कोविड -19 की वजह से लगे प्रतिबंध को हटाए जाने के बाद बॉलीवुड के कई स्टार्स हैं मालदीव वेकेशन एन्जॉय करते नजर आए। वेकेशन की कई तस्वीरें उन्होंने अपने सोशल मीडिया पर शेयर भी की थीं। वहीं स्टार्स अब अपनी मनपसंद जगहों को आसानी से घूमते नजर आ रहे हैं। ऐसे में अगर आप भी विदेश यात्रा का प्लान बना रही हैं तो बता दें कि भारत ने कई देशों के साथ एयर ट्रैवल अरेंजमेंट या फिर ट्रांसपोर्ट बबल व्यवस्था शुरू की है। ट्रांसपोर्ट बबल के आने के बाद भारतीय नागरिक अब विदेश में आसानी से घूम सकते हैं लेकिन इसके लिए उनके पास रजिस्ट्रर्ड टूरिस्ट सुविधा में बुकिंग होनी चाहिए। 

क्या है ट्रांसपोर्ट बबल

transport bubble

ट्रांसपोर्ट बबल दो देशों के बीच अस्थायी व्यवस्था है, जिसका मकसद कमर्शियल पैसेंजर सर्विस को फिर से शुरू करना है। बता दें कि कोविड-19 महामारी की वजह से नियमित इंटरनेशनल फ्लाइंट को सस्पेंड कर दिया गया था। बाइलेटरल कॉरिडोर दोनों देशों के बीच इंटरनेशनल फ्लाइटों के लिए अनुमति देता है। इसके लिए सरकार द्वारा फ्लाइट फ्लाइंग परमिशन रजिस्टर करवाने की आवश्यकता नहीं है।

अभी भारत के पास मालदीव, यूनाइटेड अरब अमीरात (यूएई), यूनाइटेड स्टे्टस ऑफ अमेरिका (यूएसए), यूनाइटेड किंगडम, रवांडा, और नीदरलैंड सहित 23 देशों के साथ ट्रैवल बबल की व्यवस्था है, जिन्हें हाल ही में जोड़ा गया था। अगर आपके पास इंडियन पासपोर्ट है और यात्रा करना चाहती हैं तो सभी स्वास्थ्य दिशानिर्देशों को पालन करते हुए ट्रैवल कर सकती हैं।

इन देशों में इंडियन पासपोर्ट से कर सकती हैं यात्रा?

मालदीव

maldives

ट्रैवल बबल अरेंजमेंट आने के बाद भारत और मालदीव को फ्लाइट ओपरेट करने की अनुमति है। इसके लिए लोगों के पास रजिस्टर्ड टूरिस्ट फैसिलिटी में बुकिंग होनी चाहिए, साथ ही मालदीव में एंटर करने से पहले उनके पास कोविड-19 की नेगिटिव रिपोर्ट होनी चाहिए। मालदीव पहुंचने के बाद उनका कोरोना टेस्ट फिर से किया जाएगा और उसके बाद कुछ दिनों के लिए क्वारंटीन भी किया जाएगा। इसके बाद एक बार फिर से कोरोना की फ्रेश रिपोर्ट बनाई जाएगी।

कतर

qatar

कतर इस समय देश में इनबाउंट यात्रा की अनुमति दे रहा है, और भारत सरकार ने उनके साथ ट्रैवल बबल अरेंजमेंट भी शुरू की है। यात्रियों को कतर पहुंचने के बाद वहां के होटल में क्वरंटीन किया जाएगा। उसके बाद उनका कोविड-19 का टेस्ट किया जाएगा। अगर रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो एक बार फिर से 6 दिन बाद टेस्ट किया जाएगा। अगर टेस्ट नेगिटिव आता है तो सांतवे दिन एप में स्टेटस शो होने लगेगा।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र की इस खूबसूरत जगह पर नहीं घूमा, तो फिर कहीं नहीं घूमा

संयुक्त राज्य अमरीका

UNITED STATES OF AMERICA

मौजूदा स्थिति में ट्रैवल अरेंजमेंट के जरिए वैलिड विजिटर विजा के साथ इंडियन पासपोर्ट होल्डर अमेरिका से भारत आसानी से आ जा सकता है। वहां पहुंचने के बाद आपको 14 दिनों के लिए क्वारंटीन किया जाएगा। इसके अलावा अमेरिका में कहीं भी यात्रा का प्लान बना रही हैं तो देश और राज्यों द्वारा जारी किए गए दिशानिर्देशों का पालन करना होगा।

इसे भी पढ़ें: Happy New Year: जनवरी में घूमने के साथ इन जगहों पर मनाएं नए साल का जश्न

यूनाइटेड किंगडम

UNITED KINGDOM

कोविड-19 की वजह से देश में यात्रा करना प्रतिबंधित है। किसी भी भारतीय के पास वैध यूके वीजा है और केवल यूनाइटेड किंगडम जाना चाहता है तो बबल व्यवस्था के तहत देश का दौरा कर सकता है। हालांकि इंग्लैंड पहुंचने के बाद आपको 14 दिनों के लिए क्वारंटीन किया जाएगा। वहीं सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए ऑनलाइन यात्री लोकेटर फॉर्म के जरिए से यूके पहुंचने से 48 घंटे पहले अपनी यात्रा और कॉन्टैक्ट डिटेल प्रदान करनी होंगी।

Recommended Video

भूटान

bhutan

किसी भी भारतीय नागरिक को वर्तमान ट्रांसपोर्ट बबल की व्यवस्था के तहत भूटान की यात्रा करने की अनुमति है। भूटान में एंट्री करने वाले सभी यात्रियों को आरटी-पीसीआर नेगिटिव रिपोर्ट देनी होगी। यह रिपोर्ट देश से निकलने से 72 घंटे से अधिक पहले की नहीं होनी चाहिए। सभी यात्रियों को 21 दिनों और टेस्ट के लिए क्वारंटीन होना होगा और उस दौरान होने वाला खर्च टूरिस्टों को ही पे करना होगा।

वहीं ट्रैवल बबल अरेंजमेंट संयुक्त अरब अमीरात, साउथ अफ्रिका, तंजानिया, यूक्रेन, अफगानिस्तान, बहरीन, इथियोपिया, केन्या, और नाइजीरिया जैसे देशों में भी उपलब्ध है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।