करोड़ रुपए है। 20 लाख स्‍क्‍वायर फीट एरिया में बने इस महल को चीन की फॉरबिडन सिटी में बने महल के बाद दूसरा सबसे बड़े महल होने का दर्जा मिला हुआ है। 

इस महल में 1500 से भी अधिक कमरे हैं और सभी 22 कैरेट सोने से बने हुए हैं। इस महल साल में एक बार 3 दिन के लिए आम जनता के लिए खोला जाता है। यहां एक मस्जिद है जहां पर एक साथ 1500 लोग बैठ कर नमाज पढ़ सकते हैं। रमजान की महीने में यह महल 3 दिन के लिए ही खुलता है। इसलिए अगर आप इस महल को देखना चाहती हैं तो रमजान के समय ही ब्रुनेई आने का प्‍लान बनाएं। 
 

these countries still govern by kings     ()

भूटान में रहते दुनिया के सबसे हैपी लोग 

जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक भूटान के पांचवें राजा और वांगचुक वंश के मुखिया हैं। दुनिया भर के देशों के मुखियाओं में जिग्‍मे उम्र में सबसे कम हैं। दिसंबर 2006 से अबतक जिग्‍मे देश के राजा बने हुए हैं। वैसे इस देश में प्रधानमंत्री और राष्‍ट्रपति हैं मगर राजा का दर्जा सबसे बड़ा होता है। देश के सभी काम में राजा की ही चलती है। भूटान दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जहां, जीवन स्तर को जीडीपी से नहीं बल्कि ग्रॉस नेशनल हैप्पीनेस यानि खुशी के स्तर से नापा जाता है। ये कॉन्सेप्ट राजा जिगमे सिंग्याए वांगचुक ही देश में लेकर आए थे। वह चाहते हैं कि भुटान को दुनिया में सबसे ज्‍यादा खुश रहने वालों का देश बनाया जाए। वैसे अपने देश की संस्‍कृति को बचाए रखने के लिए राजा द्वारा बेहद कड़े कदम यहां उठाए गए हैं। जहां दुनिया भर में इंटरनेट बोलबाल वहीं इस देश में इंटरनेट, स्‍मार्टफोन और दूसरी आधुनिक चीजों को बड़ा ही लिमिटेट इस्‍तेमाल होता है। वैसे भुटान भारत का पड़ोसी देश है और यह इतना खूबसूरत है किया यहां पर कभी भी घूमने आया जा सकता है फिर भी आप यहां गरमियों के मौसम में आए तो बहतर होगा क्‍योंकि यहां सदिर्यों के मौसम में बेहद ठंड होती है। आपको बता दें कि भुटान में घूमना फिरना और रहना सब कुछ बहुत सस्‍ता है। यहां का खाना भी लगभग भारत जैसा ही है। यहां आने के लिए आपको वीजा लेने की भी जरूरत नहीं है। 

these countries still govern by kings     ()

सोने की कार से चलता है सऊदी अरब का राजा 

इस देश में राजा का ही फरमान चलता है। देश के राजा को सलमान कहा जाता है। देश के सारे बड़े फैसले लेने का हक केवल राजा को होता है। इसके अतरिक्त सऊदी अरब का किंग दो पवित्र मस्जिदों मस्जिद अल-हरम और मस्जिद-अल-नबवी का संरक्षक भी होता है। वैसे यहां की रजागद्दी पर पिता के बाद पुत्र के बैठने का कलचर है मगर जिस राजा के पुत्र नहीं होता वह इसके लिए चुनाव करवा कर अपना उत्‍तराधिकारी चुनता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस देश के राजा के पास अपना एक पर्सनल प्‍लेन है जिसके अंदर का इंटीरियर किसी आलीशान महलों जैसा है। इसके साथ इस देश का राजा सोने की कार पर सावार होकर ही कहीं आता जाता है। देश की राजधानी रियाद और जद्दा में आप ट्रिप प्‍लान कर सकते हैं। आपको बता दें चर्चित आतंकवादी ओसामा बिन लादेन इस देश का था। आज भी उसके परिवार के लोग जद्दा में रहते हैं। 

these countries still govern by kings     ()

