सभी परेशानियों और बाधाओं को पीछे छोड़कर जो निरंतर आगे बढ़ता है वास्तव में सफलता उसी के कदम चूमती है। कुछ ऐसा ही कर गुजरने की चाह के साथ झारखंड के एक छोटे से गाँव दाहू की सीमा कुमारी ने मैसाचुसेट्स के कैम्ब्रिज में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पूरी छात्रवृत्ति हासिल की। सीमा एक गरीब परिवार से हैं और किसान के बेटी हैं। उनकी मेहनत ने वास्तव में पूरी दुनिया के सामने एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। आइए जानें उनसे जुडी कुछ ख़ास बातें। 

कौन हैं सीमा कुमारी 

seema kumari story

17 साल की सीमा कुमारी झारखण्ड जिले के एक छोटे से गाँव ओरमांझी के दाहू की रहने वाली हैं। उसके माता-पिता को शिक्षित होने का सौभाग्य नहीं मिला और वो काफी गरीब हैं । सीमा के माता पिता खेती पर निर्भर हैं और उनके पिता एक स्थानीय धागा कारखाने में काम करते हैं। वास्तव में, वह किसी विश्वविद्यालय में भाग लेने वाली अपने परिवार की पहली महिला हैं। झारखंड के नाम के एक छोटे से गांव की सीमा और उनकी प्रेरक कहानी ने इंटरनेट पर सनसनी मचा दी है।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Sunday League Pundits (@slpundits)

कैसे मिली स्कॉलरशिप 

seema kumari jharkhand

सीमा कुमारी, 2021 के YUWA वर्ग की स्नातक ने पिछले हफ्ते मैसाचुसेट्स के कैम्ब्रिज में हार्वर्ड विश्वविद्यालय से पूरी छात्रवृत्ति प्राप्त की है। इसके अलावा, हार्वर्ड, सीमा को अशोका यूनिवर्सिटी, मिडिलबरी कॉलेज और ट्रिनिटी कॉलेज-हार्टफोर्ड में भी स्वीकार किया गया था। हार्वर्ड की पूर्ण छात्रवृत्ति के अलावा, उसे अशोक विश्वविद्यालय, मिडिलबरी कॉलेज और ट्रिनिटी कॉलेज में भी स्वीकार किया गया था। 12वीं की यह छात्रा सीमा जल्द ही अमेरिका के हार्वर्ड यूनिवर्सिटी का सफर तय करने वाली हैं। वहां इसका 4 साल के स्नातक पाठ्यक्रम के लिए चयन हुआ है, जिसमें वो सालाना 61 लाख की पूर्ण स्कॉलरशिप प्राप्त करेंगी। 

Recommended Video

फुटबॉल कोच के रूप किया काम 

jharkhand seema kumari

सीमा ने 2012 में झारखंड के युवा स्कूल में भी दाखिला लिया और अपने स्कूल की फीस भरने के लिए फुटबॉल कोच के रूप में काम करना शुरू किया। उसने बाल विवाह से परहेज किया और अपने सपनों को पूरा करने के लिए शिक्षा के अधिकार का बचाव किया। सीमा ने एक मीडिया इंटरव्यू में बताया के वो पहले गांव के ही सरकारी स्कूल में पढ़ती थी। 2012 में एक दिन घास लेने जा रही थी। तभी उन्होंने गांव की कई लड़कियों को फुटबॉल खेलते देखा और उनका भी खेलने का मन हुआ। फिर घरवालों से अनुमति लेकर फुटबॉल के मैदान जाने लगी। वहां पता लगा कि वह सब एक एनजीओ युवा के विशेष कैंप का हिस्सा था। फिर वो युवा से जुड़ गयीं और लगातार खेलने लगी। 

बॉलीवुड हस्तियों ने की प्रशंसा 

seema kumari jharkhand story

झारखण्ड की सीमा कुमारी की  प्रशंसा बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने अपने ट्विटर पर की है। इसके अलावा अमिताभ बच्चन की नातिन नव्या नवेली ने भी उनकी प्रशंसा करते हुए ट्वीट किया है। प्रियंका चोपड़ा ने ट्विटर पर पर युवा इंडिया द्वारा सीमा की कहानी साझा की और उनकी पोस्ट को कैप्शन दिया, " Educate a girl and she can change the world... such an inspiring achievement." वास्तव में ये सीमा की एक शानदार उपलब्धि है, जिसकी वजह से उनकी सभी प्रशंसा कर रहे हैं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: instagram@slpundits