Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    जानिए क्या है ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन करने वालों के लिए ब्रिटेन की नई वीजा स्कीम?

    इस लेख में हम आपको ब्रिटेन में शुरू किए गए हाई पोटेंशियल इंडिविजुअल वीजा के बारे में बताएंगे। 
    author-profile
    Updated at - 2022-11-10,13:23 IST
    Next
    Article
    benefits of uk high potential individual visa in hindi

    कई छात्र-छात्राएं विदेश में जाकर अपनी पढ़ाई करते हैं और अपने भविष्य को बेहतर बनाने का पूरा प्रयास करते हैं। विदेश सरकार की तरफ से भी कई नई तरह की चीजों को लागू किया जाता है ताकि बच्चों की पढ़ाई और बेहतर हो सके। ब्रिटेन में हाई पोटेंशियल इंडिविजुअल वीजा की शुरुआत की गई है। आपको बता दें कि भारत के साथ-साथ लगभग 50 टॉप के विदेशी यूनिवर्सिटीज के छात्र और छात्राएं भी इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं। इस वीजा के बारे में हम आपको इस लेख में बताएंगे। 

    जानिए वीजा के बारे में यह जानकारी

    WHAT ARE THE BENEFITS OF HIGH POTENTIAL VISA OF UK

    आपको बता दें कि हाई पोटेंशियल इंडिविजुअल वीजा के लिए यूके सरकार के द्वारा बताए गए 50 यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट इसके लिए एलिजिबल हैं। इन यूनिवर्सिटीज में से न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी, क्योटो विश्वविद्यालय, हांगकांग विश्वविद्यालय, हार्वर्ड, येल और नॉर्थवेस्टर्न के साथ-साथ अन्य यूनिवर्सिटीज भी शामिल हैं।

    आपको बता दें कि इस वीजा को प्राप्त करने के लिए दो साल का वर्किंग वीजा होना चाहिए। इसके अलावा स्किल्ड लेबर भी जॉब के लिए लंबे समय के लिए इस वीजा अप्लाई कर सकते हैं।

    इसे भी पढ़ें: विदेश जाकर करनी है पढ़ाई तो जरूर करें ये काम

    जानिए कितनी है वीजा की फीस?

    इस वीजा की फीस सरकारी वेबसाइट के अनुसार 715 पाउंड है और आवेदन करने वालों को इसके लिए हर साल 624 पाउंड का स्वास्थ्य सेवा चार्ज भी देना होगा। आपको बता दें कि ब्रिटेन की सरकार के अनुसार इमीग्रेशन सिस्टम को बदलने की जरूरत है और इस वीजा सिस्टम से छात्र ब्रिटेन के विश्वविद्यालयों से देश में रहने और काम करने के अलावा कम से कम दो साल तक काम की तलाश करने के लिए इसका लाभ ले सकते हैं। इस वीजा योजना के अनुसार पीएचडी कर चुके हुए भी तीन साल के वीजा के लिए आवेदन कर सकते है।

    आपको बता दें कि साल 2021 में ग्रेजुएट रूट वीजा को भी पेश किया गया था जिसका लाभ वो इंटरनेशनल स्टूडेंट्स ले सकते हैं जिन्होंने ग्रेजुएशन किया है। इस वीजा लेने के लिए कॉमन यूरोपियन फ्रेमवर्क ऑफ रेफरेंस फॉर लैंग्वेज यानी सीईएफआर स्केल पर कम से कम स्तर बी 1 तक अंग्रेजी बोलने और समझने की अपनी क्षमता को साबित करना होगा।

    इसे भी पढ़ें: Scholarship Scheme: न्यूजीलैंड से भारतीय छात्रों को मिल सकती है 7.3 करोड़ रुपये तक की स्कॉलरशिप, जानें कैसे

    इस नई वीजा योजना को लेकर ब्रिटेन सरकार ने यह भी बताया है कि यह वीजा बदलावों की एक श्रृंखला का हिस्सा है ताकि यूके के लोगों को उनके द्वारा पेश किए जाने वाले कौशल और योगदान के आधार पर स्वागत किया जा सके। आपको बता दें कि इस वीजा से कई सारे छात्र-छात्राएं यूके में पढ़ाई के लिए आकर्षित होंगे और इससे उनके करियर में मदद भी मिलेगी। 

    तो यह थी ब्रिटेन हाई पोटेंशियल इंडिविजुअल वीजा से जुड़ी हुई जानकारी। उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।

     

    image credit- freepik

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।