हममे से कई लोगों को अंडरआर्म्स के काले होने की समस्या होती है। कई लोग तो स्लीवलेस कपड़े सिर्फ इसलिए नहीं पहन पाते क्योंकि उन्हें अपने अंडरआर्म्स को लेकर चिंता सताती है। हाथ उठाने से डरना, अंडरआर्म्स की चिंता करना और अपने डार्क अंडरआर्म्स के लिए ट्रीटमेंट ढूंढने जैसी समस्याएं अगर आपके साथ भी होती हैं तो हम आपको कुछ बेसिक टिप्स बताते हैं। 

एस्थेटिक फिजिशियन, डर्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर सरू सिंह ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अंडरआर्म्स से जुड़े कुछ हैक्स बताए हैं। उन्होंने टिप्स के साथ-साथ ये बात भी कही है कि इनका असर हर इंसान पर अलग तरह से हो सकता है और ऐसे में सभी को अपने हिसाब से ही ट्रीटमेंट्स करने चाहिए। कई बार घर पर इन ट्रीटमेंट्स का कोई असर नहीं होता है और ऐसे में क्लीनिकल ट्रीटमेंट्स (डर्मेटोलॉजिस्ट) द्वारा बताए गए। 

AHA लोशन का प्रयोग करें-

Alpha Hydroxy Acid या AHA लोशन का इस्तेमाल आजकल बहुत किया जा रहा है। अमेरिकल अकादमी ऑफ डर्मेटोलॉजी ने भी इसे स्किन केयर के लिए एक अच्छा ऑप्शन बताया है जो नए स्किन सेल्स की ग्रोथ में मदद करता है और स्किन केयर के लिए अच्छा है। 

डॉक्टर सरू सिंह ने भी अपनी पोस्ट में यही बताया है कि AHA लोशन रोज़ाना इस्तेमाल करने से डार्क अंडरआर्म्स कम हो सकते हैं। 

वैसे मार्केट में कई तरह के लोशन्स उपलब्ध हैं और आपको ये अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही लगाने चाहिए। 

dark armpit problems

इसे जरूर पढ़ें- आंखों के नीचे होने वाली झुर्रियों को ऐसे रोकें

रेटिनॉइड्स का इस्तेमाल-

रेटिनॉइड्स इन दिनों लगभग सभी तरह के स्किन केयर प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल किया जा रहा है और इसे बहुत ही पसंद किया जाता है। ऑयली स्किन वालों के लिए तो ये काफी मददगार साबित हो रहा है। 

रेटिनॉइड्स वो कंपाउंड होते हैं जो विटामिन-ए से जुड़े होते हैं और वैसे तो इसके कई प्रकार होते हैं और डर्मेटोलॉजिस्ट्स कई तरह की क्रीम और दवाएं देते हैं, लेकिन अब ओवर द काउंटर रेटिनॉइड्स का प्रयोग भी होने लगा है। इसमें सीरम, आई क्रीम और नाइट मॉइश्चराइजर भी शामिल हैं। 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by DR SARU SINGH (@dr.sarusingh)

 

एक्सफोलिएशन को ना भूलें- 

डॉक्टर सरू सिंह के मुताबिक डार्क अंडरआर्म्स को एक्सफोलिएट करना बहुत जरूरी होता है। जब तक हम अपने स्किन केयर रूटीन में एक्सफोलिएशन को शामिल नहीं करेंगे तब तक डेड स्किन को सही तरह से नहीं निकाला जा सकता है।  

अपने अंडरआर्म्स के पिगमेंटेशन को दूर करने के लिए ये जरूरी है कि आप हफ्ते में कम से कम एक बार एक्सफोलिएशन करते रहें।  

इसे जरूर पढ़ें- चेहरे पर हो रहे हैं दाने या पड़ गए हैं गड्ढे, जानें इसे ठीक करने का आसान तरीका  

Recommended Video

अंडरआर्म्स का पिगमेंटेशन दूर करने में काम आएंगे ये टिप्स- 

आपको अंडरआर्म्स का ट्रीटमेंट तो करना है पर ये भी ध्यान रखना है कि आपको हर तरह का ट्रीटमेंट अपने स्किन केयर रूटीन और स्किन कंडीशन के हिसाब से चुनना है। अंडरआर्म्स का ट्रीटमेंट करते समय ये बातें जरूर ध्यान रखें- 

  • डार्क आर्मपिट्स किसी बीमारी की निशानी भी हो सकती है इसलिए ये जरूरी है कि आप अपने डॉक्टर से एक बार सलाह ले लें। 
  • नॉन-इरिटेटिंग हेयर रिमूवल तकनीक का इस्तेमाल करें। 
  • अल्कोहल बेस्ड डियोड्रेंट का इस्तेमाल ना करें।
  • अगर आपको बहुत ज्यादा पसीना आता है तो स्किन डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें।  

कई लोगों के लिए ये समस्या जेनेटिक भी होती है इसलिए उन्हें केमिकल ट्रीटमेंट्स करवाने पड़ते हैं। किसी भी समस्या का हल जानने से पहले ये जान लेना जरूरी है कि आखिर वो समस्या किस वजह से है। ऐसे में एक बार डॉक्टर से कंसल्ट करना सही होगा। कोई भी क्रीम, लोशन या DIY ट्रीटमेंट करवाने से बेहतर होगा कि आप अपनी स्किन पर पैच टेस्ट कर लें।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।