वाराणसी एक ऐसा शहर है, जो ना केवल देश बल्कि दुनिया के लिए भी आकर्षण का केन्द्र रहा है। इसे दुनिया के सबसे पुराने शहर के रूप में जाना जाता है। हालांकि, इस दावे में कितनी सच्चाई है, इसके बारे में कुछ ठीक-ठीक नहीं कहा जा सकता। लेकिन एक बात तो सत्य है कि यह शहर धार्मिक दृष्टिकोण से एक खासा महत्व रखता है। यह शहर दुनिया के हर हिंदू के लिए एक ऐसी जगह के रूप में जाना जाता है जहां उन्हें अपने जीवन में कम से कम एक बार अवश्य जाना चाहिए।

ऐसा माना जाता है कि अगर लोग यहां गंगा में डुबकी लगाते हैं तो ना केवल उनके इस जन्म के बल्कि पिछले जन्मों में किए गए पाप भी धुल जाते हैं। यहां पर वर्षभर आंगतुकों और श्रद्धालुओं को आना-जाना लगा रहता है। अगर आपने भी वाराणसी जाने का प्लॉन बनाया है और आप इस शहर को अधिक करीब से जानना चाहती हैं तो ऐसे में आपको यहां पर यह पांच काम अवश्य करने चाहिए-

मंदिरों में करें दर्शन 

visit temple in varanasi

अगर आप वाराणसी जा रही हैं और मंदिरों के दर्शन ना करें, यह तो हो ही नहीं सकता। शहर की एक अत्यंत समृद्ध हिंदू परंपरा है। यहां पर आपको हर सड़क पर किसी ना किसी हिंदू भगवान का मंदिर मिलेगा। आपको यहां पर गोल्ड प्लेटेड काशी विश्वनाथ मंदिर में अवश्य जाना चाहिए। इतिहास और पौराणिक कथाओं से परिपूर्ण, 18वीं शताब्दी का यह मंदिर यहां आने वाले सभी तीर्थयात्रियों का सबसे प्रतिष्ठित स्थान है। स्वयंभू दुर्गा का नागर शैली का मंदिर भी सर्वाधिक पूजनीय है। वैसे यहां पर अन्य लोकप्रिय मंदिर संकट मोचन हनुमान, अन्नपूर्णादेवी और कालभैरव के हैं। आप वहां पर भी एक बार अवश्य जाएं।

इसे भी पढ़ें: ये हैं प्रयागराज के सबसे खूबसूरत घाट

गंगा आरती में हों शामिल

visit temple

अगर आप वाराणसी से कुछ अद्भुत व अविस्मरणीय यादें अपने साथ ले जाना चाहते हैं तो आपको यहां पर घाट पर होने वाली शाम की आरती का हिस्सा अवश्य बनना चाहिए। हमारे देश में गंगा को मां के रूप में देखा जाता है और ऐसा माना जाता है कि इस नदी में ईश्वरीय शक्ति है। इसलिए, आप शाम को समय से दशाश्वमेध घाट पर जाएं। आरती की तैयारी में पीतल के दीयों की सफाई देखें और शाम में 45 मिनट के इस समारोह का हिस बनें। जिसमें वैदिक मंत्रोच्चार के साथ प्रार्थना की जाती है।

बोटिंग करें

boating varanasi 

वाराणसी में करने के लिए सबसे अच्छी चीजों में से एक है बोटिंग करना। बोटिंग के जरिए आप शहर के आध्यात्मिक माहौल और इसके महलों के मनोरम दृश्य और इसके तट पर विभिन्न समारोहों में लगे तीर्थयात्रियों की भक्ति का आनंद ले पाएं। श्रद्धालु, कर्मकांड के माहौल, साधुओं और संन्यासियों की उपस्थिति का आनंद लेने के लिए आप सुबह के समय बोटिंग करें।  

करें ऐतिहासिक पक्ष को एक्सप्लोर

visit historical places

चूंकि वाराणसी को दुनिया को सबसे पुराना शहर माना जाता है, इसलिए ऐतिहासिक दृष्टिकोण से भी यह काफी महत्वपूर्ण है। यहां का रामनगर किला क्रीम रंग के बलुआ पत्थर से निर्मित है, जिसे 1750 में मुगल शैली की वास्तुकला में बनाया गया है। यह अपनी नक्काशीदार बालकनियों, मंडपों और खुले आंगनों के साथ यह बेहद ही आकर्षक है। यहां पर किले के म्यूजियम में बंदूकें और तलवारों के साथ एक शस्त्रागार, हाथी की काठी और सोने और चांदी की पालकी देखने का मौका मिलेगा।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में मौजूद जमाली कमाली मकबरा के बारे में कितना जानते हैं आप

Recommended Video

सारनाथ म्यूजियम का करें दौरा

sarnath museum

वाराणसी में आपको सारनाथ म्यूजियम को भी अवश्य देखना चाहिए। सारनाथ म्यूजियम भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण का सबसे प्राचीनतम स्‍थल संग्रहालय है। यहां पर बौद्ध मूर्तियों का विस्तृत संग्रह है। संग्रहालय में करीबन 6,832 मूर्तियां और कलाकृतियां हैं, जो इसे अपने आप में बेहद विशेष बनाती हैं। बौद्ध विहार या मठ के पैटर्न की ही तरह सारनाथ म्यूजियम में भी एक मुख्य चैपल है। यह स्थान बौद्ध अनुयायियों के साथ-साथ जैन धर्म अनुयायियों के लिए भी विशेष महत्व रखता है। ऐसा माना जाता है कि जैन धर्म के ग्यारहवें तीर्थंकर, श्री श्रेयांसनाथ का जन्म यहां से कुछ दूरी पर हुआ था। इस लिहाज से, यहां पर जाना वाराणसी में की जाने वाली सबसे अच्छी चीजों में से एक है। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।