महिलाएं अपने बालों की बहुत देखभाल करती हैं। बालों को नुकसान हो ये किसे अच्छा लगता है? हम दिनभर तो अपने बालों का ख्याल रखते हैं, लेकिन फिर रात को क्यों भूल जाते हैं? शायद आपने यह बात सुनी हो कि आपके तकिए पर स्मूथ कपड़ा आपके बालों को बनाए रखने और स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है।

अच्छी नींद के लिए जितना एक तकिया जरूरी है, उतना अच्छे बालों के लिए अच्छा और सॉफ्ट पिलोकेस होना चाहिए। आपने सुना होगा कि कॉटन के पिलोकेस आपके बालों में फ्रिक्शन करके उन्हें टूटने पर मजबूर करते है, इसलिए सिल्क और सैटिन के पिलोकेस पर सोने की सलाह दी जाती है। मगर क्या आपको इनके बीच का अंतर पता है?  और आपके लिए क्या बेहतर होगा ये कैसे पता चलेगा? चलिए जानते हैं हमारे इस आर्टिकल में।

सिल्क पिलोकेस

silk pillowcases

सिल्क एक लग्जरियस फैब्रिक होता है, जो एक नेचुरल फाइबर है और कुकून्स के लार्वे से बनता है। क्या आप जानती हैं कि सिर्फ एक पाउंड रॉ सिल्क बनाने के लिए 2500 कैटरपिलर अपना जीवन सैक्रिफाइस करते हैं। यह ब्रेथेबल फैब्रिक होता है, जो मॉइश्चर को सर्कुलेशन करने में मदद करता है और पसीने को जड़ों में जमा होने से रोकता है। यह बालों के स्ट्रैंड और फैब्रिक के बीच घर्षण को कम करता है और बालों की प्राकृतिक चमक को बनाए रखने में मदद करता है। यह न्यूनतम घर्षण स्प्लिट एंड्स, फ्रिज, बालों के झड़ने और उलझने को रोकने में भी मदद करता है। यह हाइपोएलर्जेनिक होने के साथ-साथ कम अब्सॉर्बेंट होता है और पसीने, बैक्टीरिया को पिलोकेस में जमने से रोकता है। यह त्वचा और सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

सैटिन पिलोकेस

कई लोगों को नहीं पता होता कि कई सारे और असंख्य धागों को बुनकर यह फैब्रिक बनाया जाता है। यह कई अलग-अलग फाइबर्स से मिलकर बनाया जा सकता है, जैसे नायलॉन, रेऑन, पॉलिस्टर, वूल, सिल्क आदि। यह सिल्क और कॉटन से ज्यादा फ्लेक्सिबल होता है। यह बालों के साथ ही मूव करता है, जो पिलोकेस और हेयर फाइबर के बीच घर्षण को कम करते है। यह भी ब्रीदेबल और कम अब्सॉर्बेंट होता है।

इसे भी पढ़ें : बालों व स्किन का रखना है ख्याल, तो रात को इस्तेमाल करें सिल्क पिलोकवर

दोनों के बीच का अंतर क्या है?

difference between satin and silk pillowcase

दोनों ही फैब्रिक्स ब्यूटी बेनिफिट्स देते हैं। लेकिन इनके बीच का एक बड़ा अंतर इनकी कीमत है। सिल्क नेचुरल फाइबर होता है, जो लग्जरी है और यह काफी महंगा होता है। सैटिन पिलोकेस कई सारे फाइबर्स से बनाए जाते हैं, इसलिए ये सिल्क से थोड़ा कम महंगा होता है। वहीं सैटिन का पिलोकेस एक्सेसिबल होता है और उसे घर में धोना भी आसान है। हालांकि अगर आप सिल्क चुनते हैं, तो उसकी क्वालिटी को अच्छे से चेक करें।

इसे भी पढ़ें :Expert Tips: बालों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए सोते समय बालों का ऐसे रखें ख्याल

Recommended Video

कैसे करें सफाई?

कॉटन के मुकाबले, इनमें बैक्टीरिया और गंदगी धीरे-धीरे जमा होती है, लेकिन फिर भी इन्हें नियमित रूप से साफ करना जरूरी है। इनमें से जो भी पिलोकेस खरीदें, उनके लेबल पर इंस्ट्रक्शन जरूर देख लें। कुछ को सिर्फ ड्राई-क्लीन ही किया जा सकता है और किसी को हाथ से धोया जा सकता है, वहीं कुछ वॉशिंग मशीन में भी धोए जा सकते हैं। चीजों को आसान बनाने के लिए वो पिलोकेस चुनें, जिसे घर में धोना आसान हो। साथ ही ध्यान रखें कि इन्हें जिपर वाले कपड़ों के साथ नहीं धोना चाहिए, वरना आपका फैब्रिक जिपर में खिंचकर खराब हो सकता है।

हमें उम्मीद है यह टिप्स आपके काम आएंगे और आप अपनी जरूरी और कन्वीनियंस के हिसाब से पिलोकेस चुन सकेंगी। अगर यह आर्टिकल पसंद आया तो इसे लाइक और शेयर करें। ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

Image Credit: freepik, shopify & byrdie