हाल ही में उर्वशी रौतेला ने अपने इंस्टाग्राम पर एक ऐसी फोटो डाली है जिसे देखकर लोगों के अलग-अलग रिएक्शन्स आ रहे हैं। कुछ लोगों को ये फनी लग रही है तो कुछ उर्वशी की तारीफ कर रहे हैं कि वो इतनी पुरानी, लेकिन असरदार पद्धति का इस्तेमाल कर रही हैं। कई सेलेब्स को देखा जाता है कि वो खुद को रिलैक्स और फिट रखे के नए-नए तरीकों का इस्तेमाल करते रहते हैं। 

हाल ही में उर्वशी ने भी ऐसी ही एक थेरेपी का इस्तेमाल किया है। उर्वशी ने मड बाथ का सहारा लिया है जो रिलैक्सेशन और स्किन ट्रीटमेंट के लिए बहुत असरदार माना जाता है। मैं आपको बता दूं कि आजकल बड़े-बड़े रिजॉर्ट्स मड बाथ थेरेपी को करवाते हैं और इसके लिए बाकायदा एक्सपर्ट्स भी रखे गए हैं। 

उर्वशी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर मड बाथ की फोटो शेयर करते हुए लिखा, 'मेरी पसंदीदा मड बाथ थेरेपी। क्लियोपेट्रा को भी मड बाथ लवर माना जाता था और मेरे जैसे मॉर्डन फैन्स भी हैं इसके। बेलारिक बीच में लाल मड बाथ का मजा ले रही हूं।' आपको बता दें कि बेलारिक आईलैंड्स स्पेन के नजदीक हैं और इन्हें छुट्टियां मनाने का बहुत अच्छा स्थान माना जाता है। 

इसे जरूर पढ़ें- बालों को टूटने से बचाने और हेल्दी बनाए रखने के लिए ये 5 ऑयल्स हैं बेस्ट 

मड बाथ के फायदों को बताते हुए उर्वशी ने लिखा, 'ऐसा माना जाता है कि रोमन देवी वीनस इसे आइने के तौर पर इस्तेमाल करती थी। मिनरल से भरपूर मिट्टी थेराप्यूटिक होती है और स्किन के लिए बहुत अच्छी है। मिट्टी सच में चमत्कार है और इसमें हील करने वाले फायदे होते हैं। ये स्किन को डिटॉक्स करती है और गंदगी बाहर निकाल कर स्किन को सॉफ्ट बनाती है और सर्कुलेशन को अच्छा करती है। इससे दर्द और मसल्स की तकलीफ भी कम होती है।'

उर्वशी रौतेला ने तो मड बाथ की इतनी तारीफ कर दी ऐसे में क्यों न हम मड बाथ के बारे में थोड़ा सा जान लें।

 

क्या होती है ये मड बाथ?

मड बाथ का नाम सुनकर भले ही आपको लग रहा हो कि ये नॉर्मल गार्डन की मिट्टी को शरीर में लपेट लेने वाला प्रोसेस लगे, लेकिन ऐसा नहीं है। मड बाथ के लिए खास थेराप्यूटिक मिट्टी का इस्तेमाल किया जाता है जो स्किन से डेड सेल्स को हटाती है और स्किन कंडीशन्स को बेहतर बनाती है। मड बाथ के लिए नेचुरल हॉट झरने, गंधक के पानी की मिट्टी, वॉलकेनिक लावा आदि का उपयोग किया जाता है। ये मिट्टी माइक्रोन्यूट्रिएंट्स से भरपूर होती है और क्योंकि इसमें सल्फर की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए ये बैक्टीरियल इन्फेक्शन आदि से भी बचाती है। इसमें बहुत सारे नेचुरल एलिमेंट्स होते हैं और इसलिए किसी भी तरह की मिट्टी को इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।  

mud bath in hotels

क्यों मड बाथ को माना जाता है थेराप्यूटिक? 

मड बाथ में कुछ मिनरल्स की भरमार होती है जैसे सल्फर, जिंक, मैंगनीज, ब्रोमीन आदि और इसलिए ये इन समस्याओं से छुटकारा दिला सकती है- 

  • स्किन से इम्पूयिटीज को निकाल सकती है।
  • डेड स्किन सेल्स को हटा सकती है।
  • स्किन एक्सफोलिएशन के लिए बहुत अच्छी है। 
  • ये मसल्स और ज्वाइंट्स को रिलैक्स करती है। 
  • ये एग्जिमा और सोराइसिस जैसी स्किन कंडीशन्स के लिए अच्छी मानी जाती है।
  • ये रयूमेटॉइड अर्थराइटिस के दर्द को भी कम करती है। 
mud bath spa

इसे जरूर पढ़ें- महंगे डियोड्रेंट की तरह तन की दुर्गंध कम करते हैं ये नेचुरल इंग्रीडियंट्स  

क्या हर कोई कर सकता है मड बाथ? 

मड बाथ अधिकतर लोगों के लिए बिना साइड इफेक्ट्स के करवाने वाली थेरेपी होती है, लेकिन अगर किसी को कोई स्पेसिफिक स्किन प्रॉबलम है या फिर हेल्थ को लेकर कोई समस्या है, किसी मिनरल से एलर्जी है तो उनके लिए ये नहीं होती है। एक और बात आपको ध्यान रखनी चाहिए कि मड बाथ कुछ खास तरह की मिट्टी से की जाती है और आपको गार्डन सॉइल को अपने ऊपर लगाना नहीं चाहिए। ये स्किन हेल्थ बढ़ा सकती है, लेकिन ऐसा तभी होगा जब आप सही तरह की मिट्टी का इस्तेमाल करें।  

मड बाथ ऐसे लोगों को नहीं करनी चाहिए- 

  • जो प्रेग्नेंट हों
  • जहां मिट्टी को बहुत सारे लोगों ने इस्तेमाल कर लिया हो
  • जिन्होंने बहुत ज्यादा अल्कोहल पी रखा हो
  • जिन्हें स्किन में कट आदि हो या फिर कोई बहुत गंभीर स्किन कंडीशन हो
  • जो कुछ खास तरह की बीमारियों का इलाज करवा रहे हों
  • जिन्हें हाई ब्लड प्रेशर हो 

मड बाथ को किसी स्किन कंडीशन का ट्रीटमेंट नहीं माना जाना चाहिए। ये सिर्फ आपकी कंडीशन को बेहतर बना सकती है। ये स्किन हेल्थ को अच्छा कर सकती है।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।