मेनोपॉज के दौरान और मेनोपॉज के बाद महिलाओं में कई तरह के शारीरिक और मानसिक बदलाव होते हैं। जिनका सीधा असर उनकी त्वचा पर दिखाई पड़ने लगता है। आमतौर पर मेनोपॉज़ 45 से 50  साल की उम्र में होता है । इसके बाद त्वचा की सही देखभाल न करने पर त्वचा से जुड़ी कई समस्याएं पैदा होने लगती हैं और महिलाओं की त्वचा बेजान नज़र आने लगती है।

इसलिए मेनोपॉज के समय और उसके बाद स्किन केयर की ख़ास जरूरत होती है। ये ऐसा समय होता है जब त्वचा में दाग धब्बे और झुर्रियां पड़ने लगती हैं। आइए आपको बताते हैं मेनोपॉज़ के समय त्वचा की देखभाल करने के लिए कौन से टिप्स अपनाने चाहिए। 

अपनी हार्मोनल अवस्था समझें 

menopause skin care ()

जब तक आप अपनी त्वचा के परिवर्तनों को पूरी तरह से समझ नहीं सकती हैं जब तक आप यह नहीं समझती हैं कि आपकी त्वचा में क्या-क्या बदलाव आएँगे । आपकी त्वचा को और उसके प्रकार को जानना आपकी त्वचा के उपचार का पहला कदम है। इसलिए अपनी त्वचा में होने वाले बदलावों पर ध्यान दें और अपने हार्मोन्स में होने वाले बदलावों को समझें। 

टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल 

menopause skin care ()

मेनोपॉज़ के समय कई महिलाओं में एक्ने की समस्या हो जाती है। इससे निजात पाने के लिए टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल करें। वैसे तो आप बाजार में मिलने वाले किसी प्रोडक्ट का इस्तेमाल भी कर सकती हैं लेकिन त्वचा का सौंदर्य बनाए रखने के लिए सबसे बेहतर तरीका टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल करना है। 

ड्राई स्किन के लिए प्रोडक्ट्स 

menopause skin care ()

आमतौर पर मेनोपॉज़ के समय त्वचा ड्राई हो जाती है। ऐसे में किसी अच्छे मॉइस्चराइजिंग प्रोडक्ट का इस्तेमाल एक बेहतर तरीका है। त्वचा की नमी बरकरार रखने के लिए त्वचा में  मॉइस्चराइजिंग लोशन या क्रीम का इस्तेमाल करें। 

Recommended Video

एलो वेरा जेल है सबसे बेहतर 

menopause skin care ()

मेनोपॉज़ के समय झुर्रियों से बचने के लिए एलोवेरा या इसके जेल का इस्तेमाल करना सबसे अच्छा ऑप्शन होता है। एलो वेरा जेल के इस्तेमाल से त्वचा की झुर्रियां कम की जा सकती हैं। आप रोज़ाना रात में चेहरे पर एलोवेरा जेल लगाएं। ये त्वचा के अंदर तक जाकर डेड स्किन हटाता है और स्किन को जवान बनाए रखता है।  

सन प्रोटेक्शन 

menopause skin care ()

मेनोपॉज़ के समय त्वचा बहुत ज्यादा सेंसटिव हो जाती है इसलिए इसे सूरज की हानिकारक किरणों से बचाना बहुत जरूरी है। जहां तक हो सके धूप के संपर्क में कम आएं या फिर किसी अच्छी सनस्क्रीन का इस्तेमाल करके ही धूप में निकलें। 

इसे जरूर पढ़ें: चेहरे की पफीनेस कम करने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

पानी खूब पिएं

menopause skin care ()

मेनोपॉज के समय और उसके बाद महिलाएं ड्राईनेस का अनुभव करती हैं। ऐसे में शरीर को हाइड्रेटेड रखना बहुत जरूरी है। त्वचा की ड्राइनेस का कारण  एस्ट्रोजन हॉर्मोन का कम होना होता है। दिन में 8-12 गिलास पानी पिएँ । इससे मेटाबॉलिज्म मजबूत होगा साथ ही त्वचा की ड्राइनेस कम होगी। 

इसे जरूर पढ़ें: ग्लोइंग स्किन और शाइनी हेयर के लिए फॉलो करें ये ओवरनाइट ब्यूटी हैक्स

इस तरह त्वचा की देखभाल करके आप मेनोपॉज़  के समय अपनी त्वचा की खूबसूरती कायम रख सकती हैं और बढ़ती उम्र को भी मात दे सकती हैं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: free pik