भारत के अधिकतर हिस्सों में ह्यूमिड मौसम के कारण स्कैल्प में चिपचिपाहट और गीली रूसी होना आम बात है। ये स्किन इन्फेक्शन का कारण बनता है और इसके कारण न सिर्फ हेयर डैमेज होता है बल्कि हेयर ग्रोथ भी बहुत धीमी हो जाती है। इस मौसम में सिर में खुजली आदि की समस्या बहुत होती है, लेकिन फिर इन समस्याओं का निदान भी जरूरी है। अक्सर हम कोई न कोई DIY तकनीक चुनते हैं जो बालों को ठीक कर सके या फिर कोई हेयर क्रीम या शैम्पू बदलने के बारे में सोचते हैं जो बहुत अच्छा साबित हो सके पर इसका असर ज्यादा दिन तक नहीं टिकता है। 

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हमारा हेयर केयर रूटीन काफी हद तक स्कैल्प की समस्याओं पर असर नहीं करता है। हेयर केयर रूटीन को अगर ठीक न रखा जाए तो भले ही हम सलून से कितना भी महंगा ट्रीटमेंट करवा लें, लेकिन ये असर नहीं दिखा पाता है। ऐसे में क्यों न हम अपने हेयर केयर रूटीन को ही ध्यान में रखकर अपना काम करें? 

हम अपने हेयर केयर रूटीन में अगर कुछ बदलाव लाएंगे तो धीरे-धीरे स्टिकी स्कैल्प की समस्या अपने आप ही कम होती जाएगी। तो चलिए आपको बताते हैं कुछ टिप्स जिनका ध्यान आपको हमेशा रखना होगा। 

इसे जरूर पढ़ें- बालों को टूटने से बचाने और हेल्दी बनाए रखने के लिए ये 5 ऑयल्स हैं बेस्ट 

1. फ्रिज़ कंट्रोल और मॉइश्चराइजेशन-

ह्यूमिड मौसम में बालों के मॉइश्चराइजेशन की बात सुनकर शायद आपको थोड़ा अजीब लग रहा हो, लेकिन अगर बाल ज्यादा फ्रिजी रहेंगे तो स्कैल्प भी धीरे-धीरे ज्यादा चिपचिपा होता जाएगा। इसलिए जब मौसम ज्यादा ह्यूमिड होता जाए तो अपने बालों में मॉइश्चराइजेशन की जरूरत को नजरअंदाज़ न करें। 

  • आप हेयर कंडीशनर का लगातार इस्तेमाल करें।
  • ऑयलिंग करें क्योंकि ये भी चिपचिपे स्कैल्प को कम कर सकती है।
  • क्रीमी शैम्पू का इस्तेमाल करें। 
  • शहद को अपने हेयर केयर रूटीन में शामिल करें। 
scalp and stickiness

2. ब्लो ड्रायर और हीटिंग टूल्स से रहें दूर-

अगर आपके स्कैल्प में समस्या महसूस हो रही है और ब्लो ड्रायर का इस्तेमाल आप रेगुलर करती हैं तो इस स्टेप को बिलकुल भी न दोहराएं। ब्लो ड्रायर या हीटिंग टूल्स का इस्तेमाल हमेशा हमारे बालों और स्कैल्प को नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में अगर आपको लगता है कि स्टाइलिंग की बहुत जरूरत है तो हीट प्रोटेक्टेंट स्प्रे का इस्तेमाल जरूर करें। 

  • साथ ही इसे रोज़ाना न करें क्योंकि एक्स्ट्रा हीट से बालों के स्कैल्प को हमेशा नुकसान ही होता है। 
  • बालों को नेचुरली सूखने दें ह्यूमिड मौसम में ब्लो ड्राई करना आपके बालों को ज्यादा फ्रिजी भी बना सकता है। 

3. DIY हेयर मास्क का इस्तेमाल करें-

आप अपने स्कैल्प के इन्फेक्शन को खत्म करने के लिए कुछ खास टिप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे-

  • 1 चम्मच एप्प्ल साइडर विनेगर और 2 चम्मच पानी को मिक्स कर रुई की मदद से स्कैल्प में ठीक से लगाएं। इसे कम से कम 1 घंटा अपने स्कैल्प में रहने दें। 
  • 1 चम्मच नारियल के तेल में 2 चम्मच एलोवेरा जेल मिलाएं और आप चाहें तो इसमें 2-3 बूंद अपनी पसंद का एसेंशियल ऑयल भी मिला सकते हैं। इसे अच्छे से स्कैल्प में लगाएं ताकि इन्फेक्शन दूर हो। 
  • आप बालों में ग्रीन-टी का स्प्रे भी लगा सकते हैं। ग्रीन-टी बनाएं उसके पानी को छानें और स्प्रे बॉटल में भरकर स्टोर कर लें। ध्यान रहे ये ठंडा ही इस्तेमाल करें।  
sticksy scalp and dandruff

4. बार-बार बालों को हाथ लगाना या धोना बंद करें- 

बालों को जरूरत से ज्यादा धोना या बार-बार वॉश करना सही नहीं होता। ये स्कैल्प के नेचुरल सीबम को खराब करता है और सीबम ही फ्रिज कंट्रोल और स्कैल्प इन्फेक्शन को रोकने के लिए बेस्ट साबित हो सकता है। अगर बाल बहुत ज्यादा ग्रीसी हो रहे हैं तो आप 3-4 बार हफ्ते में धो सकते हैं, लेकिन रोज़ाना धोने से बचें। आप चाहें तो ड्राई शैम्पू का भी इस्तेमाल कर सकती हैं।  

scalp issues with comb

इसे जरूर पढ़ें- आखिर क्या है उर्वशी रौतेला का मड बाथ, जानें इसके फायदे और ट्रिक्स 

Recommended Video

5. बालों को सुखाते समय कॉटन और सोते समय सिल्क का इस्तेमाल करें- 

रोएंदार टॉवल से बालों को ज्यादा धोने से स्कैल्प में समस्या होती है उसकी जगह आप पुरानी कॉटन की टी-शर्ट का इस्तेमाल कर उससे बालों को पोंछें।  

इसके साथ ही आप सिल्क के पिलो कवर पर सोएं। आपको खुद ही अहसास होगा कि ये कितना असरदार साबित हो सकता है। ये आपके हेयर फॉल को कम करने में भी सहायक हो सकता है।  

ये सारी चीज़ें अगर आप अपने हेयर केयर रूटीन में शामिल करेंगे तो धीरे-धीरे बालों पर असर होगा और स्कैल्प इन्फेक्शन खत्म होगा। अगर आपको बहुत ज्यादा समस्या है, सिर से बदबू आती है या फिर जरूरत से ज्यादा हेयर फॉल हो रहा है तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।