मानसून में कई लोगों के बाल रेग्युलर से ज्यादा झड़ते हैं। इसका एक अहम कारण ये है कि मानसून में ह्यूमिडिटी बालों को खराब कर देती है, इससे जड़ें कमजोर होती हैं, बाल फ्रिज़ी होते हैं और स्कैल्प में इन्फेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में क्यों न इस ह्यूमिडिटी से लड़ने के लिए एक देसी तरीका अपनाया जाए? हम बात कर रहे हैं DIY शैम्पू की जो आपके लिए काफी काम का साबित हो सकता है। ये DIY शैम्पू यकीनन आपके बालों से जुड़ी कई समस्याओं का हल कर सकता है।

जिस शैम्पू की बात हम कर रहे हैं वो नीम और आंवले से मिलकर बनता है। इसे बनाने के लिए आपको रीठा की जरूरत भी होगी। रीठा नेचुरल शैम्पू का काम करता है और इससे बाल साफ होते हैं।

इसे जरूर पढ़ें- Expert Hair Care Tips: महिलाओं में बढ़ रही है हेयर फॉल की समस्या, बचाव के ये 8 टिप्‍स अपनाएं

क्या सामग्री चाहिए -

12-15 नीम की पत्तियां
50 ग्राम रीठा
2 चम्मच आंवला पल्प
टी-ट्री ऑयल की कुछ बूंदें

diy shampoo for monsoon

कैसे बनाएं-

इस होममेड शैम्पू को बनाने के लिए आपको सभी चीज़ों को अच्छे से उबालना है, ये कम से कम 10 मिनट उबलेंगी। इसके बाद सभी चीज़ों को अच्छे से छान लीजिए। जब ये ठंडा हो जाए तो इसमें कुछ बूंदे टी-ट्री एसेंशियल ऑयल की मिलाएं।

कैसे लगाएं-

शैम्पू को ठंडा करने के बाद आप 4-5 दिन तक स्टोर करके रख सकती हैं। हफ्ते में दो बार इसे बालों में लगाएं। जड़ों से लेकर रूट्स तक को अच्छे से कवर करें। जिस हिसाब से आपके बालों की लेंथ है उस हिसाब से ही इस शैम्पू की सामग्री को कम या ज्यादा किया जा सकता है।

Recommended Video



इसे जरूर पढ़ें- लंबे और घने बालों की चाह में कहीं ना करें यह गलतियां

कैसे करता है ये काम?

आंवला में विटामिन सी होता है जो बालों के लिए काफी अच्छा साबित हो सकता है, इसके अलावा रीठा नेचुरल क्लींजर का काम करता है। नीम की पत्तियां स्कैल्प के किसी भी इन्फेक्शन को ठीक करती हैं। टी-ट्री ऑयल स्कैल्प ट्रीटमेंट का काम कर सकता है और इसी के साथ ये शैम्पू को अच्छी खुशबू भी देता है। अगर आपके बालों में फ्रिजिनेस आ रही है तो उसे भी ये शैम्पू कम करेगा।



बेहतर होगा कि इस शैम्पू को बनाने के एक रात पहले आप रीठा भिगा दें। इससे वो नरम हो जाएगा और उबालते समय आपको दिक्कत महसूस नहीं होगी। अगर आप इस शैम्पू को ताज़ा बनाएंगी तो बेहतर होगा। अगर समय की कमी के कारण आप इसे स्टोर करना चाहे तो भी 4-5 दिन से ज्यादा इसे स्टोर न करें। अगर आप हर बार ताज़ा शैम्पू बनाएंगी तो इसके न्यूट्रिएंट्स ज्यादा असर करेंगे। कई लोगों को फरमेंटेड शैम्पू सूट नहीं करता है और इसलिए ऐसे लोगों के लिए शैम्पू को स्टोर करना सही ऑप्शन नहीं होगा। अगर आप कई तरह के कॉस्मेटिक्स इस्तेमाल करके देख चुकी हैं, लेकिन आपको फायदा नहीं हुआ है तो इसे इस्तेमाल करें। अपना एक्पीरियंस आप हमें हरजिंदगी के फेसबुक पेज पर बता सकती हैं।

ऐसी ही अन्य खबरें पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।