कोरोना महामारी का कहर इतना ज्यादा है कि बाहर निकल कर इससे सुरक्षित रहने का एकमात्र उपाय मास्क लगाना है। मास्क न केवल हमारे दैनिक जीवन में एक आवश्यक घटक हैं, बल्कि अब उन्हें एक फैशन एक्सेसरीज के रूप में भी देखा जाता है। जहां एक तरफ मास्क हमें वायु जनित कणों और कोरोना के संक्रमण से बचाते हैं, वहीं इसके निरंतर उपयोग से त्वचा को कई तरह की हानियां भी होती हैं। 

त्वचा को मास्क से होने वाली समस्याओं में से सबसे ज्यादा बड़ी समस्या है - मुहांसे। त्वचा पर मास्क की वजह से होने वाली एक्ने को मास्क एक्ने या Maskne कहा जाता है। आइए एक्सपर्ट मनीष चौधरी, WOW Skin Science, Co-Founder, Fit & Glow से जानें किस तरह से चेहरे पर होने वाली एक्ने से छुटकारा पाया जा सकता है। 

मास्क एक्ने या Maskne क्या है

mask acne

मास्क एक्ने या Maskane त्वचा की नयी समस्या है जो पिछले एक साल में उभर कर सामने आई है। इसका मुख्य कारण महामारी से बचने के लिए मास्क का इस्तेमाल करना है। मास्क एक्ने, त्वचा के उस भाग में मुख्य रूप से उभरते हैं जो मास्क से ढके रहते हैं। इसमें चेहरे के उन क्षेत्रों में ब्रेकआउट और त्वचा में जलन होने लगती है जो ज्यादा समय के लिए मास्क से ढके रहते हैं। इसमें प्रमुख हैं आपकी नाक के किनारे, गालों का निचला हिस्सा और ठुड्डी। इसका एक मुख्य कारण लगातार मास्क पहनने के कारण त्वचा के बीच घर्षण और फंसी हुई नमी भी है। आमतौर पर मुहांसे एक त्वचा की स्थिति है जो रोम द्वारा उत्पादित अतिरिक्त तेल के कारण होती है। लेकिन जब आप लंबे समय तक मास्क पहने रहती हैं, तब रोम छिद्रों में गंदगी या मृत त्वचा कोशिकाओं में बैक्टीरिया का निर्माण होता है जिससे त्वचा में जलन होती है। यह समस्या इरिटेशन, नमी, बैक्टीरिया और यहां तक कि मौसम की गतिशीलता के कारण भी तेज होती है।

मास्क एक्ने या Maskne के कारण 

mask acne reason

त्वचा का रगड़ना 

आपके चेहरे की त्वचा के खिलाफ मास्क को लगातार रगड़ने से त्वचा की सुरक्षात्मक परत खराब हो सकती है, जिससे यह पसीने, गंदगी और जमी हुई मैल जैसे हमलावरों की चपेट में आ जाती है, जो एक्ने को जन्मे देते हैं। 

नमी 

मास्क पहनकर जब आप सांस छोड़ते हैं, तो आपकी सांस से नमी पैदा होती है जो मास्क की सीमाओं के भीतर फैलती है, और त्वचा में समाहित हो जाती है। नम त्वचा में ब्रेकआउट और एक्ने की संभावना अधिक होती है। 

इसे जरूर पढ़ें: DIY: चेहरे की त्वचा में कसाव लाने के लिए आप भी ट्राई कर सकती हैं ये होममेड फेस पैक

manish chowdhry wow

एलर्जी 

अधिकांश सर्जिकल ग्रेड मास्क और N95 मास्क को कीटाणुरहित करने के लिए रसायनों से बनाया जाता है। ये सभी रसायन मास्क इस्तेमाल के समय त्वचा के साथ प्रतिक्रिया कर सकते हैं जिससे लालिमा, जलन और एक्जिमा हो सकता है।

गन्दा फेस मास्क 

भागदौड़ भरी दिनचर्या में हम अक्सर मास्क बदलना भूल जाते हैं और उसे धोने में लापरवाही करते हैं। आदर्श रूप से यदि आप कपडे का मास्क इस्तेमाल कर रही हैं, तो इसे रोज़ धोना चाहिए और हर बार साफ़ और नए मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसा करने से कीटाणुओं के फैलने के जोखिम को कम किया जा सकता है और साथ ही मास्क एक्ने की संभावना कम हो जाती है। 

इसे जरूर पढ़ें: DIY: लीची से बने इस फेस पैक से आप भी पा सकती हैं ग्लोइंग स्किन, जरूर करें ट्राई

