सर्दियों के मौसम में त्वचा संबंधी कई नई समस्याएं शुरू हो जाती है, खास कर जिनकी त्वचा ड्राई है। कई बार ठंड के मौसम में भी त्वचा पर दाने या फिर मुंहासे होने लगते हैं। अगर आपकी त्वचा पर मुंहासे हैं तो ड्राई हवा की वजह से पिंपल्स में खुजली हो सकती है। यही नहीं ज्यादातर लड़कियां पिंपल्स में इचिंग होने पर खुजली कर देती हैं, जिससे दर्द या फिर अन्य स्थान पर भी पिंपल्स होने लगते हैं। 

इस समस्या से निपटने के लिए जरूरी है कि आप ड्राई इंग्रेडिएंट्स का इस्तेमाल करें। आज इस आर्टिकल में हम बताएंगे कुछ ऐसे ब्यूटी प्रोडक्ट्स के बारे में जिसका इस्तेमाल आप पिंपल्स की वजह से हो रही खुजली से निपटने के लिए इस्तेमाल कर सकती हैं।

  • ऐसा हो फेस क्लींजर

use cleanser

अगर सर्दियों में आपकी त्वचा खिची-खिची नजर आती है तो रेगुलर क्लींजर का उपयोग करने से जलन की समस्या हो सकती है। ऐसे में आप कुछ ऐसे प्रोडक्टों का इस्तेमाल करें, जिससे आपकी त्वचा साफ भी हो जाए और त्वचा जलन की समस्या भी न हो। क्विक रिंस प्रोडक्ट अवशेष नहीं छोड़ते हैं, यह खुजली की समस्या को शांत करने में मदद कर सकते हैं। प्लांट-आधारित कैलमिंग एजेंट त्वचा के लिए परफेक्ट है, ये क्लींजर मुंहासों से लड़ने के लिए उपयोगी साबित हो सकता है और त्वचा को पोषित भी करेगा।

  • मॉइश्चराइजर हो ऐसा

moisturizer

अगर आपकी त्वचा पर अक्सर मुंहासे होते हैं तो सर्दियों में थिक क्रीम का इस्तेमाल न करें। हालांकि आपकी त्वचा को मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ने के लिए नमी की आवश्यकता होती है, लेकिन इससे निपटने के राइट फॉर्मूला को चुनना जरूरी है। एक नॉन-कॉमेडोजेनिक फॉर्मुला चुनें जिसका टेक्चसर लाइट हो। इस तरह की ब्यूटी क्रीम लाइट वेट वाली होती हैं और यह त्वचा के छिद्रों को बंद नहीं करती। 

  • टोनर का करें इस्तेमाल

toner brand

जो लड़कियां मुंहासों से परेशान हैं और वे अक्सर ऑयल जैपिंग वाले टोनर का इस्तेमाल करती हैं, ताकि त्वचा पर मौजूद ऑयल को बैलेंस किया जा सके। लेकिन मॉइस्चराइजिंग टोनर्स में जलन पैदा करने वाले तत्व हो सकते हैं, जिससे अधिक खुजली हो सकती है। इसके लिए कामिंग फार्मूला युक्त प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें जो आपकी त्वचा के नेचुरल ऑयल को छीनने के बजाय आपकी त्वचा को हाइड्रेट करे और अतिरिक्त सीबम के उत्पादन को रेगुलेट करने में मदद कर सके। इन दिनों बोटैनिकल बेस्ट टोनर जिसमें कामिंग फार्मूला मौजूद होता है और यह त्वचा को शांत रखने में मदद करता है बिना किसी नुकसान के।

इसे भी पढ़ें:DIY: बालों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए धनिया का ऐसे करें इस्तेमाल

  • पेट्रोलियम जेली का उपयोग

use petroleum jelly

त्वचा पर मौजूद कोई एक मुंहासा ऐसा होता है, जिसकी वजह से अधिक खुजली होती है तो त्वचा उस जगह की नमी बहुत तेजी से खो देती है। इसके लिए परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। इसके लिए पेट्रोलियम जेली लें और मुंहासे वाले स्थान पर लगा दें। यह बिना किसी नुकसान और त्वचा के छिद्रों को बग़ैर बंद किए त्वचा को शांत रखता है और नमी भी बनाए रखता है। हालांकि सर्दियों के मौसम में ज्यादातर लोग पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इस दौरान स्किन टेक्सचर को समझना जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: घर में गाजर से क्रीम बनाएं, चेहरे के दाग-धब्‍बों और झुर्रियों से छुटकारा पाएं

Recommended Video

  • इस बात का रखें ध्यान

Take note of these things

अक्सर हम सोते वक्त अपनी त्वचा का ख्याल नहीं रखते। सिर के पास रखे हुए कपड़े अगर गंदे या खराब हैं तो यह भी त्वचा पर होने वाले मुँहासों की एक वजह हैं। सोने के लिए हमेशा जर्म फ्री कपड़ों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। इसके अलावा उन्हीं बेडशीट्स, टॉवेल या फिर पिलो कवर जैसी चीजों को सेलेक्ट करें जो आपकी त्वचा के अनुरूप हो। ध्यान रखें कि यह सभी चीजें साफ-सुथरी हो। कोशिश करें कि इस तरह की चीजों को दो दिन बाद बदल दिया जाए।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।