क्‍या आपकी त्‍वचा पर दाग-धब्‍बों और मुंहासों के निशान हैं?
क्‍या आपकी त्‍वचा उम्र से ज्‍यादा बूढ़ी दिखाई देती हैं?
बहुत उपाय आजमाने के बावजूद कोई फर्क महसूस नहीं हो रहा है?
तो परेशान न हो क्‍योंकि इसका इलाज आप नेचुरल चीज की मदद से आसानी से घर पर ही कर सकती हैं। हालांकि, नेचुरल होने के कारण यह थोड़ा ज्‍यादा समय लेता है, लेकिन बहुत ही असरदार तरीके से समस्‍या को दूर करता है।  

जी हां हम मुल्तानी मिट्टी के बारे में बात कर रहे हैं। मुल्तानी मिट्टी दाग-धब्बों को थोड़ी मात्रा में कम करने में बहुत मददगार हो सकती है। यह न केवल मुंहासों से लड़ती है, बल्कि मुंहासों द्वारा छोड़े गए दाग-धब्बों और निशानों को थोड़ी मात्रा में कम करके आपकी त्वचा को भी साफ करती है। मुल्तानी मिट्टी से दाग-धब्बों को कम करने के लिए नीचे दिए गए स्‍टेप्‍स को फॉलो करें।

सामग्री

  • मुल्तानी मिट्टी- 1 बड़ा चम्मच
  • टमाटर का गूदा- 1 बड़ा चम्मच 
  • गुलाब जल- 2 चम्मच

विधि

besan pack for blemishes problem

  • अपने चेहरे को अच्छी तरह से साफ करें और तौलिये की मदद से सुखाएं।
  • ऊपर बताई गई सभी चीजों को एक बाउल में तब तक मिलाएं जब तक इसका स्‍मूथ पेस्‍ट न बन जाए।
  • इस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं। 
  • लेकिन आंखों पर इसे लगाने से बचें।
  • इसे चेहरे पर करीब 20 मिनट तक लगाएं।
  • फिर पानी से धो लें।
  • अच्‍छे रिजल्‍ट पाने के लिए इस नेचुरल उपाय का इस्‍तेमाल हफ्ते में 3 बार करें।

मुल्तानी मिट्टी, टमाटर और गुलाब जल ही क्‍यों?

बेसन 

besan pack for blemishes

त्वचा पर लगाने पर बेसन टैन हटाने वाले एजेंट के रूप में वास्तव में उपयोगी होता है। पिंपल्स से लड़ने में मदद करने के लिए बेसन बेहतरीन है। बेसन में मौजूद जिंक उन संक्रमणों से लड़ता है, जो आपके चेहरे पर मुंहासों का कारण बनते हैं। बेसन ड्राई त्वचा के लिए बहुत अच्छा उपाय है। यह त्वचा में गहराई से प्रवेश करने के साथ ही विषाक्त पदार्थों को निकालता है।

त्वचा के पीएच संतुलन को बनाए रखते हुए त्वचा की विभिन्न समस्याओं के इलाज के लिए बेसन को लंबे समय से भारत में प्राकृतिक फेस क्लींजर के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। यह बहुत अब्सॉर्बेंट भी है और सभी अतिरिक्त तेल को सोख लेता है। बेसन का उपयोग सदियों से त्वचा की रंगत को निखारने के लिए किया जाता रहा है और इसके सुपर क्लींजिंग गुण आपके चेहरे को बेहतरीन बनाते हैं।

Recommended Video

टमाटर

टमाटर में मौजूद एंजाइम डेड स्किन सेल्‍स की ऊपरी परत को हटाकर त्वचा को हल्के से एक्सफोलिएट करते हैं। टमाटर में डीप क्लींजिंग एजेंट होते हैं और यह त्वचा के पीएच लेवल को भी ठीक करता है, इसलिए यह ब्रेकआउट को बहुत अच्छी तरह से रोक सकता है और मुंहासों को कम कर सकता है। 

विटामिन-सी, ई और बीटा कैरोटीन से भरपूर, टमाटर त्वचा की रंगत को निखारने के साथ-साथ त्वचा को शाइनी बनाता है। टमाटर विटामिन-बी कॉम्प्लेक्स से भरपूर होता है, जो उम्र बढ़ने के शुरुआती संकेतों का मुकाबला करता है। टमाटर एक प्राकृतिक एस्ट्रिजेंट के रूप में काम करता है जो पोर्स को सिकोड़ने में मदद करता है और ब्रेकआउट को कम करता है। 

टमाटर एंटी-इंफ्लेमेटरी यौगिकों से भरपूर होता है जो त्‍वचा में होने वाली जलन को शांत करता है। इसमें रंगत को निखारने, सफाई करने और कम करने के गुण होते हैं।

गुलाब जल

rose water beauty

गुलाब जल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण त्‍वचा की जलन को शांत करने में मदद करता है। यह आपके रंग में सुधार करता है और त्वचा की लालिमा को कम करता है। साथ ही इसमें मौजूद एंटीबैक्‍टीरियल गुण मुंहासे को कम करने में मदद करते हैं।  

गुलाब जल में शक्तिशाली एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जो संक्रमण को रोकते हैं और उसका इलाज करते हैं। शुद्ध गुलाब जल कोमल प्रकृति का होता है और त्वचा के पीएच संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है। इसमें एस्ट्रिजेंट गुण भी होते हैं जो तेल के छिद्रों को साफ करने में मदद करते हैं और त्वचा को और अधिक टोनिंग करते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: रात को ये 6 नियम अपनाएंगी तो अगली सुबह ही त्‍वचा में बदलाव पाएंगी

गुलाब जल का नियमित इस्‍तेमाल त्वचा को अतिरिक्त तेल से मुक्त रखता है और ब्लैकहेड्स, व्हाइटहेड्स, मुंहासे और फुंसी जैसी समस्याओं को रोकने में मदद करता है। गुलाब जल को टोनर के रूप में उपयोग करना केमिकल आधारित टोनर के उपयोग से बेहतर है जो त्वचा को ड्राई कर सकता है।

आप भी इस पैक का इस्‍तेमाल करके त्‍वचा के दाग-धब्‍बों को कम करके ग्‍लोइंग बना सकती हैं। हालांकि, यह फेस पैक पूरी तरह से नेचुरल चीजों से बना है और इसके कोई साइड इफेक्‍ट्स नहीं हैं। लेकिन फिर भी इसे इस्‍तेमाल करने से पहले एक बार पैच टेस्‍ट जरूर कर लें। ब्‍यूटी से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image Credit: Freepik.com