Recommended Video

मास्क एक्ने "Maskne" से कैसे बचें

माइल्ड क्लींजर का उपयोग करें 

cleanser use

एक सौम्य क्लींजर त्वचा से अतिरिक्त तेल निकालने में मदद कर सकता है, साथ ही बैक्टीरिया, जलन और एलर्जी को त्वचा में प्रवेश करने से रोकने में मदद करता है। जब त्वचा पर कठोर क्लीन्ज़र का इस्तेमाल किया जाता है तब ये त्वचा को हानि पहुंचा सकते हैं और त्वचा के बैरियर फंक्शन को ख़राब कर सकते हैं, जिससे त्वचा अधिक संवेदनशील हो जाती है। सौम्य क्लीन्ज़र का उपयोग करने से बैरियर फंक्शन संतुलित हो सकता है। इसके अतिरिक्त, यह त्वचा को डिहाइड्रेटेड नहीं करता है । ऐसा क्लीन्ज़र चुनें जो अल्कोहल और खुशबू से मुक्त हो।

मास्क हटाने के बाद चेहरा धोएं 

wash face

अपने चेहरे को बार-बार धोना हमेशा उचित होता है। खासतौर पर मास्क हटाने के बाद चेहरा अच्छी तरह से धोना (चेहरा धोते समय न करें ये गलतियां) जरूरी है। मास्क लगाने से त्वचा पर गंदगी और तेल मास्क के नीचे फंस सकता है और ब्रेकआउट का कारण बन सकता है। अपने मास्क को हमेशा साफ चेहरे पर लगाएं। एक साफ तौलिये से अपनी त्वचा को थपथपाकर सुखाएं। अपनी त्वचा को रगड़ने से बचें क्योंकि इससे जलन हो सकती है। अपनी त्वचा की देखभाल की दिनचर्या का ठीक से पालन करें।

मास्क पहनने से पहले मॉइस्चराइजर 

apply vream

यदि आपकी त्वचा में मास्क लगाकर जलन होने लगती है, तो आप उस क्षेत्र मॉइस्चराइजर या क्रीम का इस्तेमाल करें। यह आपकी त्वचा की रक्षा करने और खुजली और जलन को दूर करने में मदद करती है। मॉइस्चराइजर त्वचा को हाइड्रेट रखता है और मास्क से घर्षण को रोकने का काम भी करता है। हमेशा ऐसी क्रीम या मॉइस्चराइजर का चुनाव करें जो ऑयल और सुगंध मुक्त हों। 

इसे जरूर पढ़ें: एक्‍ने मार्क्‍स को दूर भगाने में बेहद ही फायदेमंद हैं ये 5 तरह की क्रीम

मेकअप से बचें

avoid makeup

जब आप मास्क से होने वाली एक्ने का इलाज कर रही हों तो मेकअप करना छोड़ दें। फाउंडेशन, कंसीलर और ब्लश जैसे सौंदर्य उत्पाद आपके रोम छिद्रों को बंद कर सकते हैं और उपचार को लम्बा खींच सकते हैं। मास्क ओक्लूसिव बैरियर की तरह काम करते हैं, जिसका मतलब है कि फंसे हुए मेकअप से रोम छिद्र बंद हो सकते हैं और ब्रेकआउट हो सकते हैं। साथ ही, मेकअप के अवशेष आपके मास्क के कपड़े को खराब कर सकते हैं। यदि आप अभी भी मेकअप की तलाश में हैं, तो आंखों का मेकअप कर सकती हैं, क्योंकि मास्क लगाने के बाद आपकी आंखें मुख्य रूप से दिखाई देती हैं।  

मास्क का सही इस्तेमाल

mask properly use 

यदि आप डिस्पोजेबल मास्क का इस्तेमाल करती हैं, तो उसे एक बार इस्तेमाल करने के बाद फेंक दें। कपड़े वाले मास्क को हर इस्तेमाल के बाद धो लें। साथ ही, सर्जिकल मास्क का पुन: उपयोग न करें क्योंकि उन्हें साफ करने का कोई अच्छा तरीका नहीं है। इसके अतिरिक्त, उपयोग करने से पहले अपने मास्क में इस्तेमाल सामग्री की जानकारी प्राप्त करें। 

15 मिनट का मास्क ब्रेक लें

mask break

हर 4 घंटे में 15 मिनट के लिए अपना मास्क हटाने की सलाह दी जाती है। इससे आपकी त्वचा को आराम मिलेगा। आपको अपना फेस मास्क तभी हटाना चाहिए जब आप लोगों के साथ फिजिकल डिस्टेंसिंग में हों। मास्क ब्रेक लेने से पहले अपने हाथ धोना भी जरूरी है, जिससे संक्रमण का खतरा न हो।

सही त्वचा देखभाल दिनचर्या मास्क से संबंधित त्वचा की क्षति और ब्रेकआउट को कम करने में मदद कर सकती है और मास्क से होने वाली एक्ने से भी निजात दिला सकती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के अन्य रोचक लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit: free pik