टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत कल से यानि 23 जुलाई से होने वाली है।  इस महा खेल में भारत की तरफ से अलग-अलग खेलों में लगभग 127 खिलाड़ी हिस्सा लेने वाले हैं।  इन 127 में से 56 महिला खिलाड़ी भी शामिल है। पिछले कुछ वर्षों से खेल के फील्ड में जिस तरह से महिलाओं का दबदबा बड़ा है वो सच में भारत के लिए एक मिशाल है।  ओलंपिक में भी भारतीय महिला खिलाड़ी बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं। इस महा खेल में 10 मीटर महिला एयर पिस्टल में भारत की शान यशस्विनी सिंह देसवाल भी शामिल है।

पिछली बार आपने भारतीय भारतीय महिला हॉकी टीम की शान मोनिका मलिक के बारे में ज़रूर जाना होगा। इस बार हरजिंदगी आपको एयर पिस्टल महिला खिलाड़ी यशस्विनी सिंह देसवाल से रूबरू करा रही है, तो आइए जानते हैं।

कहां की रहने वाली हैं यशस्विनी सिंह देसवाल?

yashaswini singh deswal

यशस्विनी सिंह देसवाल का जन्म 30 मार्च 1997 को हरियाणा के पंचकूला में हुआ था। बचपन से ही यशस्विनी को खेलों से लगाव था। पंचकुला में ही उन्होंने प्रारंभिक पढ़ाई की है। जब भारत में 2010 में कॉमनवेल्थ गेम्स हो रहे थे तो यशस्विनी टीवी पर देख रही थी। इसके बाद उन्होंने अपने दिमाग में ये बात रख ली थी कि वो एक दिन शूटिंग में देश लिए पदक हासिल करेंगी।

लगभग 15 साल के उम्र से ही यशस्विनी ने खेलना शुरू कर दिया था। इसके लिए उनके माता-पिता ने पंचकूला में अपने घर पर ही अभ्यास के लिए एक शूटिंग रेंज बना लिया था। यशस्विनी इस शूटिंग रेंज में हर रोज तैयारी करती थी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यशस्विनी के पिता एक पुलिस महानिरीक्षक (रिटायर्ड) जो कि एक अंतरराष्ट्रीय शूटर भी हैं। 

इसे भी पढ़ें: Olympic Tokyo 2021: भारतीय महिला निशानेबाज अपूर्वी चंदेला के बारे में जानें ये 5 रोचक बातें

यशस्विनी सिंह देसवाल के लिए चुनैतियां 

about yashaswini singh deswal  meter air pistol tokyo olympics

यशस्विनी को माता-पिता से भरपूर सहयोग मिला। यहीं कारण है कि वो निरंतर अपने खेल में आगे बढ़ते रही। लेकिन, शुरूआती दिनों में पढ़ाई के साथ-साथ प्रैक्टिस और परीक्षाओं के अलावा अन्य चीजों के लिए समय निकालना बेहद भी मुश्किल भरा रहा था। कुछ दिन पहले ही एक इंटरव्यू में कहा था 'मेरे माता-पिता ने मुझे बहुत हेल्प किया है'। (भारतीय महिला हॉकी खिलाड़ी मोनिका मलिक के बारे में जानें)

Recommended Video

यशस्विनी सिंह देसवाल की उपलब्धियां   

yashaswini singh deswal  meter air pistol

  • साल 2014 में यशस्विनी सिंह ने चीन में यूथ ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया उसके बाद फिर से पीछे मुड़कर नहीं देखा। चीन में क्वालीफाई मैच में वो छठे स्थान पर रही। 
  • साल 2014 में उन्होंने एशियन चैंपियनशिप में जूनियर में रजत पदक जीता। 2014 में ही उन्होंने आईएसएसएफ जूनियर विश्व कप में महिला टीम को कांस्य पदक दिलाने में अपना अहम योगदान दिया।
  • यशस्विनी सिंह देसवाल ने रियो डी जेनेरियो में आयोजित 2019 आईएसएसएफ विश्व कप में स्वर्ण पदक हासिल कर 2021 टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा अपने नाम करने में कामयाब रही।

इसे भी पढ़ें: टोक्यो ओलंपिक में इंडियन वुमन हॉकी टीम की प्लेयर हैं उदिता दुहन, जानिए इनके बारे में


कब है क्वालीफाइंग मैच है?

टोक्यो ओलंपिक में 25 जुलाई से 10 मीटर एयर पिस्टल क्वालीफाइंग मैच है। अगर यशस्विनी सिंह देसवाल क्वालीफाइंग अपने नाम करती है, तो आगे बढेंगी। भारत को उम्मीद है कि इस बार 10 मीटर एयर पिस्टल में यशस्विनी सिंह देसवाल देश पदक ज़रूर जीतेंगी।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।