अनचाहे बालों से आपकी त्वचा की खूबसूरती कम हो जाती है। इसीलिए हेयर ग्रोथ होने पर आप वैक्स और दूसरे तरीकों से हेयर रिमूविंग कराती हैं। अक्सर वैक्स कराते थोड़ा सा दर्द होता है और तब आपके मन में खयाल आता है कि क्या वैक्स के अलावा किसी और तरीके से हेयर रिमूविंग करानी चाहिए। अगर आप भी इसी दुविधा में पड़ी हैं तो हम आपको वैक्स कराने से जुड़े कुछ अहम फायदों के बारे में बताएंगे। इस बारे में हमने बात की कॉस्मेटिक स्किन एंड होम्योक्लीनिक की कॉस्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर करुणा मल्होत्रा से और उन्होंने इस बारे में कुछ अहम सुझाव दिए।

अनचाहे बालों को हटाने का सबसे ज्यादा इस्तेमाल में लाया जाने वाला तरीका है वैक्सिंग। शरीर के हर हिस्से में, जहां पर अनचाहे बाल हों, वैक्सिंग के जरिए उन्हें हटाया जा सकता है। वैक्सिंग से अनचाहे बाल पूरी तरह साफ हो जाते हैं और त्वचा मुलायम हो जाती है। चेहरे के बाल हटाने के लिए कटोरी वैक्सिंग की जाती है। वैक्सिंग के बाद बाल लंबे समय तक दोबारा नहीं आते, क्योंकि त्वचा के अंदर जड़ों से बालों को निकाला जाता है।

waxing care inside

दो तरह से होती है वैक्सिंग

यह मोटे तौर पर दो प्रकार से होती है- कोल्ड वैक्सिंग और हॉट वैक्सिंग। कोल्ड वैक्सिंग में वैक्स को सीधा स्किन पर लगा दिया जाता है और पेपर या कपड़े की पट्टी से खींचकर बाल निकाल दिए जाते है। हॉट वैक्सिंग में वैक्स को गर्म करके पिघलाया जाता है और इसके बाद इसे स्किन पर लगाया जाता है और फिर पेपर या कपड़े की पट्टी से बालों को निकाल दिया जाता है। हेयर रिमूविंग का तरीका सस्ता और आसान है, इसमें समय भी कम लगता है। इसके अलावा, वैक्सिंग के कई और फायदे भी हैं-

स्किन टेक्शचर हो जाता है बेहतर 

वैक्सिंग करवाने के बाद त्वचा काफी मुलायम हो जाती है। वैक्सिंग कराने से ड्राई और डेड स्किन निकल जाती है और बाल भी हट जाते है। इससे त्वचा कोमल हो जाती है और उसे छूने पर कोमलता का अहसास होता है। किसी और तरीके से बालों को हटाने पर ऐसा नहीं होता है। मार्केट में कुछ ऐसे वैक्स भी उपलब्ध हैं, जो स्किन को मॉश्चराइज भी करते हैं। अगर आपकी त्वचा ज्यादा रूखी है तो आपके लिए ऐसे ऑप्शन अच्छे रहेंगे वैक्सिंग करवाएं।

 

नहीं होती जलन या खुजली

वैक्सिंग करवाने से त्वचा में किसी प्रकार की जलन या खुजली नहीं होती है। हेयर रिमूविंग क्रीम के इस्तेमाल से कई महिलाओं की स्किन पर दाने पड़ जाते हैं। अगर आपकी त्वचा ज्यादा सेंसटिव है तो साधारण वैक्स का इस्तेमाल करें, इसमें कैमिकल्स कम मात्रा में होते है, जिससे त्वचा सही बनी रहती है। अगर वैक्सिंग के बाद आपको हल्के लाल दाने पड़ते हैं तो इसका मतलब है कि वैक्सिंग सही तरीके से नहीं की गई। ऐसे में यह सुनिश्चित करें कि वैक्स सही तरीके से की गई हो।

waxing care inside

वैक्स से चोट लगने या कटने का खतरा नहीं

शेविंग में अक्सर कट जाने से घाव होने का खतरा रहता है और और त्वचा भी खुरदुरी हो जाती है, लेकिन वैक्सिंग कराने पर इस तरह का डर नहीं रहता। इसीलिए वैक्सिंग अन्य विकल्पों की तुलना में ज्यादा सुरक्षित मानी जाती है। अगर आप घर बैठे सस्ते दामों पर ब्रांडेड वैक्स पाना चाहती हैं तो यहां से पा सकती हैं। BODYCARE Chocolate Hot Wax-600g, जिसकी एमआरपी 350 ₹ है, आप 260 ₹ में पा सकती हैं

पूरी तरह से साफ हो जाती है स्किन

वैक्सिंग करवाने से हाथ या पैरों के छोटे से छोटे बाल भी आसानी से निकल जाते है और स्किन पूरी तरह से क्लीन हो जाती है। लेकिन अगर आप क्रीम या रेजर से हेयर रिमूव कर रही हैं तो स्किन पर कहीं न कहीं बाल रह जाएंगे और 4-6 दिन में ही त्वचा रूखी हो जाती है। 

कम होती है हेयर ग्रोथ

  • अगर आप लगातार वैक्स करवाती रहें तो धीरे-धीरे बाल आना काफी कम हो जाता है। एक समय के बाद वैक्स करवाने के 4-6 हफ्तों तक हाथों पर बाल नहीं उगते हैं।
  • वैक्सिंग के बाद स्किन केयर जरूरी
  • वैक्सिंग होने के बाद नियमित रूप से हाथ और पैरों की नमी बनाए रखने के लिए इन पर मॉस्चराइजर लगाना चाहिए। एंटीसेप्टिक गुणों वाली क्रीम लगाना बेहतर रहता है। 
  • एलोवेरा, टी ट्री ऑयल जैसे प्राकृतिक मॉइस्चराइजिंग तत्वों से आप त्वचा को कोमल बनाने के साथ-साथ किसी भी तरह की जलन से छुटकारा पा सकती हैं। 
  • कभी-कभी ड्राइनेस की वजह से बाल बढ़ सकते हैं। इसीलिए स्किन को मॉस्चराइजर की नमी दें।
  • वैक्सिंग के बाद डेड स्किन को हटाने के लिए हफ्ते में कम से कम दो से तीन बार अपनी त्वचा को स्क्रब से साफ करें। लेकिन ध्यान दें कि स्क्रब बहुत कठोर नहीं हो वरना आपकी कोमल त्वचा को नुकसान हो सकता है।