राजस्थान का लगभग हर शहर घूमने के लिए एक बेहतरीन जगह है। जयपुर, जोधपुर, जैसलमेर आदि शहरों में हर रोज हजारों देशी और विदेशी सैलानी घूमने के लिए पहुंचते हैं। उदयपुर भी राजस्थान का एक बेहतरीन पर्यटन स्थल है, जिसे हर कोई झीलों के शहर में रूप में भी जनता है। चारों ओर से सुंदर अरावली की पहाड़ियों से घिरा हुआ यह शहर कई भवन, पैलेस, फोर्ट और प्रसिद्ध मंदिर के लिए भी जाना जाता है। इस शहर में मौजूद एकलिंगजी मंदिर सबसे बड़े और पवित्र मंदिरों में से एक है। आज इस लेख में हम आपको इस प्रसिद्ध मंदिर के बारे में करीब से बताने जा रहे हैं, तो आइए जानते हैं।

एकलिंगजी मंदिर का इतिहास 

about eklingji temple udaipur inside

उदयपुर में मौजूद एकलिंगजी मंदिर राजस्थान के साथ-साथ भारत के सबसे प्राचीन मंदिर में से एक है। कहा जाता है कि इस मंदिर का निर्माण लगभग 734 ई. में बाप्पा रावल द्वारा निर्माण करवाया गया था। आपको बता दें कि यह मंदिर एक चार-मुखी मूर्ति के चलते पूरे भारत में फेमस है और यह भगवान शिव को समर्पित है। स्थानीय लोगों का मानना है कि एकलिंगजी मंदिर मेवाड़ शासकों के देवता रहे हैं। कई लोगों का यह भी मानना है कि 15वीं शताब्दी के दौरान इस मंदिर को लूटने के लिए कई बार आक्रमण भी हुए थे, जिसके बाद इस मंदिर का पुनर्निर्माण किया गया था। 

इसे भी पढ़ें: भरतपुर में मौजूद विश्व प्रसिद्ध लोहागढ़ फोर्ट के बारे में कितना जानते हैं आप

मंदिर की वास्तुकला

about eklingji temple udaipur inside

एकलिंगजी मंदिर जिसे एकलिंगजी नाथ के मंदिर नाम से भी जाता है। एकलिंगजी मंदिर की वास्तुकला बेहद भी अद्भुत है। दो मंजिला इस मंदिर को पिरामिड स्टाइल छत के साथ बनाया गया है। मंदिर के मध्य में काले संगमरमर से बनी एकलिंगजी की एक चार-मुखी मूर्ति है। कहा जाता है कि मंदिर में मौजूद भगवान शिव की मूर्ति लगभग 50 फीट है। मंदिर की दीवारों पर भी एक से एक बेहतरीन चित्र मौजूद है। (बीकानेर के पांच फेमस फोर्ट

Recommended Video

मंदिर दर्शन का टाइम

about eklingji temple udaipur inside

अगर आप उदयपुर घूमने के लिए परिवार या फ्रेंड्स के साथ जा रहे हैं, इस मंदिर का दर्शन और घूमने के लिए शाम के समय पहुंचना चाहिए। क्योंकि, शाम के समय लाइट्स की चमक में मंदिर को देखते ही बनता है। वैसे तो आप प्रतिदिन सुबह 5 बजे से लेकर शाम के 7 बजे के बीच कभी भी घूमने के लिए जा सकते हैं। एकलिंगजी मंदिर में प्रवेश और एकलिंग जी के दर्शन के लिए कोई भी शुल्क नहीं है।

इसे भी पढ़ें: राजस्थान की वो हवेली जिसे डिज़ाइन करने में लग गए थे करीब 30 साल

अपसस घूमने की जगह 

eklingji temple udaipur inside

ऐसा नहीं है कि इस मंदिर के आसपास अन्य जगह घूमने के लिए नहीं है। एकलिंगजी मंदिर के अपसस कुछ ऐसी जगहें हैं जहां आप घूमने के लिए जा सकते हैं। जैसे- सिटी पैलेस, बागोर की हवेली, सहेलियों की बाड़ी और बड़ा महल जैसी बेहतरीन जगह भी घूमने के लिए जा सकते हैं। इसके अलावा आप पिछोला झील, फ़तेह सागर झील, उदय सागर झील और बड़ी झील जैसी जगहों पर भी घूमने के लिए जा सकते हैं।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@sutterstocks)