फेसबुक से हम सभी का पुराना रिश्ता रहा है। ऑरकुट के बाद हमारे, दोस्तों और रिश्तेदारों से जुड़ने का एक मुख्य जरिया फेसबुक ही था। मगर अब यह खबर आई है कि फेसबुक का नाम बदल गया है। एक प्रमुख रीब्रांड के हिस्से के रूप में, फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने बीते दिन यह घोषणा की कि उनकी कंपनी अपना नाम मेटा में बदल रही है। उन्होंने गुरुवार, 28 अक्टूबर को सोशल मीडिया दिग्गज की रीब्रांडिंग के बारे में कई समय से अफवाह थीं, जिन पर विराम लगाते हुए जुकरबर्ग ने यह घोषणा की।

फेसबुक ने अपना नाम मेटा में क्यों बदला?

मार्क जुकरबर्ग के बयान के मुताबिक, फेसबुक कंपनी ने अपना नाम बदलकर मेटा कर लिया है लेकिन सोशल नेटवर्किंग ऐप का नाम वही होगा, फेसबुक। इसका क्या मतलब है? फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने एक वार्षिक डेवलपर्स सम्मेलन के दौरान कहा, 'हमने सामाजिक मुद्दों से जूझने और बंद प्लेटफार्मों के तहत रहने से बहुत कुछ सीखा है, और अब समय आ गया है कि हमने जो कुछ भी सीखा है उसे लेकर अगले अध्याय को बनाने में काम करें। उन्होंने आगे कहा, 'मुझे यह घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि आज से, हमारी कंपनी अब मेटा है। हमारा मिशन वही है, लोगों को एक साथ लाने का मिशन है, लेकिन हमारे ऐप्स और उनके ब्रांड, वे बदल नहीं रहे हैं।'

मेटा क्या मतलब है?

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Mark Zuckerberg (@zuck)

मेटा एक उपसर्ग है, जिसे दूसरे शब्द से पहले रखा जाता है। इसका अर्थ- 'बाद' या 'उससे आगे' है और यह चेंज का हिंट देता है। फेसबुक के थम्स-अप आइकन को एक नए लोगो में बदल दिया गया है जो इनफिनिटी जैसा दिखता है। यह नया साइन उस बड़ी पारी का प्रतिनिधित्व करता है जिसे कंपनी बनाने की कोशिश कर रही है।

मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने अपने ब्लॉग पोस्ट में कहा, 'मैं क्लासिक्स का अध्ययन करता था, और 'मेटा' शब्द ग्रीक शब्द से आया है जिसका अर्थ है 'बियॉन्ड'।' उन्होंने आगे कहा, 'मेरे लिए, यह प्रतीक है कि हमेशा कुछ नया बनाने के लिए रहता है और हर कहानी में एक अगला अध्याय होता है।'

इस भी पढ़ें : Instagram story बैकग्राउंड को बनाना चाहते हैं एस्थेटिक? तो अपनाएं ये Tips

इंटरनेट का भविष्य मेटावर्स है ?

मार्क जुकरबर्ग ने फेसबुक को रीब्रांड करने का एक और कारण मेटावर्स को जीवन में लाने का फोकस है। संस्थापक के अनुसार, मेटावर्स एक ऐसी जगह होगी जहां लोग बातचीत करने, काम करने और निर्माण करने में सक्षम होंगे। आने वाले दशकों में मेटावर्स अरबों लोगों तक पहुंचेगा।

उन्होंने कहा, 'यह कोई ऐसा निवेश नहीं है जो निकट भविष्य में हमारे लिए किसी भी समय लाभदायक होने वाला है। लेकिन हम मूल रूप से मानते हैं कि मेटावर्स मोबाइल इंटरनेट का उत्तराधिकारी बनने जा रहा है।'

मार्क जुकरबर्ग ने साझा किया कि समय के साथ, वह चाहते हैं कि कंपनी को मेटावर्स कंपनी के रूप में देखा जाए। उन्होंने कहा, 'समय के साथ, मुझे उम्मीद है कि हमें एक मेटावर्स कंपनी के रूप में देखा जाएगा और हम जिस दिशा में निर्माण कर रहे हैं, उस पर मैं अपने काम और पहचान को स्थिर करना चाहूंगा।'

इस भी पढ़ें :ऑनलाइन कैसे चेक करें अपना इलेक्ट्रिसिटी बिल, जानें सभी आसान तरीके

Recommended Video

सोशल मीडिया यूजर्स ने बनाया मजाक

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक के नाम बदले जाने पर माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने मजाक उड़ाया है। इसके साथ ही कई कंपनियों और लोगों ने भी फेसबुक का मजाक बनाने के लिए हंसा देने वाले ट्वीट किए हैं। कई यूजर्स ने ट्विटर पर लिखा है कि इसका नाम किसी दवा के जैसा है। एक यूजर ने मीम बनाया है कि अपुन को एक नया नाम मांगता था।

यह लेख आपको कैसा लगा और इस नाम बदलने के बारे में आपका क्या खयाल है, हमें जरूर बताएं। इसे लाइक और शेयर करें और ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए विजिट करें हरजिंदगी।

Image Credit: google searches