मेकअप को लगाने से ज्यादा मुश्किल है इसे लम्बे समय तक लगाए रखना। इसे भी ज्यादा जरूरी बात है सही मेकअप प्रोडक्ट्स का चुनाव करना जिससे मेकअप लुक को और ज्यादा आकर्षक बनाया जा सके। अच्छे मेकअप के लिए यह आवश्यक है कि आप अपनी त्वचा की टोन के अनुरूप प्राइमर का चुनाव करें। कोई भी प्राइमर के उपयोग के बिना मेकअप लगाना शुरू न करें। यह अन्य सौन्दर्य उत्पादों को धारण करने में कुछ महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अपने मेकअप को लंबे समय तक बनाए रखने के लिए और इसे एक अच्छी फिनिशिंग देने के लिए प्राइमर को लागू करना आवश्यक है क्योंकि यह एक आधार उत्पाद के रूप में कार्य करता है। 

जब हम मेकअप प्रोडक्ट्स खरीदते हैं तब कुछ ख़ास बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है। ऐसी ही कुछ साधारण गलतियों के बारे में  Auric Beauty के  Makeup expert बता रहे हैं कि बेस मेकअप खरीदते समय हमें किन गलतियों से बचना चाहिए। जिससे आपके मेकअप लुक में ग्रहण न लगे। 

सही प्राइमर न चुनना

wrong primer selection

आमतौर पर लोग आगे बढ़ते हैं और पहला प्रोडक्ट प्राइमर खरीदते हैं, जिस पर वे नजरें गड़ाए रहते हैं। यह सबसे आम गलतियों में से एक है जो लोग प्राइमर खरीदते समय करते हैं। अपने मेकअप गेम के शीर्ष पर बने रहने के लिए आपको पता होना चाहिए कि बाज़ार में विभिन्न प्रकार के प्राइमर उपलब्ध हैं, जिनमें तेल से लेकर क्रीम तक शामिल हैं। आपकी त्वचा का प्रकार यह तय करेगा कि किस प्रकार का प्राइमर आपके लिए सबसे अच्छा होगा। तैलीय त्वचा वाले किसी व्यक्ति को जेल-आधारित प्राइमर चुनना चाहिए। इसका इस्तेमाल करके आप यह देखकर हैरान रह जाएंगी कि आपका मेकअप कितनी देर तक टिकता है। ड्राई स्किन वालों के लिए क्रीम बेस्ड प्राइमर सबसे अच्छा काम करता है। यह आपके फाउंडेशन को दिखने में काफी स्मूद बना देगा। इसलिए हमेशा प्राइमर खरीदते समय इन बातों को ध्यान में रखें 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: परफेक्ट स्प्रिंग मेकअप लुक के लिए अपनाएं ये टिप्स

त्वचा के प्रकार को ध्यान में न रखना 

right products selection

सौंदर्य उत्पाद खरीदते समय आपकी त्वचा का प्रकार मुख्य कारकों में से एक है। खैर, जब यह सही प्राइमर लेने की बात आती है तो यह अलग नहीं है। प्राइमर खरीदते समय आपकी त्वचा के प्रकार को ध्यान में रखना सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक है। प्राइमर लगाना जो आपकी त्वचा के प्रकार के साथ अच्छी तरह से नहीं चलता है, यह लगभग पूरी तरह से लागू नहीं होता है। दिन के माध्यम से अपने मेकअप को एक निर्दोष फिनिशिंग देने के लिए एक प्राइमर लागू किया जाता है जबकि त्वचा के प्रतिकूल बेस प्रोडक्ट का चुनाव करके त्वचा और मेकअप दोनों को नुक्सान पहुँचाया जा सकता है। 

Recommended Video

टारगेट एरिया को इग्नोर करना 

target area highlight

यह समझना महत्वपूर्ण है कि जहां तक प्राइमर का संबंध है एक ही तरह का बेस मेकअप प्रोडक्ट हर जगह सही तरह से काम नहीं करता है। मेकअप प्रोडक्ट खरीदने से पहले आपकी त्वचा की स्थिति पर विचार करना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि आपकी त्वचा के प्रकार पर विचार करना। कई अलग तरह के प्राइमर बाजार में उप्लब्श होते हैं और त्वचा पर प्रकार और जरूरत के अनुसार ही इनका इस्तेमाल करना चाहिए। 

  • रंग सही करने वाले प्राइमर: वे आपकी त्वचा के रंग को भी साफ़ करते हैं।
  • चमकदार प्राइमर: वे आपके चेहरे की विशेषताओं को बढ़ाते हैं जैसे चीक बोन्स। 
  • एंटी एजिंग प्राइमर: वे फाइन लाइन्स और झुर्रियों को छिपाने में मदद करते हैं।
  • पोर्स को कम करने वाले प्राइमर।

ठीक से परीक्षण न करना

checking product carefully 

बेस मेकअप खरीदते समय प्राइमर का सावधानीपूर्वक परीक्षण करना आवश्यक है। बिना सोचे-समझे खर्च करने से पहले कुछ अतिरिक्त मिनट लें और स्टोर की खराब रोशनी के बजाय सूरज की रोशनी में रंग की अच्छी तरह से जांच करें और जब आप उस पर हों, तो अपने हाथ की हथेली पर कुछ लागू करें और यह जांचने के लिए कि क्या वे अच्छी तरह से जाली हैं, अपनी नींव के साथ मिलाएं।

बेस मेकअप खरीदते समय यह सबसे सामान्य गलतियां हैं जिन्हे आप ध्यान में रखकर सही बेस मेकअप प्रोडक्ट का चुनाव कर सकती हैं। उम्मीद है, यह लेख आपको थोड़ा समझदार बनने और फिर से इन गलतियों को दोहराने से बचाने में मदद करेगा।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit : freepik