स्वाजीलैंड के राजा की हैं 15 बीवियां और 30 बच्‍चे  

2015 में जब भारत में भारत-अफ्रीका शिखर सम्‍मेलन हुआ था तब एक देश के राजा अपनी 15 पत्‍नीयों और 30 बच्‍चों और 100 नौकरों के साथ आए थे। यह राजा और कोई नहीं बल्कि स्‍वाजीलैंड के राजा मस्वाती III थे। जी हां, इस देश के राज आज भी 1 से अधिक शादियां कर सकते हैं। मगर स्‍वाजीलैंड एक बेहद गरीब देश है और यहां 90 प्रतिशत लोग गरीबी रेखा से नीचे आते हैं। यहां प्रति व्‍यक्ति का एक दिन का खर्च केवल 80 रुपए है। इस देश की एक और खासियत है कि यहां पर दुनिया में सबसे ज्‍यादा एड्स के मरीज मिलते हैं। इन सबके बावजूद राजा मस्वाती III फॉर्ब्‍स की लिस्‍ट में शामिल सबसे ज्‍यादा अमीर लोगों में से एक हैं। 

इस देश की एक परंपरा है कि हर साल यहां एक राष्‍ट्रीय समारोह होता है जिसमें देश की सभी कुवांरी लड़कियों की परेड निकाली जाती है। इस परेड में राजा अपने लिए एक रानी चुनता है। चुनी हुई लड़की को कुछ समय तक महल में राजा की प्रेमिका के रूप में रखा जाता है इसके बाद जब वह गर्भवती हो जाती है तो राजा उससे शादी कर लेता है। इस देश में आना चाहें और राजा की लाइफस्‍टाइल देखाना चाहें तो अगस्त/सितम्बर में आयोजित उम्हलांगा समारोह, और दिसंबर/जनवरी में आयोजित इंक्वाला समारोह के दौरान यहां आ सकती हैं। 

these countries still govern by kings     ()

बहरीन में राजा के हैं सख्‍त कानून 

बहरीन 30 से अधिक आइलैंड्स पर बसा हुआ है। यहां आज भी राजा का शासन चलता है। यहां के तानाशाह हमद बिन इसा अल खलीफा हैं, जिन्‍हें 2002 में देश की सत्‍ता मिली थी। यह देश कई मायनों में खास है। सबसे बड़ी खासियत तो यही हैं कि यह दुनिया का पहला देश है जिसे  1932 में पेट्रोलियम की खोज की थी। यहां पर राजा का अपमान करने वालों के लिए सख्‍त कानून हैं। राजा के नाम और तस्‍वीर के साथ छेड़खानी करने वाले तक को जेल हो जाती है। 

these countries still govern by kings     ()

यूएई में राजा होता है देश का स्‍वामी 

देश की राजधानी अबुधाबी में शेख चुना जाता है जिसे देश के स्‍वामी का दर्जा दिया जाता है। मौजूदा समय में यूएई के शेख खलीफा बिन जाएद अल नाह्येन हैं और उन्‍हें देश के प्रधानमंत्री का दर्जा भी दिया गया है। इस देश में शेख की तानाशाही नहीं चलती और यहां पर बेहद स्‍मूद तरीके लोग अपनी लाइफ को एंज्‍वॉय करते हैं।

अच्‍छी बात यह है कि यूएई के दुबई शहर में भारत के कई नागरिक रहते हैं और यहां पर भारतीयों को बहुत पसंद किया जाता है। हालही में भारत के पीएम नरेंद्र मोदी ने दुबई में पहले हिंदू मंदिर को इनॉग्रेट किया है। इस मंदिर को बनाने के जमीन खुद देश के शेख ने दी थी।