हमारे चेहरे पर वक्त के साथ और उम्र के ढलते-ढलते झुर्रियां होने लगती हैं। महिलाओं के लिए यह परेशानी का सबसे बड़ा कारण होती हैं। एक उम्र पर आकर आपकी त्वचा को ज्यादा देखभाल की जरूरत होती है और जब वह देखभाल त्वचा को नहीं मिलती तो झुर्रियां चेहरे को डल बना देती हैं। आप जब अपनी त्वचा की खास देखभाल नहीं करती तो त्वचा ढीली होने लगती है और संवेदनशील हो जाती है। ऐसे में चेहरे को बस फेस वॉश से साफ करना ही सब कुछ नहीं होता है।

फिर हमें ऐसा क्या करना चाहिए, जिससे झुर्रियों को कम किया जा सके? यही सवाल जानी-मानी डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. दीपाली भारद्वाज से करने पर उन्होंने बताया, 'हमारी आंखों के पास की त्वचा काफी संवेदनशील और नाजुक होती है। अगर हम उसे खींचते हैं खासतौर से जब वह ड्राई होती है,तो झुर्रियां बढ़ सकती हैं। इसी वजह से आंखों के आसपास की त्वचा को मॉइश्चराइज करना आवश्यक है। आप किसी भी तरह का सीरम, क्रीम और ऑयल अपने बजट, प्रभाव और उम्र के हिसाब से लगा सकते हैं।'

डॉ. भारद्वाज आगे कहती हैं, 'कुछ लोग जो बाहर ज्यादा रहते हैं और सन के एक्सपोजर में ज्यादा रहने की वजह से फोटोएजिंग हो सकती है।' इससे कम करने के उपायों के साथ-साथ डॉ. भारद्वाज बोटोक्स द्वारा झुर्रियां कम करने के बारे में भी बताती हैं। आइए इस बारे में उनसे विस्तार से जानें।

सनस्क्रीन लोशन का करें इस्तेमाल

use sunscreen lotion

डॉ. दीपाली भारद्वाज कहती हैं, 'आप जब भी बाहर जाएं, तो सनस्क्रीन लोशन जरूर लगाएं। अच्छा एसपीएफ वाला सनस्क्रीन लोशन सन एक्सपोजर से आपकी त्वचा को बचाने में मदद करता है।' इसके अलावा रात को सोने से पहले आपको आंखों के पास वाली त्वचा पर ऑयल, क्रीम या सीरम लगाना चाहिए, ताकि आपकी त्वचा हाइड्रेट हो सके और उसे जरूरी पोषण मिल सके।

हाइड्रेट रहें

अच्छी सेहत के लिए पानी पीना जरूरी है। आपके शरीर को लगभग हर काम करने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने, पाचन में सहायता करने और आपके शरीर के तापमान को नियंत्रित करने जैसे महत्वपूर्ण कार्यों के अलावा, पानी आपकी त्वचा को अंदर से स्वस्थ और हाइड्रेटेड रखने में भी मदद कर सकता है।

डाइट का रखें ख्याल

diet to control wrinkles

एंटी-इंफ्लेमेटरी या एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर खाद्य पदार्थ भी त्वचा की इलास्टिसिटी में सुधार कर सकते हैं और स्किन डैमेज और प्रीमेच्योर एजिंग से बचा सकते हैं। इस कारण आपको अपने खानपान का बहुत ध्यान रखना चाहिए और अपने आहार में विटामिन-सी रिच फूड शामिल करें।

expert quote on how to control eye wrinkles

डॉ. दीपाली भारद्वाज बताती हैं,   'उम्र के साथ-साथ फाइन लाइन्स और झुर्रियां चिंता का विषय बन जाती हैं। सन डैमेज, स्मोकिंग और फ्री रेडिकल्स के कारण होती हैं। इन सभी के कारण नेचुरल कोलेजन टूटने लगता है और त्वचा की इलास्टिसिटी कम हो जाती है। महीन रेखाओं और झुर्रियों की उपस्थिति को कम करने के प्रयास में, बहुत से लोग बोटॉक्स (BOTOX) की ओर रुख कर रहे हैं।'

