हम सभी ने बचपन से लेकर बड़े होने तक कई बार ट्रेन में सफर किया है। वैसे तो ट्रेवल करने के लिए आपको कई माध्यम मिल जाएंगे, लेकिन ट्रेन में घूमने का अपना एक अलग ही आनंद है। आज के समय में ट्रेन के माध्यम से आप ना सिर्फ दो शहरों के बीच आसानी से ट्रेवल कर सकती हैं, बल्कि एक ही शहर के अलग-अलग कोनों में यात्रा करने और अपने यात्रा के समय और पैसे बचाने का भी यह बेहतरीन तरीका है। वैसे तो आप भी कई बार ट्रेन में घूमी होंगी। लेकिन इन सबके बीच भी आपने काफी कुछ मिस किया होगा।

ट्रेन की तेज रफ़्तार के बीच आपको शायद नेचुरल ब्यूटी को एक्सप्लोर करने का मौका ना मिला हो। अगर आपके साथ भी ऐसा हुआ है तो अब समय है कि आप भारत की पॉपुलर टॉय ट्रेनों में एक बार सफर करें। ये टॉय ट्रेन एक ही समय में एक शांत और रोमांचक अनुभव से कम नहीं है और यही कारण है कि जीवन में एक बार आपको इन टॉय ट्रेन में सफर जरूर करना चाहिए। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको भारत में मौजूद कुछ पॉपुलर टॉय ट्रेन के बारे में बता रहे हैं-

कालका-शिमला टॉय ट्रेन, हिमाचल

about amazing toy trains in India inside

यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल की सूची में नंबर 4 पर शामिल, कालका-शिमला भारत में बहुत कम परिचालन वाली टॉय ट्रेनों में से एक है। यह हरी-भरी पहाड़ियों से होकर गुजरती है और आपको आसपास की सुंदरता के मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है। 96 किमी का कालका-शिमला मार्ग एक नैरो गेज ट्रेन ट्रैक है जिसमें 103 सुरंग और 850 से अधिक पुल शामिल हैं। कालका-शिमला टॉय ट्रेन में लगभग 5.5 घंटे की यात्रा आपको एक बेहद ही यादगार अनुभव प्रदान करती है।

कांगड़ा वैली रेलवे, हिमाचल

amazing toy trains in India inside

कांगड़ा वैली रेलवे भारत की एक और हेरिटेज टॉय ट्रेन है जो पठानकोट और जोगिंद्रनगर के बीच संकीर्ण गेज पर चलती है। यह ट्रेन यूनेस्को की वर्ल्ड साइट है, जो पालमपुर के कई पुलों और चाय बागानों से गुजरती है। यह आपको Dhauladhar Range का भी भव्य दृश्य प्रस्तुत करता है। यह टॉय ट्रेन  पठानकोट जंक्शन से होकर ज्वालामुखी रोड, कांगड़ा, नगरोटा, पालमपुर, बैजनाथ व जोगिंद्रनगर रूट पर चलती है।

इसे भी पढ़ें: पहाड़ों की सैर से लेकर लोकल मार्केट के बीचों बीच तक, दार्जीलिंग की ये मनमोहक ट्रेन यात्रा दिल जीत लेगी!

Recommended Video

दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे, पश्चिम बंगाल

facts amazing toy trains in India inside ]

यदि आप दार्जिलिंग हिमालयन टॉय ट्रेन पर चढ़ रही हैं, तो उच्च बर्फ़ से ढके पहाड़, ज़िगज़ैग मोड़ और रोमांचकारी खड़ी ढाल आदि आपके सफर को बेहद रोमांचकारी बनाएंगे। बोर्ड पर, आपको कंचनजंगा चोटी और दार्जिलिंग शहर का अविश्वसनीय चित्र-परिपूर्ण दृश्य देखने को मिलता है। यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल के रूप में घोषित, दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे भारत में सबसे अच्छी विरासत खिलौना ट्रेन है। इस टॉय ट्रेन में आपको दार्जिलिंग से होकर घूम और फिर दार्जिलिंग के रूट का आनंद लेने का मौका मिलेगा।

इसे भी पढ़ें: भारत में इन जगहों पर लीजिए टॉय ट्रेन से सफर का मजा

नीलगिरि माउंटेन रेलवे, तमिलनाडु

all about amazing toy trains in India inside

यदि आप नीलगिरि माउंटेन टॉय ट्रेन पर चढ़ी हैं, तो यकीनन आपको अपनी सांस रोकनी ही पड़ेगी। यह केवल भारत में ही नहीं बल्कि एशिया में एक खड़ी ढाल वाला रास्ता है। घने जंगलों, चट्टानी इलाक़ों और धुंध भरे पहाड़ी इलाकों से गुजरते हुए, नीलगिरि माउंटेन टॉय ट्रेन भारत की सबसे विस्मयकारी टॉय ट्रेन में से एक है। इसके अलावा, यह भारत में यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल की सूची में शामिल है। अगर इसके रूट की बात की जाए तो यह मेट्टुपालयम से होकर कल्लर, अडरले, कुन्नूर, वेलिंगटन से होते हुए केटी व ऊटी जाती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(tripsavvy.com,utlookindia.com,wikimedia.org)