नवरात्रि के व्रत में सात्विक भोजन किया जाता है। सिंघाड़े का आटा इस सात्विक भोजन में ही शामिल होता है। दरअसल सिंघाड़ा एक फल है जिसके कारण इसके आटे की गिनती अन्न में नहीं होती है। इस कारण ही सिंघाड़े के आटे की पूड़ी खाकर लोग नवरात्र का व्रत रखते हैं। अगर आप भी इससाल नवरात्र केे व्रत रख रही हैं तो शाम को सिंघाड़े की नमकीन बर्फी खाकर नवरात्र का व्रत रखें। इससे आपको व्रत के दौरान बीपी लो होने की समस्या नहीं होगी और आप हेल्दी तरीके से नवरात्र केे व्रत भी रख सकेंगी।  

सिंघाड़े के आटे में कार्बोहाइड्रेट, स्टार्च, विटामिन बी -6, रिबॉफ्लेविन आदि प्रचुर मात्रा में होता है। इस कारण ही इसे व्रत के दौरान खाने से हेल्थ पर भूखे रहने का कोई असर नहीं होता है। ये रही सिंघाड़े की नमकीन बर्फी बनाने की रेसिपी।

ऑब्जेक्टिव्स

  • रेसिपी क्विज़ीन : इंडियन
  • कितने लोगों के लिए : 2 - 4
  • समय : 15 से 20 मिनट
  • मील टाइप : वेज

सिंघाड़े की नमकीन बर्फी बनाने के लिए जरूरी चीजें 

singhare ki namkeen burfi inside

  • ¾ कप सिंघाड़े का आटा 
  • ¾ कप खट्टा दही
  • 2-4 हरी मिर्च 
  • स्वादानुसार सेंधा नमक 
  • 1½ बड़ा चम्मच घी
  • 1 कप पानी 
  • स्वादानुसार नींबू का रस 
  • 1 बड़ा चम्मच कटा हुआ हरा धनिया

    Recommended Video

 

सिंघाड़े की नमकीन बर्फी बनाने की विधि

singhare ki namkeen burfi inside

  • सबसे पहले एक कड़ाही में आधा बड़ा चम्मच घी गरम करें। फिर उसमें सिंघाड़े का आटा डालें और उसे सुनहरा होने तक फ्राई करते रहें। इस प्रक्रिया में 10-12 मिनट का समय लगता है।
  • जब आटा अच्छी तरह से भुन जाए तो उसे एक घी से चिकनी की गई थाली में निकालें। 
  • अब हरी मिर्च के डंठल को अलग कर उसे बारीक काट लें। 
  • दही को अच्छे से फेंटकर उसमें 1 कप पानी मिलाएं। 
  • अब एक कड़ाही में थो़ड़ा सा घी डालकर गर्म करें और उसमें कटी हरी मिर्च को फ्राई करें। कुछ देर बाद इसमें पानी मिले दही के घोल को डाल दें। जब इस दही में उबाल आजाए तो उसमें भुना आटा और सेंधा नमक डालें। फिर सभी सामग्रियों को अच्छी तरह से मिलाएं। अब इसे चलाते हुए पकाए। आटे को पकने में 3 से 4 मिनट का समय लगता है। 
  • जब आटे का सारा पानी सूख जाए और वह हलवे की तरह दिखने लगे तो गैस बंद करें। फिर आटे में ऊपर से नींबू का रस मिलाएं। 
  • अब इस मिश्रण को पहले से चिकनी करी थाली में आधा इंच मोटी परत में बराबर से फ़ैलाएं।
  • फिर इसे ठंडा होने दें। जब ये ठंडा हो जाए तो मनचाहे आकार में बरफी को काट लें। 

चटनी के साथ खाएं

सिंघाड़े की नमकीन बर्फी तैयार है। अब इसे आप फलाहारी चटनी या फिर दही के साथ खा सकती हैं।