आपकी और आपके परिवार की सेहत का रिश्ता आपके रसोईघर से जुड़ा होता है। रसोई में ना केवल खाना पकाया जाता है बल्कि पूरे परिवार की लंबी उम्र भी यहीं तय होती है। लेकिन सेहत और स्वाद में तालमेल बैठाना बहुत ही मुश्किल काम है। इस मुश्किल काम को आप एक शर्त पर आसान कर सकती हैँ। वह है, अपने किचन को ईको फ्रैंडली बनाकर। 

ईको फ्रैंडली किचन का मतलब होता है कि आपके किचन का वातावरण अच्छा हो और आपने सारी चीजें व्यवस्थित ढंग से रखी हो। इन टिप्स को फॉलो करें। 

बिजली के उपकरण

आज के जमाने में शायद ही ऐसा कोई किचन होगा जिसमें बिजली के उपकरण नहीं रखे होंगे। फ्रिज और मिक्सर ग्राइंडर तो हर किसी के किचन में होता है। लेकिन कुछ लोगों को ही मालूम है कि इन चीजों को फ्रिज में रखने से भी कई बार सेहत को नुकसान पहुंच जाता है। जैसे कि आपने केवल फ्रिज और मिक्सर रखा है तो ठीक है। लेकिन अगर आपने इसके साथ ही माइक्रोवेव, कॉफी हीटर, टोस्टर आदि चीजें भी रखी हैं तो आपकी सेहत को नुकसान हो सकता है। इन सब चीजों को आप बाहर रखिए जिससे कि इनमें से निकलने वाला रेडिएशन आपके स्वास्थ्य को नुकसान ना पहुंचाए। इन टिप्स को फॉलो करें-

  • फ्रिज को बारबार नहीं खोलना चाहिए, क्योंकि बारबार खोलने से बिजली की खपत होती है और फ्रिज में से गैस बी निकल जाती है। 
  • खाना पकाने या गरम करने के लिए ओवन की जगह माइक्रोवेव का इस्तेमाल करें। 
  • माइक्रोवेव में खाना गरम करने के लिए प्लास्टिक के बर्तनों का इस्तेमाल बिल्कुल भी ना करें। 
eco freindly kitchen inside

साफ रखें इन उपकरणों को

बिजली की चीजों को हमेशा साफ रखें। इनकी साफ-सफाई के साथ कोई लापरवाही ना बरतें। जैसे कि टोस्टर में ब्रेड सेंकी है या सैंडविच बनाना है तो टोस्टर को साफ कर मुलायम कपड़े से पोंछ कर ही रखें। मिक्सी का या हैंड ब्लैंडर का प्रयोग कर तुरंत लिक्विड सोप जार में डाल कर चलाएं व साफ कर के रखेँ। 

eco freindly kitchen inside  quitestyle

ऐग्जौस्ट फैन जरूर लगाएं

किचन में ऐग्जौस्ट फैन जरूर लगाएं। यह फैन किचन से सारी गर्मी निकाल देता है। यहां तक की ये कमरे की भी उमस को बाहर निकाल देता है। किचन में लाइट का इंतजाम सही रखें। 

eco freindly kitchen inside

सही बर्तनों का करें इस्तेमाल

किचन को ईको फ्रैंडली रखने के लिए सही बर्तनों का इस्तेमाल करें। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार गंदे मिक्सर, और झूठे बरतन से पेट की बीमारियां होती हैं। क्योंकि इनकी गंदगी में तुरंत बैक्टीरिया और जीवाणु पनप जाते हैं जो धोने के बाद भी उसमें लगे रहते हैं। इसलिए कभी भी झूठे बरतन ना रखें। बरतनों को तुरंत साफ करें।  

सभी लाइट्स ना जलाएं

जब खाना खाने के लिए डाइनिंग टेबल पर बैठ रही हों तो सभी लाइट्स ना जलाएं। केवल एक लाइट्स का इस्तेमाल करें। कभी-कभी कैंडल लाइट डिनर करें। इससे बिजली की बचत भी होगी और आप इलेक्ट्रिक टेम्परेचर ऑब्जर्व करने से भी बच जाएंगी। डिस्पोजेबल पेपर नैपकिंस की जगह कपड़े के नैपकिंस प्रयोग में लाएं। 

इन सारे टिप्स को आज से ही फॉलो करना शुरू कर दें और रहें हेल्दी। इससे बिजली भी कम खर्च होगी और आपकी इलेक्ट्रिक समान भी सुरक्षित रहेंगे।