प्राचीन काल से ही शरीर और बालों की देखभाल और सामान्य कल्याण के लिए तेल से मालिश को बहुत महत्वपूर्ण माना गया है। अब यह माना जाता है कि मालिश वास्तव में मन पर भी एक अच्‍छा प्रभाव डालती है। इससे मेटाबॉलिक और केमिकल बदलाव लाने, उपचार और सामान्य रूप से दोनों को बढ़ावा देकर शरीर को काफी फायदा पहुंचता है। हमें त्वचा और बालों के लिए तेल से मालिश करने के लाभों का एहसास होता है, विशेष रूप से सर्दियों में, क्योंकि यह शरीर को एमोलिएंट्स और पोषण के साथ आपूर्ति करने का एक तरीका है जिसकी हमारेे शरीर को आवश्यकता होती है।

तिल का तेल

seasome oils inside

आयुर्वेद में तिल का तेल मालिश के लिए बहुत अच्‍छा माना जाता है। हालांकि, आयुर्वेदिक प्रणाली भी मौसम के अनुसार तेल के चयन की वकालत करती है। गर्मियों के दौरान ऑलिव, नारियल और सूरजमुखी के तेल को अच्छा माना जाता है, जबकि बादाम और सरसों का तेल सर्दियों के लिए अच्छा होता है। तिल के बीज का तेल सभी मौसमों में अच्छा माना जाता है। तिल के बीज का तेल हल्का, गंध से मुक्त और त्वचा द्वारा आसानी से अवशोषित होता है। यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है और इसमें हीलिंग गुण भी होते हैं। शोध से पता चला है कि तिल के बीज में वास्तव में एसपीएफ 6 नेचुरल सनस्क्रीन गुण होते हैं। त्वचा पर इसेे लगाने पर यह सनबर्न को शांत करतेे है। तिल का तेल विटामिन ई, मिनरल्‍स, प्रोटीन और लेसिथिन में भी भरपूर होता है।

इसे जरूर पढ़ें: आंखों की सूजन और स्किन टेक्सचर को ठीक करने के लिए ऐसे इस्तेमाल करें Ice Cubes

ऑलिव ऑयल

olive oils inside

शुद्ध जैतून का तेल शरीर की मालिश के लिए फेमस है, मुख्य रूप से त्वचा को सॉफ्ट करने और पोषण प्रदान करने के लिए। जैतून के तेल में कई विटामिन्‍स और मिनरल्‍स होते हैं। यह एक एंटीऑक्सीडेंट भी है। ऐसा एंटीऑक्सीडेंट जो सूर्य और केमिकल्‍स प्रदूषकों के संपर्क के कारण ऑक्सीकरण या फ्री रेडिकल्‍स डैमेज को रोकने में मदद करता है। तिल के बीज और सूरजमुखी के तेल की तरह, जैतून का तेल सूरज की यूवी किरणों से सुरक्षा प्रदान करता है। यह क्रिया इतनी कोमल है कि शुद्ध जैतून के तेल का उपयोग बच्चे की कोमल त्वचा की मालिश करने के लिए किया जा सकता है। कई बार शिशु के स्‍कैल्‍प पर ऐसी स्थिति भी विकसित हो जाती है, जिसे "क्रेडल कैप" कहा जाता है। इस समस्‍या से भी शुद्ध जैतून का तेल बचा सकता है। इसके लिए कॉटन पैड की मदद से बच्‍चे के स्‍कैल्‍प पर तेल लगाएं। अगले दिन बच्चे के सिर को ऐसे बेबी शैम्पू से धोएं जो आंखों में चुभता न हो।

नारियल तेल

beauty coconut oil inside

भारत में शुद्ध नारियल तेल का सबसे अधिक उपयोग किया जाता है। यह बालों की बनावट में सुधार करने में मदद करता है और ग्रोथ को बढ़ावा देता है। तेल को कई अन्य सामग्रियों के साथ मिलाकर बालों पर लगाया जा सकता है।

बादाम का तेल

बादाम का तेल भी मालिश के लिए बहुत अच्‍छा तेल होता है और विशेष रूप से बहुत ड्राई स्किन के लिए फायदेमंद होता है। यह सूदिंग, हीलिंग, लुब्रिकेंट, सॉफ्टनिंग, पुनर्जीवित और पौष्टिक होता है। बेहद ड्राई बालों के लिए बादाम का तेल बहुत पौष्टिक होता है। नाखूनों के लिए, बादाम के तेल को गर्म करें और नाखूनों और क्यूटिकल्स (नाखूनों के आसपास की त्वचा) की मालिश करें। इससे कोहनी और घुटनों की कठोर त्वचा पर भी मालिश की जा सकती है। आंखों के आसपास के हिस्‍से के लिए, आंखों के चारों ओर शुद्ध बादाम का तेल लगाएं और प्रत्येक आंख के नीचे एक मिनट के लिए हल्के से मालिश करें। 15 मिनट के लिए छोड़ दें और नम कॉटन की मदद से धीरे से साफ कर दें।

 

जोजोबा ऑयल

jojoba oils inside

सर्दियों के दौरान डैंड्रफ एक बहुत ही आम समस्‍या है लेकिन परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि इसके लिए जोजोबा ऑयल का उपयोग किया जा सकता है। यह ड्राई स्‍कैल्‍प को भी लाभ पहुंचाता है। तेल को हल्की मालिश के साथ लगाएं और एक घंटे बाद बालों को धो लें।

इसे जरूर पढ़ें:जानें घुंघराले बालों की देखभाल करने के आसान टिप्‍स

(फेमस ब्यूटी और हेयर केयर एक्सपर्ट्स शहनाज हुसैन 'शहनाज हुसैन ग्रुप' की चेयरपर्सन, फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। शहनाज हुसैन के कई हर्बल प्रोडक्‍ट्स आपको बाजार में आसानी से मिल जाएंगे। ब्‍यूटी के क्षेत्र में आर्यूवेद को बढ़ावा देने के लिए उन्‍हें कई अवॉर्ड्स से नवाजा भी जा चुका है।)  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह और भी शहनाज हुसैन की ब्‍यूटी टिप्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।