जापान के लोग अपने स्वास्थ्य और लंबी उम्र के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्द हैं। यही नहीं जब सबसे ज्यादा उम्र तक जीवित रहने की बात आती है तब भी जापान के ही लोग सामने आते हैं। हाल ही में जापान की 107 साल की जुड़वा बहनों ने सबसे लंबी उम्र तक जिन्दा रहने का रिकॉर्ड बना लिया है और गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम पेज पर हाल ही में एक पोस्ट साझा की है जिसके बाद से जापान की दो जुड़वां बहनें चर्चा में आ गयी हैं।

ये दोनों बहनें सबसे ज्यादा उम्र की जीवित महिलाएं हैं। इससे पहले ये रिकॉर्ड जापान के जिरोइमॉन किमूरा के नाम था जो दुनिया के पहले ऐसे शख्स थे जो 116 साल तक जीवित थे। आइए जानें क्या है पूरी खबर और कौन हैं वो दोनों महिलाएं। 

जापान की सबसे ज्यादा उम्र तक जीवित महिलाएं 

twin sisters of japan

जापान की 107 वर्षीय जुड़वा बहनों उमेनो सुमियामा और कौमे कोडामा ने हाल ही में गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम करते हुए अपनी जगह बनाई है।  जिन्हें दुनिया के सबसे पुराने समान जुड़वां के रूप में पुष्टि की गई है,गिनीज़ बुक ने इंस्टाग्राम ओर अपनी पोस्ट साझा करते हुए इस बात को सभी के सामने उजागर किया है। साथ ही पोस्ट में यह भी लिखा है कि "बहनों ने 1 सितंबर 2021 तक 107 साल और 300 दिन की उम्र में सबसे पुराने आइडेंटिकल ट्विन्स होने का रिकॉर्ड हासिल किया है।" अगली कुछ पंक्तियों में उन्होंने उन जुड़वा बहनों के बारे में और जानकारी साझा की है।

इसे जरूर पढ़ें:कश्मीर की यह महिला कवि कभी नहीं गई स्कूल, कविता लिखने के लिए अविष्कार की खुद की वर्णमाला

कैसी है बहनों की जिंदगी 

दोनों बहनें वर्तमान में अलग-अलग स्थानों में रह रही हैं  और केयर होम स्टाफ द्वारा उमेनो और कौमे को आधिकारिक प्रमाण पत्र प्रस्तुत किए गए। उमेनो और कौमे का जन्म 5 नवंबर 1913 को शोडो द्वीप, कागावा प्रान्त, जापान में 13 लोगों के एक बड़े परिवार में हुआ था। उनके परिवार के सदस्यों के अनुसार, दोनों बहनें बहुत ज्यादा मिलनसार और सकारात्मक सोच वाली हैं और शायद ही कभी किसी चीज की चिंता करती हैं। दोनों बहनों में से उमेनो ज्यादा पक्के इरादों वाली हैं जबकि कौमे स्वभाव से कोमल हैं। 

कैसी रही बहनों की परवरिश 

sister life twins

गिनीज़ बुक ने पोस्ट शेयर करते हुए बताया कि जुड़वा बहनों की परवरिश एक टीवी नाटक के समान थी, जिसे अभी भी वो याद करती हैं। यह एक ऐसा समय भी था जब उनका जुड़वा होना परिवार के लिए परेशानी का कारण था और ये उनके जीवन के सबसे कठिन अनुभवों में से था। दोनों बहनें छोटी उम्र से ही अलग रहने लगी थीं। जब जुड़वा बच्चों ने प्राथमिक विद्यालय समाप्त किया, तो कौमे ने अपने चाचा की मदद करने के लिए वह जगह छोड़ दी। उमेनो का विवाह शोडो द्वीप पर रहने वाले एक व्यक्ति से हुआ  जबकि कौमे ने द्वीप के बाहर किसी से विवाह किया। (भाई बहन की जोड़ी ने किया कमाल )

Recommended Video


जुड़वा बहनों को मिला विश्व युद्ध का अनुभव 

जुड़वा बच्चों ने दो विश्व युद्धों का अनुभव किया है। द्वितीय विश्व युद्ध के अंत में उमेनो को अपना घर खाली करना पड़ा था और युद्ध से बचने के लिए नया घर लेना पड़ा था। क्योंकि जुड़वा बहनें 300 किमी से अधिक दूर थीं इसलिए वे नियमित रूप से मिलने में असमर्थ थीं और मुख्य रूप से शादियों और अंत्येष्टि में एक-दूसरे से मिलती थीं।  हालांकि, एक बार जब वे 70 वर्ष की आयु की थीं तब उन्होंने कई अवसरों पर बौद्ध तीर्थ यात्राओं के लिए एक साथ यात्रा की। जैसे-जैसे उमेनो और कौमे बड़ी हुईं दोनों किन नारिता और जिन कानी की उम्र तक पहुंचने का मज़ाक उड़ाती थीं जो न केवल सबसे पुराने जुड़वा के लिए पिछले रिकॉर्ड धारक थे, बल्कि जापान में सुप्रसिद्ध घरेलू नाम भी थे। जब उन्होंने अपना 99वां जन्मदिन मनाया उमेनो ने किन और जिन की तस्वीर को देखा और कहा "मुझे लगता है कि हम छोटे दिखते हैं"! हालाँकि जुड़वा बच्चों ने रिकॉर्ड धारक बनने का मज़ाक उड़ाया, उनके परिवार ने कहा कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि वे वास्तव में किन और जिन के रिकॉर्ड को तोड़ पाएंगी और जब उन्होंने ऐसा किया तो सभी चौंक गए!

इसे जरूर पढ़ें:जानें कौन हैं चेन्नई के धेनुपुरेश्वर मंदिर में कार्यभार संभालने वाली महिला ओधुवर सुहंजना गोपीनाथ

बहनों को मिला गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स का आधिकारिक प्रमाण पत्र

certificate of gineese book 

COVID-19 के कारण, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स जुड़वा बहनों को उनके आधिकारिक प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के लिए व्यक्तिगत रूप से मिलने में असमर्थ थे और उन्हें सीधे मिलने की बजाय बहनों को भेज दिया गया। इस सम्मान से दोनों बहने बेहद खुश नज़र आ रही हैं और एक रिपोर्ट के अनुसार सर्टिफिकेट देखते ही उमेनो की आंखों में आंसू आ गए।

पोस्ट को मिले हैं कई लाइक्स 

इंस्टाग्राम पर साझा की गई इस पोस्ट को अब तक कई लाइक्स मिल चुके हैं और लोग अपने अच्छे कमैंट्स से दोनों बहनों को बधाई दे रहे हैं। 

वास्तव में इतनी लंबी उम्र तक सेहतमंद बने रहते हुए जीवित रहना किसी आश्चर्य से कम नहीं है हरज़िन्दगी उन्हें उनकी इस उपलब्धि पर बधाई देता है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:  instagram .com @guinnessworldrecords