अक्सर हम ब्लीच करने के लिए कौस्मेटिक्स ब्लीच का इस्तेमाल करते हैं लेकिन क्या आप जानती हैं कि जरूरत से ज्यादा ब्लीच करना सेंसिटिव स्किन के लिए हानिकारक हो सकता है। अगर आप अक्सर ब्लीच का इस्तेमाल करते हैं तो इससे आपकी स्किन को काफी नुकसान पहुंच सकता है। खास कर सेंसिटिव स्किन पर ब्लीच का प्रभाव अच्छा नहीं पड़ता है।

सभी लड़कियां अपने फेस की डलनेस और टैनिंग को दूर करने के लिए ब्लीच का इस्तेमाल करती हैं। ब्लीचिंग करने से फेस  के काले बाल और दाग धब्बे आसानी से छुप जाते हैं। इसके अलावा ब्लीचिंग करने से स्किन में नेचुरल निखार आता है। जिन लोगों की स्किन सेंसटिव होती है। उन्हें ब्लीच करने से बहुत सारे साइड इफेक्ट हो सकते हैं। अगर आप ब्लीच जैसा निखार पाना चाहती है तो उसके लिए नेचुरल तरीकों का इस्तेमाल कर सकती हैं। जिससे आपकी स्किन को कोई साइड इफेक्ट नहीं होगा। ऐसे में  सेंसेटिव स्किन वालों को ब्लीच का इस्तेमाल अपनी स्किन पर बहुत कम करना चाहिए। सेंसेटिव स्किन पर ब्लीच के क्या दुष्प्रभाव है और उसके क्या नेचुरल उपाय हैं, इस बारें में बता रही है मेकअप एक्सपर्ट रेनू महेश्वरी।

ब्लीच के फेस पर दुष्प्रभाव

bleach natural inside

तेज जलन होना 

ब्लीच का ज्यादा इस्तेमाल आप के फेस  के बालों को गोल्डन कलर तो जरूर देगा लेकिन  ब्लीच क्रीम में मौजूद केमिकल के कारण फेस पर जलन होने लगती है होती है, जिससे की स्किन लाल पड़ जाती है और जलन होने लगती है. अगर आपकी स्किन संवेदनशील होती है तो ऐसे में फेस पर जलन और भी तेजी से होगी। आखें लाल होना और  आखों से पानी गिरेगा।ब्लीच का फेस पर ज्यादा  इस्तेमाल करने से इसका असर आपकी आंखों पर भी बुरा होता  है क्योंकि इसम मौजूद केमिकल की गंध बहुत तेज़ होती है। जिसकी वजह से आंखों से पानी गिरना और आंखें लाल होने जैसी प्रॉब्लम हो जाती है ।

रंगत पर होता है बुरा असर

bleach curd inside  

अगर आप बार-बार ब्लीच करते हैं तो इससे आपकी स्किन पर बुरा प्रभाव पड़ता है और स्किन की प्राकृतिक रंगत पर असर होता है। इसमें मौजूद केमिकल बालों को हमेशा के लिए सफेद कर देता है। यही नहीं इसका अधिक इस्तेमाल करने से स्किन का रंग धीरे-धीरे सफेद पड़ जाता है। जिससे फेस की प्राकृतिक रंगत खराब हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: ये 5 नेचुरल टिप्‍स आजमाएंगी तो ब्यूटी पार्लर जाना भूल जाएंगी

रिएक्शन का डर

ब्लीच हमेशा अच्छी कंपनी या ब्रांड की ही इस्तेमाल करनी चाहिए। ब्लीच को जल्दी-जल्दी करना मतलब फेस के स्किन  में प्रॉब्लम होना है। ब्लीच करने से पहले यह देख लेना चाहिए कि इसमें कौन-कौन से तत्व मौजूद है। इसके ज्यादा  इस्तेमाल के कारण इसमें मौजूद केमिकल से फेस पर रिएक्शन हो जाते हैं। जिससे स्किन पर रैशेज और खुजली हो जाती है। ऐसे में ब्लीच की बजाय स्किन पर घरेलू उपायों का इस्तेमाल करें।

इसे भी पढ़ें: आपके चेहरे की रंगत निखर जाएगी, एक बार नींबू आजमाकर तो देखिए

सेंसिटिव स्किन पर ब्लीच के साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए अपनाएं 5 नेचुरल उपाय

bleach dal inside

1 मसूर की दाल के पेस्ट में नींबू का रस मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं. ऐसा करने से आपकी त्वचा में नेचुरल निखार आएगा।

2 स्किन को ब्लीच करने के लिए अपने चेहरे पर टमाटर के रस को  लगा कर हल्के हाथों से मसाज करें. बाद में अपने चेहरे को ठंडे पानी से धोएं।

bleach tam inside

3 अपनी स्किन को ब्लीच के साइड इफेक्ट्स से बचाने के लिए पपीते के पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाकर 2 मिनट तक मसाज करें। 20 मिनट बाद अपने चेहरे को साफ पानी से धो कर     हलके हाथों से पोंछ ले। 

4 दही भी एक अच्छे ब्लीच के रूप में काम करता है। दही को अपने चेहरे पर लगाकर 15 मिनट तक मसाज करें। अब इसे थोड़ी देर ऐसे ही छोड़ दे। बाद में अपने चेहरे को साफ पानी से धोएं।

5 संतरे के रस में हल्दी मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं। जब यह सूख जाए तो इसे साफ पानी से धो लें।