इसे भी पढ़ें : चेहरे की झुर्रियां बढ़ाता है सोने का गलत तरीका, स्‍लीप रिंकल्‍स से ऐसे करें बचाव

क्या है बोटॉक्स?

what is botox

बोटुलिनम टॉक्सिन का कॉस्मेटिक रूप, जिसे बोटॉक्स कहा जाता है, एक लोकप्रिय गैर-सर्जिकल इंजेक्शन है। इससे फ्राउन लाइन्स, माथे की झुर्रियों, आंखों के पास क्रो फीट और गर्दन में मौजूद थिक बैंड को कम या समाप्त किया जा सकता है। यह ट्रीटमेंट मसल को रिलैक्स करता है और इससे आंखों के आसपास या चेहरे पर झुर्रियां नजर नहीं आती हैं।

कितने समय तक रहता है बोटॉक्स ट्रीटमेंट?

बोटोक्स से आपकी झुर्रियां कम हो सकती हैं, लेकिन इसका परिणाम 3-4 महीने तक ही रहता है। यह परमानेंट इलाज नहीं है। एक बार ट्रीटमेंट लेने के बाद जब आपकी मसल वापस एक्शन में आती हैं, तो झुर्रियां और रेखाएं बनना शुरू हो जाती हैं और आपको फिर से ट्रीटमेंट लेने की आवश्यकता होती है।

इसे भी पढ़ें : Expert Tips: माथे पर दिखने लगी हैं झुर्रियों तो छुटकारा पाने के लिए ये 6 टिप्‍स अपनाएं

बोटॉक्स के साइड इफेक्ट्स?

side effects of botox

इस ट्रीटमेंट को लेने के बाद अपने चेहरे के जिस हिस्से पर इंजेक्शन लिया है वहां थोड़ी लालिमा हो सकती है, लेकिन वह कुछ दिनों में चली जाती है। वहीं माथे पर इंजेक्शन लेने वाले लोगों को कभी-कभी सिरदर्द और नॉजिया हो सकता है। जिस हिस्से पर इंजेक्शन लगा हो वहां आसपास कभी-कभी सूजन दिख सकती है। अगर सूजन ज्यादा रहे तो हल्के हाथों से मसाज काफी राहत दे सकती है। डॉ. भारद्वाज कहती हैं, 'बोटॉक्स के अब तक कोई एलर्जिक रिएक्शन नहीं देखे गए हैं। हालांकि अगर महिला प्रेग्नेंट है या ब्रेस्टफीडिंग करती हैं और न्यूरोलॉजिकल बीमारी है, तो उन्हें यह ट्रीटमेंट नहीं लेना चाहिए।'

Recommended Video


उम्र के साथ झुर्रियां होना बहुत आम है। लेकिन वक्त से पहले बुढ़ापे के साइन चेहरे पर नजर न आए इसके लिए आप अपनी त्वचा का ख्याल रखिए। उसे हाइड्रेट रखें और धूप में निकलने से पहले सनस्क्रीन लोशन जरूर लगाएं। इसके साथ ही यह ध्यान रखें कि झुर्रियों को आप पूरी तरह से खत्म नहीं कर सकती हैं, इसलिए फिजूल के दावों वाली क्रीम और ट्रीटमेंट से दूर रहें। साथ ही, हम कोई भी ट्रीटमेंट बिना डॉक्टर के परामर्श के लेने की सलाह नहीं देते। अगर आप किसी भी समस्या से गुजर रही हैं, तो अपने स्किन केयर स्पेशलिस्ट या डर्मेटोलॉजिस्ट से संपर्क करें।

हमें उम्मीद है यह लेख आपको पसंद आया होगा। इसे लाइक और शेयर करें और स्किनकेयर संबंधी आर्टिकल्स पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: skincareclinicbydrdeepali & freepik