आमतौर पर लोग मंदिर दर्शन के लिए दूर-दूर तक जाते हैं। भारत में मौजूद लगभग सभी मंदिर से जुड़ी कुछ मान्यताएं होती हैं, जिन्हें भक्तगण बखूबी तरीके से अनुसरण करते हैं। लेकिन, अगर आपसे यह कहा जाए कि भारत में एक ऐसा भी मंदिर है जहां, किसी देवता की नहीं बल्कि, मेंढक की पूजा होती है, तो शायद आपको सुनने में थोड़ा अजीब ही लगेगा। जी हां, हम बात कर रहे हैं उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में मौजूद 'मेंढक मंदिर' के बारे में, तो आइए जानें इस मंदिर से जुड़ी कुछ रोचक बातों के बारे में।

क्या है मंदिर का इतिहास

interesting facts about frog temple in lakhimpur kheri inside

ये अनोखा मंदिर उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के ओयल कस्बे में मौजूद है। यह भारत का एकमात्र ऐसा मंदिर है जहां मेंढक की पूजा होती है। लोक कथाओं के अनुसार ये जगह ओयल शैव संप्रदाय का मुख्य केंद्र हुआ करती थी, और यहां के शासक भगवान शिव के उपासक थे। यह जगह लगभग 11वीं शताब्दी से लेकर 19वीं शताब्दी तक चाहमान शासकों के अधीन थी। कहा जाता है कि इस मंदिर का निर्माण चाहमान वंश के राजा बख्श सिंह ने करवाया था।  

इसे भी पढ़ें: आगरा की इन भुतहा जगहों पर कोई भी अकेले नहीं जाना चाहेगा, जानें क्यों?

मंदिर के सामने मेंढक की मूर्ति 

interesting facts about frog temple inside

मंदिर के ठीक सामने एक विशाल मेंढक की मूर्ति का निर्माण किया गया है। इस मेंढक की पीठ पर करीब सौ फीट का ये मंदिर लगभग 200 साल प्राचीन माना जाता है। कहा जाता है कि अकाल से निपटने के लिए किसी तांत्रिक की सलाह पर इस अनोखे मंदिर का निर्माण किया गया था। एक अन्य कहानी ये है कि युद्ध में जीते पैसे का सदुपयोग करने के लिए इस मंदिर का निर्माण करवाया गया था। (अजीब है इन मंदिरों की परंपरा)

Recommended Video

मंदिर की वास्तुकला

interesting facts about frog temple in lakhimpur kheri inside

इस मंदिर की वास्तु संरचना विशेष शैली के कारण भी प्रसिद्ध है। कहा जाता है कि मंदिर की वास्तु परिकल्पना एक महान तांत्रिक ने की थी। मेंढक मंदिर में महाशिवरात्रि के अलावा दीपावली पर भक्तों बड़ी संख्या में दर्शन के लिए आते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मंदिर को नर्मदेश्वर महादेव मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली के बेहद करीब है उत्तर प्रदेश का यह खूबसूरत टूरिस्ट स्पॉट

लखीमपुर खीरी में घूमने की अन्य जगह 

interesting facts about frog temple in lakhimpur inside

लखीमपुर खीरी में इस मंदिर में घूमने के साथ-साथ आप यहां मौजूद कुछ बेहतरीन जगहों पर भी घूमने के लिए जा सकते हैं। यहां मौजूद दुधवा नेशनल पार्क, गोला गोकर्णनाथ शिव मंदिर और लिलौटी नाथ मंदिर जैसी बेहतरीन जगहों पर भी घूमने के लिए जा सकते हैं।  

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@media.tumblr.com,tripoto.com)