अगर आप अपनी स्किन की सही तरह से देखभाल कर रही हैं लेकिन उसके बावजूद भी आपको अपने फेस पर एक्ने नजर आते हैं तो आपका परेशान होना लाजमी है। अमूमन महिलाएं एक्ने से निजात पाने के लिए महंगे व ब्रांडेड स्किन केयर प्रॉडक्ट का इस्तेमाल करती हैं, लेकिन उसके बाद भी उन्हें ब्रेकआउट्स की समस्या होती है। हालांकि इसके पीछे की मुख्य वजह होती है उनके हार्मोन। हार्मोन के उतार-चढ़ाव से उत्पन्न होने वाले एक्ने को हार्मोनल एक्ने कहा जाता है। आमतौर पर हार्मोनल एक्ने टीनेज में अधिक प्रभावित करते हैं, लेकिन महिलाओं को जीवनभर कई तरह के हार्मोनल उतार-चढ़ावों का सामना करना पड़ता है, जिसके कारण उन्हें यह समस्या मासिक धर्म और रजोनिवृत्ति के दौरान भी नजर आती है। 

हार्मोनल एक्ने को मैनेज करना अपेक्षाकृत अधिक कठिन होता है और इसलिए ऐसे में त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श करना सबसे अच्छा उपाय माना जाता है। तो चलिए आज हम आपको हार्मोनल एक्ने और उससे निपटने के तरीकों के बारे में बता रहे हैं-

क्या है हार्मोनल एक्ने?

हार्मोनल एक्ने आमतौर पर 20-40 वर्ष की आयु के बीच की महिलाओं को प्रभावित करते हैं। यह शरीर में हार्मोनल असंतुलन से जुड़ा हुआ है। पीरियड्स के दौरान प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन में उतार-चढ़ाव इस प्रकार के मुंहासों का सबसे आम कारण है। इसके अलावा टेस्टोस्टेरोन के स्तर में वृद्धि भी हार्मोनल एक्ने डेवलप होने का सामान्य कारण हैं। वहीं जो महिलाएं पीसीओडी की समस्या का सामना करती हैं, उन्हें भी हार्मोनल एक्ने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

. hormonal acne

इसे जरूर पढ़ें- मुंहासों के किस जगह होने पर होती है कौन सी हेल्थ प्रॉब्‍लम बताता है एकने मैप 

पहचानिए लक्षण

कई बार आपके लिए सामान्य एक्ने व हार्मोनल एक्ने में अंतर करना मुश्किल होगा। ऐसे में आप कुछ लक्षणों के जरिए हार्मोनल एक्ने की पहचान कर सकती हैं। हार्मोनल एक्ने ज्यादातर आपके चेहरे के निचले हिस्से जैसे ठोड़ी या जॉलाइन के आसपास होते हैं। इसके अलावा यह आमतौर पर मासिक चक्र के समय के आसपास आता है। हार्मोनल मुँहासे आमतौर पर बहुत दर्दनाक होते हैं और बहुत सारी असुविधाएं पैदा करते हैं। इतना ही नहीं, महिला को एक या बहुत सारे एक्ने एक साथ देखने को मिल सकते हैं। वैसे तो हार्मोनल एक्ने ज्यादातर आपके चेहरे के निचले हिस्से पर नजर आते हैं, लेकिन यह आपकी बॉडी के अन्य पार्ट जैसे गर्दन, कंधे और छाती एरिया पर एक्ने या ब्रेकआउट्स के रूप में भी नजर आ सकते हैं। 

Recommended Video

ऐसे करें उपचार

वैसे तो हार्मोनल एक्ने से निपटने का सबसे अच्छा तरीका त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श लेकर उनकी सलाह पर क्रीम्स व दवाई का सेवन करना है। लेकिन अगर आप चाहें तो कुछ प्राकृतिक विकल्पों पर भी विचार कर सकती हैं। यह आपके एक्ने की हीलिंग प्रोसेस को तेज करते हैं और इनका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है। ऐसे ही कुछ उपचार हैं- 

चेहरे को हमेशा साफ रखें और अतिरिक्त तेल से छुटकारा पाने के लिए इसे अक्सर धोएं। एक हार्मोनल असंतुलन वाले लोगों में अक्सर अति सक्रिय तेल ग्रंथियां होती हैं जो अतिरिक्त सीबम और क्लॉग पोर्स का उत्पादन करती हैं। सैलिसिलिक एसिड-आधारित फेस वाश का उपयोग करके इस समस्या से निपटने और मुँहासे को कम करने में मदद मिल सकती है। 

. hormonal acne problems

इसे जरूर पढ़ें- एक्‍ने मार्क्‍स को दूर भगाने में बेहद ही फायदेमंद हैं ये 5 तरह की क्रीम  

टी ट्री ऑयल युक्त प्रॉडक्ट ऑयली व एक्ने प्रोन स्किन की महिलाओं के लिए काफी अच्छे माने जाते हैं। इनमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-सेप्टिक प्रॉपर्टीज मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारने के साथ-साथ हीलिंग प्रक्रिया को तेज करती हैं। 

डाइट भी आपके हार्मोनल एक्ने पर विस्तृत प्रभाव डालती है। इसलिए अपने आहार में रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट को कम करें और फाइबर बढ़ाएं। जितना हो सके डेयरी से बचें, क्योंकि दूध और दूध आधारित उत्पाद शरीर में हार्मोनल असंतुलन और मुँहासे पैदा कर सकते हैं। यदि आप हार्मोनल मुँहासे से निपटना चाहते हैं तो जंक फूड, कैफीन, आर्टिफिशियल शुगर आदि को अपनी डाइट से बाहर ही रखें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।